गिरती हुई विधि व्यवस्था एवं तीनों काला कृषि कानूनों के वापस लेने के लिए राजद का धरना

0
47

राष्ट्रीय जनता दल के तत्वाधान में बिहार में गिरती हुई विधि व्यवस्था, बढ़ती हुई हत्या, अपहरण, बलात्कार, डकैती एवं केन्द्र सरकार के तीनों काले कानूनों वापस लेने हेतु युवा राजद के प्रदेश सचिव जेम्स यादव के नेतृत्व में एक दिवसीय उपवास सह धरना का आयोजन जगनपुरा रोड बाइपास के बगल में किया गया जिसकी अध्यक्षता संतोष यादव ने किया एवं संचालन राजद नेता एजाज अहमद ने किया।
उपवास स्थल पर धरना को संबोधित करते हुए कहा कि राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने कहा कि देश का किसान विगत 58 दिनों से हाड़ कंपा देने वाली ठंड में धरना पर बैठी हुई और केन्द्र सरकार की कानों में जंू तक नहीं रेंग रही है क्योंकि केन्द्र की सरकार अडानी एवं अंबानी जैसे पंूजीपतियों के इशारे पर काम कर रही है। उन्हें फायदा दिलाने के लिए यह तीनों कृषि काला कानून लाया गया है। यह तीनों काला कानून कोरोना काल में सत्ता एवं रसूख के बल लोकसभा में जबरदस्ती यह विधेयक को पास कराया गया। देश के जनता को इसके खिलाफ सड़क पर आना चाहिए और राष्ट्रीय जनता दल ने तीनों काले कानून को वापस लेने के लिए 30 जनवरी, 2021 को मानव श्रृंखला बनाने का आह्वान किया है जिसे आप तमाम लोग सफल बनाने का काम करें।
वहीं राजद के राष्ट्रीय महासचिव श्याम रजक ने पूरा डाटा के साथ बताया कि आज की कानून व्यवस्था से बेहतर लालू जी और राबड़ी जी का शासन काल था। अभी हत्या में उतर प्रदेश के बाद बिहार का दूसरा स्थान है, अपहरण में तीसरा, रेप में छठा एवं अन्य अपराधिक मामलों में भी बिहार अभी बहुत ही आगे है और नीतीश जी की अंतरात्मा जग नहीं रही है। ये तीसरे स्थान पर आने के बावजूद मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठ गये हैं जिसके कारण यहां के अफसर इनकी बातों को अनसुनी कर रही है।
उपवास को संबोधित करने वाले नेताओं में मा0 विधायक डाॅ0 रामानुज प्रसाद, रेखा पासवान, आजाद गांधी, भाई अरूण कुमार, प्रदेश प्रवक्ता सारिका पासवान, महताब आलम, गुलाम रब्बानी, कृष्णा ठाकुर, प्रमोद कुमार सिन्हा, शेखर यादव, पंकज यादव, प्रभात रंजन, विपुल यादव अन्य प्रमुख थे।
उपवास पर बैठे नेताओं को जेम्स यादव, संतोष यादव, सूयदेव यादव, इकाबल अहमद, अजय कुमार यादव, शिवेन्द्र कुमार तांती, राकेश कुमार यादव को राजद विधायक डाॅ0 रामानुज प्रसाद द्वारा जूस पिलाकर उपवास तुड़वाया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.