पटना में मुंशी की हत्या:मरने से पहले पत्नी को कॉल कर बताया था गोली मारने वालों का नाम

0
151

मरने से ठीक पहले वकील के प्राइवेट मुंशी बालेश्वर पाठक ने अपनी पत्नी को मोबाइल से कॉल किया था। उन्हें गोली किसने मारी, इसकी पहचान उन्होंने कर ली थी और पत्नी को सभी हत्यारों का नाम बता दिया था। इसी के आधार पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर मामले की जांच शुरू की थी। शनिवार को यह खुलासा फुलवारी शरीफ के एएसपी मनीष कुमार ने किया। बालेश्वर पाठक की हत्या सुपारी देकर कराई गई थी। इसके लिए पिछले एक महीने से प्लानिंग चल रही थी। 20 जनवरी की सुबह हुए इस हत्याकांड के पीछे नारायणपुर गांव के ही रहने वाले मुन्ना कुमार का हाथ था। इसने ही वकील के प्राइवेट मुंशी रहे बालेश्वर पाठक की हत्या की पूरी प्लानिंग रची थी। इस कांड की जांच करते हुए पुलिस टीम ने कुल 5 अपराधियों को गिरफ्तार किया है। जिसमें मुन्ना कुमार, अंकित, धीरज, अमरजीत और मनीष शामिल है। इनके पास से उस पिस्टल को भी बरामद किया गया है, जिससे बालेश्वर पाठक को गोली मारी गई थी। इस मामले का पुलिस स्पीडी ट्रायल कराएगी और सभी को जल्द से जल्द सजा दिलाएगी।

एक महीने से चल रही थी प्लानिंग

मुन्ना आईटीआई ट्रेंड है। पहले मुम्बई में जॉब करता था, पर अब गांव में ही मोबाइल का दुकान चलाता है। गांव के ही एक जमीन को लेकर इसका विवाद बालेश्वर पाठक के साथ चल रहा था। धीरे-धीरे यह विवाद पारिवारिक स्तर पर पहुंच गया। आरोप है कि बालेश्वर पाठक मुन्ना की पत्नी और बेटी पर छिंटकाशी करता था। इसी वजह से मुन्ना ने उसे टारगेट पर ले लिया था। करीब एक महीने पहले उसे डेढ़ लाख रुपए में अंकित और धीरज के साथ हत्या की डील तय की। इसके बाद अंकित ने मनीष, धीरज और अमरजीत के साथ मिलकर प्लानिंग को अंजाम दिया।

दो जगहों के CCTV में दिखे थे अपराधी

बालेश्वर पाठक की पत्नी ने अपने बयान में जिन अपराधियों का नाम लिया था, उसी आधार पर पुलिस की जांच आगे बढ़ी। नौबतपुर में अलग-अलग जगहों के दो CCTV कैमरों के फुटेज में अपराधी दिखे भी। एक बाइक पर अंकित और धीरज आगे थे, जबकि दूसरे बाइक परअमरजीत और मनीष थे। इन दोनों के बाइक के बीच में बालेश्वर पाठक अपनी बाइक से जाते हुए दिखे थे। इन अपराधियों को गोली मारने के लिए सुनशान जगह की तलाश थी। वो जगह मिलते ही हत्या कर दी गई। इन सब के साथ मुन्ना मोबाइल पर बना हुआ था। बालेश्वर पाठक के घर से निकलने की सूचना उसने ही अपराधियों को थी। सभी के मोबाइल की जांच में यह बात सामने आ गई है। इन सभी के मोबाइल को जब्त कर लिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.