गया: लालू के करीबी पूर्व MLA राजेंद्र यादव की पत्नी कुंती देवी जाएंगी जेल, हत्याकांड में दोषी करार

0
99

राजद के पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन के जेल जाने के बाद अब लालू यादव के काफी करीबी नेता रहे पूर्व बाहुबली विधायक राजेंद्र यादव की पत्नी कुंती देवी बड़ी मुश्किल में हैं. दरअसल गया सिविल कोर्ट ने एक ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए राजद की पूर्व विधायक कुंती देवी को मर्डर केस में दोषी करार दिया है. इनके साथ-साथ जेडीयू नेता के हत्याकांड में 13 अन्य आरोपियों को भी दोषी करार दिया गया है. इस मामले में कोर्ट 23 जनवरी को सजा का एलान करेगा. 

मामला साल 2013 का है, जब राजनितिक षड्यंत्र रचकर जदयू के प्रखंड अध्यक्ष सुमिरक यादव की हत्या कर दी गई. गया व्यवहार न्यायालय के ADJ 3 संग्राम सिंह की अदालत ने सुमिरक यादव हत्याकांड मामले में राजद की पूर्व विधायिका कुंती देवी को दोषी करार दिया है. इस मामले पर अपर लोक अभियोजक मसूद मंजर ने बताया कि गया के नीमचक बथानी थाना क्षेत्र के नीमचक बथानी बाजार में 27 फरवरी 2013 को जदयू के प्रखण्ड अध्यक्ष सुमिरक यादव की हत्या लाठी डंडे और लोहे की रॉड से पीट पीट मार दिया गया था.

इस मामले में नीमचक बथानी थाना में 21/2013 कांड दर्ज की गई थी जिसमे पूर्व विधायिका कुंती देवी और उसके बेटे रंजीत यादव सहित 12 लोगो को अभियुक्त बनाया गया था. वर्तमान में अभी अतरी विधानसभ क्षेत्र से रंजीत यादव राजद से विधायक है. बताया कि अभियोजन पक्ष की ओर से 15-16 लोगो की गवाही पूरी हुई है. सुमिरक यादव हत्याकांड मामले में पूर्व विधायिका कुंती देवी ट्रायल का सामना कर रही थी. आज ADJ3 ने इस हत्याकांड में पूर्व राजद विधायिका कुंती देवी को दोषी करार दिया है. वहीं 23 जनवरी को सजा के बिंदु पर सुनवाई  की जाएगी.

पूर्व विधयिका के पति पूर्व विधायक राजेन्द्र यादव भी बच्ची की हत्या के मामले में साल 2005 से उम्रकैद की सजा काट रहे हैं. आपको बता दें कि पूर्व राजद विधयिका कुंती देवी के पति अतरी विधानसभा क्षेत्र से विधायक रहे राजेन्द्र यादव अभी जेल में बंद हैं.  साल 2005 में अतरी से निर्वाचित घोषित होने के बर्फ राजेन्द्र यादव अपने समर्थकों के साथ विजय जुलूस के साथ अपने गॉव माधोबीघा जा रहे थे. दरियापुर गॉव के समीप विजय जुलूस से हुई फायरिंग में छत पर खड़ी बच्ची मिंटू कुमारी की मौत गोली लगने से हो गई थी. इस मामले में राजेन्द्र यादव पुलिस अभिरक्षा से फरार हो गया था लेकिन बाद में पकड़ा गया जो अभी उम्रकैद की सजा काट रहा है. अतरी विधानसभा क्षेत्र में राजेन्द्र यादव दबंग राजनेता के रूप में रहे हैं.  

5 साल पहले जेल में बंद राजद के पूर्व विधायक राजेन्द्र यादव ने बथानी के जदयू प्रखंड अध्यक्ष वाल्मिकी कुशवाहा को धमकी दी थी. प्रखंड अध्यक्ष ने इस घटना को लेकर एफआईआर दर्ज कराया था. इसकी पुष्टि पुलिस की ओर से की गई थी. जदयू प्रखंड अध्यक्ष कुशवाहा ने बताया था कि मोबाइल नंबर 7857983607 पर 7739213386 नंबर से फोन आय था. तब कुंती देवी के पति ने कहा था कि तुम जेडीयू प्रत्याशी का मदद न कर के मेरी पत्नी कुंती देवी का मदद  करो.

आपको बता दें कि 1995, 2000 और फरवरी 2005 में लगातार तीन बार राजेन्द्र यादव जनता दल एवं राष्ट्रीय जनता दल के टिकट पर विधायक बने थे. नवंबर 2005 में राजेन्द्र यादव की पत्नी कुंति देवी विधायक रहीं तो 2010 में जदयू के कृष्णनंदन यादव ने कुंति देवी को हराकर इस सीट से चुनाव जीत लिया. 2015 के चुनाव में राजद की कुंति देवी लोजपा के अरविंद सिंह को हराकर फिर से विधानसभा पहुंची थी. तब लालू यादव और नीतीश कुमार साथ-साथ चुनावी मैदान में थे.

1990 में लालू प्रसाद यादव की सरकार आने के बाद से इस इलाके में नीमचक बथानी के रहनेवाले राजेन्द्र यादव और उनके परिवार का दबदबा रहा है. राजेन्द्र यादव खुद तीन बार 1995, 2000 और फरवरी 2005 में अतरी से विधानसभा चुनाव जीत चुके हैं. जबकि उनकी पत्नी कुंति देवी नवंबर 2005 और 2015 में दो बार चुनाव जीतकर दस साल तक विधायक बनी. इस बार राजद ने राजेन्द्र यादव और कुंति देवी के बेटे और नीमचक बथानी के पूर्व प्रमुख अजय यादव उर्फ रंजीत यादव को उम्मीदवार बनाया था. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.