पीएम मोदी ने गुजरात को दिए दो और तोहफे, बोले- आत्मविश्वास के साथ फैसले ले रहा भारत

0
36

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने गृह राज्य गुजरात को आज एक शानदार तोहफा दिया. प्रधानमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अहमदाबाद मेट्रो के दूसरे चरण और सूरत मेट्रो प्रोजेक्ट का भूमि पूजन किया. इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कहा कि उत्तरायण की शुरुआत में आज अहमदाबाद और सूरत को बहुत ही अहम उपहार मिल रहा है. कल ही केवडिया के नए रेल मार्ग और नई ट्रेनों की शुरुआत हुई है. अहमदाबाद से भी आधुनिक जन शताब्दी एक्सप्रेस अब केवडिया तक जाएगी.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ”आज अहमदाबाद में 17 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा के इंफ्रास्ट्रक्चर का काम शुरू हो रहा है. ये दिखाता है कि कोरोना के इस काल में भी नए इंफ्रास्ट्रक्चर के निर्माण को लेकर देश के प्रयास लगातार बढ़ रहे हैं. 2014 से पहले के 10-12 वर्ष में सिर्फ 225 किमी मेट्रो लाइन ऑपरेशनल हुई थी. वहीं बीते 6 वर्षों में 450 किमी से ज्यादा मेट्रो नेटवर्क चालू हो चुका है.”

उन्होंने कहा कि अहमदाबाद के बाद सूरत गुजरात का दूसरा बड़ा शहर है जो मेट्रो जैसे आधुनिक पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम से जुड़ेगा. सूरत में मेट्रो नेटवर्क एक प्रकार से पूरे शहर के महत्वपूर्ण व्यापारी केंद्र को आपस में कनेक्ट करेगा.

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज हम शहरों के ट्रांसपोर्ट को एक इंटीग्रेटेड सिस्टम के तौर पर विकसित कर रहे हैं. यानी बस, मेट्रो, रेल सब अपने अपने हिसाब से नहीं दौड़ें, बल्कि एक सामुहिक व्यवस्था के तौर पर काम करें, एक दूसरे के पूरक बनें. उन्होंने कहा कि आज सूरत आबादी के लिहाज से एक तरफ देश का आठवां बड़ा शहर है, लेकिन दुनिया का चौथा सबसे विकसित होता शहर भी है. दुनिया के हर 10 हीरों में से 9 सूरत में तराशे जाते हैं.

ऐसा होगा अहमदाबाद मेट्रो रेल परियोजना
अहमदाबाद मेट्रो रेल परियोजना के दूसरे चरण में दो कॉरीडोर होंगे. दोनों की कुल लंबाई 28.25 किलोमीटर है. पहला कॉरिडोर मोटेरा स्टेडियम से महात्मा मंदिर तक होगा. इस कॉरिडोर की लंबाई लगभग 22.83 किलोमीटर होगी. दूसरा कॉरिडोर जीएनएलयू से गिफ्ट सिटी तक होगा जिसकी लंबाई लगभग 5.41 किलोमीटर होगी.

कैसा है सूरत मेट्रो कॉरिडोर
सूरत मेट्रो रेल परियोजना की कुल लंबाई लगभग 40.35 किलोमीटर होगी. इस परियोजना में भी दो कॉरिडोर होंगे. पहले कॉरिडोर की लंबाई करीब 21.61 किलोमीटर है. इस कॉरिडोर में करीब 6.47 किलोमीटर हिस्सा भूमिगत है और लगभग 15.14 किलोमीटर हिस्सा एलिवेटिड है. दूसरे कॉरिडोर की लंबाई करीब 18.74 किलोमीटर है. यह कॉरिडोर पूरी तरह एलिवेटिड है. पहले कॉरिडोर में 20 स्टेशन हैं जबकि इस कॉरिडोर में 18 मेट्रो स्‍टेशनों हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.