बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जननायक कर्पूरी ठाकुर जी की 97 वीं जयन्ती
समारोह राष्ट्रीय जनता दल के प्रदेश कार्यालय स्थित जननायक कर्पूरी
सभागार में आयोजित किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्ज्वलित करते
हुए जननायक कर्पूरी ठाकुर के तैलचित्र पर पुष्प अर्पित कर किया गया।
कार्यक्रय की अध्यक्षता बिहार विधान परिषद सदस्य सह राजद अतिपिछड़ा वर्ग
प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष प्रो. रामबली सिंह चंद्रवंशी ने किया।
कार्यक्रम का उद्घाटन राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी द्वारा
किया गया, जिसके मुख्य अतिथि प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह तथा राष्ट्रीय
प्रधान महासचिव अब्दुलबारी सिद्दीकी थे।
समारोह को संबोधित करते हुए शिवानंद तिवारी ने कर्पूरी फॉर्मूला को
याद करते हुए कहा कि संविधान से आरक्षण मिला है और आरक्षण बचाने के लिए
संविधान बचाने की जरूरत है क्योंकि वर्तमान सरकार संविधान को खत्म करने
पर तुली है। उन्होंने कहा कि असंवैधानिक तरीके से किसानों के खिलाफ
केंद्र सरकार द्वारा तीनों काला कानून पारित किए गए हैं जिसके विरुद्ध
हमारे किसान भाई सड़क पर संघर्षरत हैं।
प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने कहा कि हम लोग जननायक कर्पूरी ठाकुर
के व्यक्तित्व एवं कृतित्व को गाँव-गाँव के सभी घरों तक पहुंचाएंगे।
उन्होंने कहा कि जननायक कर्पूरी ठाकुर जी ने जीवनपर्यंत गरीबों, किसानों,
मजदूरों, बेरोजगारों एवं वंचित समाज के बड़ी समूहों के लिए संघर्षरत रहें।
उन्होंने कहा कि अपने मुख्यमंत्रीत्व काल में पिछड़ों, अतिपिछड़ों के विशेष
अवसर को सिद्धांत को संविधान के आधार पर कानून बनाकर अधिकार प्रदान किया।
आज बिहार में जिला तथा प्रखंड स्तर पर कर्पूरी जयन्ती मनाई जा रही है।
दिनांक 24 जनवरी से 29 जनवरी तक किसान जागरण सप्ताह मनाया जायेगा तथा 30
जनवरी को राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी जी की शहादत दिवस पर किसानों के पक्ष
में राजद सहित महागठबंधन द्वारा बिहार के सभी जिलों, प्रखंडों, पंचायतों
एवं गांवों के चैक-चैराहों तक मानव श्रृंखला बनाया जायेगा।
समारोह को राष्ट्रीय प्रधान महासचिव श्री अब्दुलबारी सिद्दिकी, राष्ट्रीय
महासचिव श्याम रजक, पूर्व विधान सभा अध्यक्ष उदय नारायण चैधरी, जननायक
कर्पूरी ठाकुर के छोटे सुपुत्र डॉ वीरेंद्र कुमार ठाकुर, प्रदेश
उपाध्यक्ष श्री वृषिण पटेल, अशोक कुमार सिंह, डा0 तनवीर हसन, डॉ अनिल
साहनी, नंदकिशोर राम, विधायक अनिरुद्ध कुमार, यादव, सुखदेव पासवान, पूर्व
विधान पार्षद डॉ आजाद गाँधी, दीनानाथ यादव, मदन शर्मा, महेन्द्र प्रसाद
विद्यार्थी, चन्द्रदेव बिन्द, मिश्री राम, देवमुनी सिंह यादव, महिला
प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष डॉ उर्मिला ठाकुर, किशोरी महतो आदि ने भी
अपना विचार व्यक्त किया।
इस अवसर पर उपस्थित नेताओं में चन्देष्वर प्रसाद सिंह, निराला यादव,
फैयाज आलम कमाल, देवकिषुन ठाकुर, निर्भय अम्बेदकर, डाॅ0 पे्रम कुमार
गुप्ता, डाॅ0 कुमार राहुल सिंह, अनवर हुसैन, संजय यादव, प्रमोद कुमार
राम, राजेष पाल, बल्ली यादव, सुरेन्द्र प्रसाद यादव, प्रो0 डाॅ0 विनोद
कुमार, भाई अरूण कुमार, विजय कुमार यादव, सेवालाल अम्बेदकर, गुलाम
रब्बानी, संजय कुमार तांती, महेन्द्र प्रसाद विद्यार्थी, प्रो0 सेवा
यादव, अनीता भारती, प्रतीमा सिंह, शोभा पासवान, कलावती देवी, किरण देवी,
गीता कुमारी, डाॅ0 चन्द्रावती देवी, अर्चना कुमारी, राजमती पाण्डेय
शकुन्तला देवी, कुणाल दांगी, डॉ. दिनेश पाल, कुणाल दांगी, विनोद
प्रजापति, रामचन्द्र ठाकुर, षिवेन्द्र कुमार तांती रामनाथ मंडल, लाल
बाहदुर शास्त्री, शिवनारायण मेहता, दिनेश ठाकुर, डाॅ0 आनंद मोहन, ध्रुव
चन्द्रवंशी, विनोद चन्द्रवंशी, सुरेश विश्वकर्मा, विरेन्द्र चन्द्रवंशी,
देवशरण मांझी, संजय राम, महेश चन्द्रवंशी, कामेष्वर सिंह यादव, कृष्णा
यादव, आशीष रंजन चन्द्रवंशी, देवराज पाल आदि प्रमुख थे।
सारण जिला के राजद अतिपिछड़ा प्रकोष्ठ के कार्यकारी अध्यक्ष पद पर ध्रुव
कुमार चंद्रवंशी तथा प्रधान महासचिव के पद पर विवेक कुमार को मनोनीत किया
गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.