‘किसानों की ट्रैक्टर रैली पर ISI और खालिस्तानी संगठनों की नज़र’, खुफिया जानकारी से उड़ी एजेंसियों की नींद

0
51

कृषि कानूनों के खिलाफ दो महीनों से प्रदर्शन कर रहे किसान गणतंत्र दिवस के मौके पर दिल्ली में किसान ट्रैक्टर रैली निकाल रहे हैं, जिसकी सुरक्षा को लेकर चिंताएं उठ रही हैं, लेकिन रैली को बदनाम करने की साजिश को लेकर मिली खुफिया जानकारी से खुफिया एजेंसियों की नींद उड़ी हुई है. पुलिस सूत्रों से जानकारी मिली है कि किसानों की रैली को बदनाम करने के लिए ISI और खालिस्तानी संगठन बड़ी साजिश रच रहे हैं.

खुफिया जानकारी मिली है कि इस रैली में भिंडरवाला के पोस्टर लगाने की साजिश हो रही है. वहीं, पूरी दिल्ली में पावर कट करने के इनपुट भी हैं, जिसके बाद सभी पावर स्टेशनों और सब स्टेशनों की सुरक्षा बढ़ाने के आदेश दिए गए हैं. 

ऐसी जानकारियां आने के बाद दिल्ली पुलिस समेत सभी खुफिया एजेंसियां हाई अलर्ट पर हैं. किसान संगठनों को भी अलर्ट रहने के लिए कहा गया है. 

जानकारी है कि खालिस्तानी संगठन सिख फ़ॉर जस्टिस के प्रवक्ता गुरपतवंत सिंह पन्नू ने वीडियो संदेश भेजे हैं, वहीं लगातार भारत में लोगों को फोन भी आ रहे हैं, जिसमें कहा जा रहा है कि ट्रैक्टर पर तिरंगा न लगाएं. बता दें कि गुरूपतवंत सिंह पन्नू के खिलाफ NIA (National Investigation Agency) ने 15 दिसम्बर 2020 को UAPA (Unlawful Activities (Prevention) Act, 1967) के तहत केस दर्ज किया था.

बता दें कि दिल्ली पुलिस ने रविवार को ही दावा किया कि किसानों की रैली में बाधा डालने के लिए पाकिस्तान से 300 से ज्यादा ट्विटर अकाउंट बनाए गए हैं. पुलिस के मुताबिक, ‘इस बात की पुख्ता जानकारी मिली है कि पाकिस्तानी आतंकी ट्रैक्टर रैली में गड़बड़ी फैलाने की फिराक में हैं, ऐसे 308 पाकिस्तानी ट्विटर हैंडल भी मिले हैं’. इस बीच किसान संगठनों ने भी शांतिपूर्ण ढंग से ट्रैक्टर रैली निकालने की अपील की है.

किसान गणतंत्र परेड के लिए हिदायतें

इसको ध्यान में रखते हुए संयुक्त किसान मोर्चा ने सर्वसम्मति से परेड के लिए यह हिदायतें बनाई हैं.आप इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर करें. अगर कुछ पूछना हो तो अपने संगठन के नेताओं से पूछें या फिर हेल्पलाइन नंबर 7428384230 पर कॉल करें.

परेड से पहले की तैयारी

1. परेड में ट्रैक्टर और दूसरी गाड़ी चलेंगी, लेकिन ट्रॉली नहीं जाएगी. जिन ट्रालियों में विशेष झांकी बनी होगी उन्हें छूट दी जा सकती है. पीछे से ट्रॉली की सुरक्षा का इंतजाम करके जाएं.

2. अपने साथ 24 घंटे का राशन पानी पैक करके चलें. जाम में फंसने पर ठंड से बचाव का इंतजाम भी रखें.

3. संयुक्त किसान मोर्चा की अपील है कि हर ट्रैक्टर या गाड़ी पर किसान संगठन के झंडे के साथ-साथ राष्ट्रीय झंडा भी लगाया जाए. किसी भी पार्टी का झंडा नहीं लगेगा.

4. अपने साथ किसी भी तरह का हथियार ना रखें, लाठी या जेली भी ना रखें. किसी भी भड़काऊ या निगेटिव नारे वाले बैनर ना लगाएं.

5 परेड में शामिल होने की सूचना देने के लिए आप 8448385556 पर एक मिस्ड कॉल लगा दें.

परेड के दौरान हिदायतें

1. परेड की शुरुआत किसान नेताओं की गाड़ी से होगी. उनसे पहले कोई ट्रैक्टर या गाड़ी रवाना नहीं होगी. हरे रंग की जैकेट पहने हमारे ट्रैफिक वॉलंटियर की हर हिदायत को मानें.

2. परेड का रूट तय हो चुका है. उसके निशान लगे होंगे. पुलिस और ट्रैफिक वॉलंटियर आपको गाइड करेंगे. जो गाड़ी रूट से बाहर जाने की कोशिश करेगी उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

3. संयुक्त किसान मोर्चा का फैसला है कि अगर कोई गाड़ी सड़क पर बिना कारण रुकने या रास्ते में डेरा जमाने कि कोशिश करती है, तो हमारे वॉलंटियर उन्हें हटाएंगे. सब गाड़ियां परेड पूरी करके वहीं वापस पहुंचेंगी जहां से शुरू हुई थीं.

4. एक ट्रैक्टर पर ज्यादा से ज्यादा ड्राइवर समेत पांच लोग सवार होंगे. बोनट, बंपर या छत पर कोई नहीं बैठेगा.

5. सब ट्रैक्टर अपनी लाइन में चलेंगे कोई रेस नहीं लगाएगा. परेड में किसान नेताओं की गाड़ियों से आगे या उनके साथ अपनी गाड़ी लगाने की कोशिश नहीं करेगा.

6. ट्रैक्टर में अपना ऑडियो डेक नहीं बजाएं. इससे बाकी लोगों को मोर्चा की ऑडियो से हिदायतें सुनने में दिक्कत होगी.

7. परेड में किसी भी किस्म के नशे की मनाही रहेगी. अगर आपको कोई भी नशा करके ड्राइव करते हुए दिखाई दे तो उसकी सूचना नजदीक के ट्रैफिक वॉलंटियर को दें.

8. याद रखिए हमें गणतंत्र दिवस की शोभा बढ़ानी है, पब्लिक का दिल जीतना है. इस बात का खास ख्याल रखें कि औरतों से पूरी इज्जत से पेश आएं. पुलिस का सिपाही भी यूनिफॉर्म पहने हुए किसान है, उससे कोई झगड़ा नहीं करना. मीडिया वाले चाहे जिस भी चैनल से हों, उनके साथ किसी तरह की बदतमीजी ना हो.

9. कचरा सड़क पर ना फेंके. अपने साथ कचरे के लिए एक बैग अलग से रखें.

इमरजेंसी की हिदायतें

संयुक्त किसान मोर्चा ने हर किस्म की इमरजेंसी का इंतजाम किया है इसलिए कोई दिक्कत होने पर घबराएं नहीं, बस इन हिदायतों का पालन करें:

1. किसी भी अफवाह पर ध्यान ना दें. अगर कोई बात चेक करना हो तो संयुक्त किसान मोर्चा की फेसबुक पर जाकर सच्चाई की जांच कर लें.

2. परेड में बीच-बीच में एंबुलेंस रहेंगी अस्पतालों के साथ इंतजाम किया गया है कोई मेडिकल इमरजेंसी हो तो हेल्पलाइन नंबर पर फोन करें या नजदीकी वालंटियर को बताएं.

3. ट्रैक्टर या गाड़ी खराब होने की स्थिति में उसे बिल्कुल साइड में लगा दें और वॉलंटियर से संपर्क करें या हेल्पलाइन पर कॉल करें.

4. संयुक्त किसान मोर्चा का हेल्पलाइन नंबर इस परेड के लिए 24 घंटे खुला रहेगा कुछ भी पूछना हो या बताना हो तो तुरंत फोन करें.

5. अगर कोई वारदात हो तो उसकी खबर पुलिस कंट्रोल रूम को 112 नंबर पर दे सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.