छपरा: पटना एसएसपी ने 2 घंटे तक की रुपेश सिंह की पत्नी से मुलाकात, दिया बॉडीगार्ड

0
116

इंडिगो के एयरपोर्ट स्टेशन मैनेजर रूपेश सिंह हत्याकांड से जुड़ी ताजा खबर छपरा से आ रही है. पटना पुलिस उनकी पत्नी नीतू सिंह को सुरक्षा मुहैया कराई है. पटना के एसएसपी उपेंद्र शर्मा ने रुपेश सिंह की पत्नी और उनके अन्य परिजनों से छपरा के संवरी स्थित उनके आवास पर लगसभग 2 घंटे मुलाकात की है. रुपेश के परिजनों से मुलाकात के बाद पटना के एसएसपी उपेंद्र शर्मा ने बताया कि पिछले महीने एक बहुचर्चित हत्याकांड को अपराधियों ने अंजाम दिया था. सीनियर लेवल के अधिकारी इस घटना की छानबीन कर रहे थे. पुलिस ने 3 फ़रवरी को इस हत्याकांड का खुलासा किया और एक अपराधी को गिरफ्तार किया, जिसने रुपेश सिंह की हत्या की.

एसएसपी ने कहा कि वह पहली बार रुपेश सिंह की पत्नी नीतू सिंह से मिलने पहुंचे हैं. उन्हें लगा कि ये उनका फर्ज बनता है कि वह रुपेश की पत्नी से मिले और उनका कुशल छेम लें कि उन्हें किसी प्रकार की कोई दिक्कत तो नहीं है. आज पटना पुलिस ने उन्हें एक बॉडीगार्ड भी दिया है. ऋतू राज को फिलहाल आर्म्स एक्ट में ही जेल भेजा गया है. जब-जब कोई गैरकानूनी काम होता है, तब-तब एक एफआईआर दर्ज की जाती है. जब ऋतू राज पकड़ाया तो उसके पास से एक अवैध हथियार भी जब्त हुआ है, जिसकी एफआईआर दर्ज की गई है. हालांकि वह मर्डर केस में अरेस्ट हुआ है. एक केस से दूसरे केस में वह रिमांड होगा और वह रिकॉर्ड में आ जायेगा.

आपको बता दें कि पटना पुलिस ने दो दिन पहले रूपेश सिंह हत्याकांड का खुलासा किया था. पुलिस ने दावा किया था कि रुपेश की हत्या रोडवेज की घटना को लेकर की गई. पटना के एसएसपी ने दावा किया कि उन्होंने मुख्य आरोपी ऋतुराज को अरेस्ट कर लिया है. हालांकि पटना पुलिस का दावा परिवार वालों को हजम नहीं हो रहा है. रुपेश के परिजनों को पटना पुलिस के दावे झूठे लग रहे हैं. पुलिस के खुलासे पर उनके भाई, उनके पिता, बहन और उनकी पत्नी ने कई सवाल खड़े किए हैं. करीब डेढ़ दशक से जेडीयू का झंडा ढो रहे रुपेश सिंह के भाई नंदेश्वर सिंह ने कहा कि उन्हें पुलिस की कहानी पर बिलकुल भी भरोसा नहीं है. उन्हें सुशासन से भरोसा उठा गया है.

पटना पुलिस के खुलासे पर रूपेश की पत्नी नीतू सिंह ने भी सवाल खड़े किए हैं. उन्होंने पुलिस की कहानी को झूठ बताते हुए कहा कि हाईकोर्ट की निगरानी में CBI से जांच होनी चाहिए. भला, कोई इतनी सी बात के लिए हत्या करता है. किसी को पुलिस बचा रही है. नीतू ने खुद के लिए सुरक्षा की भी मांग की है. कहती हैं, उनके बाद अब हम कैसे घर चलाएंगे. बच्चों को क्या खिलाएंगे ?

रुपेश सिंह के भाई नंदेश्वर सिंह ने कहा कि रोड रेज का मामला आये दिन सामने आता रहता है. इस मामूली सी बात को लेकर कोई भी अपराधी इतनी बड़ी हत्याकांड को अंजाम नहीं दे सकता. वो भी इतने दिनों बाद, इस बात भी भरोसा नहीं किया जा सकता है. क्योंकि एक्सीडेंट की घटना 29 नवंबर को हुई थी और रुपेश की हत्या 12 जनवरी को की गई थी. उन्होंने कहा कि ये हैरानी की बात है कि पटना के एसएसपी यह कह रहे हैं कि उस अपराधी ने इस घटना को अंजाम दिया है, जिसने आजतक अपने जीवन में कभी गोली नहीं चलाई. यह विश्वास से परे है.

नंदेश्वर सिंह ने आगे जानकारी दी कि पटना पुलिस के दावे पर परिवार के किसी भी सदस्य को भरोसा नहीं है. जिसका कोई क्रिमिनल रिकॉर्ड नहीं है. जो मामूली सा बाइक चोर है. जो कभी जेल नहीं गया है. अपराधी 5 गोली चलाया, 7 गोली चलाया… उसे खुद भी याद नहीं और कह रहा है कि जो एसपी कह रहे हैं, वही सच है.

उन्होंने पुलिस और बिहार के आलाधिकारियों से गुजारिश की तो अगर ऋतू राज ने ही इस हत्याकांड को अंजाम दिया है तो इसके पीछे जो भी बड़ा हाथ है, उसका खुलासा होना चाहिए. क्योंकि रुपेश भी कोई आम आदमी नहीं था. हाईकोर्ट की निगरानी में इस केस की जांच होनी चाहिए. बिहार सरकार सीबीआई से इस केस की निष्पक्ष जांच कराये. 

नंदेश्वर सिंह ने कहा कि वह पिछले 14 साल से सीएम नीतीश की पार्टी जेडीयू का झंडा ढो रहे हैं. नीतीश कुमार बिहार के राजा हैं. वह गद्दी पर बैठे हुए हैं. एक निर्दोष आदमी की हत्या हुई है. उन्हें निष्पक्ष जांच करानी चाहिए. मुख्यमंत्री से उम्मीद है कि रुपेश की पत्नी को इंसाफ मिलेगा. रुपेश का परिवार डरा सहमा है, जान का भी ख़तरा है. किसी को सिक्योरिटी नहीं मिली है.   

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.