महालक्ष्मी को प्रसन्न रखना चाहते हैं तो यह एक काम शाम को न करें

0
122

बुहारी अथवा झाड़ू हर घर में नित्य लगाई जाती है. इससे घर साफ रहता है. इससे घर में स्वच्छता और पवित्रता बढ़ती है. इससे सब प्रसन्न रहते हैं और धन संपदा की वृद्धि होती है. इसी कारण दीपोत्सव में झाड़ू का भी पूजन लोकाचार में प्रचलित है.

झाड़ू सुबह लगाना जितना सकारात्मक है. शाम को उतना ही इसका प्रभाव कमजोर माना गया है. कहा गया है कि शाम को झाड़ू न लगाया जाए. इससे लक्ष्मी जी अप्रसन्न होती हैं. इससे घर में दरिद्रता आती है.

साथ ही झाड़ू को कभी खुले में न रखें. उसे खड़ा करके न रखें. खुले में झाड़ू रखने से घर में लक्ष्मी का ठहराव कठिन होता है. झाड़ू को हमेशा प्रयोग के स्वच्छ और छिपाव वाले स्थान पर ही रखना चाहिए.

खड़ा हुआ झाड़ू रखने से घर में कलह विवाद झगड़े की स्थिति बनती है. यह भी ध्यान रखें कि झाड़ू की सींक या रेशे अत्यधिक फैलाव वाले न हों। उन्हें सही से बांधकर रखें.

प्राचीन मान्यताओं से भी शाम को झाड़ू लगाने नुकसान की बात कही गई है. शाम को अंधेरे में सफाई ठीक से न हो पाने और कोई महत्वपूर्ण वस्तु उजाले के अभाव मे घर से बाहर बुहार दिए जाने की आशंका बनी रहती है. इससे बचने के लिए आवश्यक है अच्छे उजाले में घर को बुहारा जाए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.