इंग्लैंड टेस्ट सीरीज में 1-0 से आगे:चेन्नई में 22 साल बाद भारत की हार, इंग्लिश टीम की भारतीय जमीन पर सबसे बड़ी जीत

0
44

इंग्लैंड ने चेन्नई टेस्ट में टीम इंडिया को 227 रन से हरा दिया है। इसी के साथ इंग्लिश टीम ने 4 टेस्ट की सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली। उसकी भारतीय जमीन पर रन के लिहाज से यह सबसे बड़ी जीत है। इससे पहले इंग्लैंड ने भारत को उसी के घर में 212 रन से 2006 मुंबई में हराया था।

साथ ही टीम इंडिया की चेन्नई के चेपक स्टेडियम में 22 साल बाद टेस्ट में पहली हार है। भारत को यहां पिछली बार जनवरी 1999 में पाकिस्तान के हाथों 12 रन से हार झेलनी पड़ी थी। इसके बाद टीम इंडिया यहां आठ टेस्ट मैच खेल चुकी है। इनमें पांच में भारत को जीत मिली और तीन ड्रॉ रहे हैं।

भारत की 4 साल बाद घर में पहली हार
टीम इंडिया की अपने घर में 4 साल बाद पहली हार है। इससे पहले उसे फरवरी 2017 में ऑस्ट्रेलिया ने शिकस्त दी थी। तब पुणे टेस्ट में भारतीय टीम 333 रन के अंतर से हारी थी। दोनों हार के बीच टीम इंडिया ने 14 टेस्ट खेले, जिसमें से 11 जीते और 3 ड्रॉ रहे।

420 रन के टारगेट के जवाब में भारत ने 192 रन बनाए
इंग्लैंड ने पहली पारी में 578 और दूसरी पारी में 178 रन बनाए थे। जबकि, टीम इंडिया ने पहली पारी में 337 रन बनाए थे। इस लिहाज से उसे जीत के लिए 420 रन का टारगेट मिला था, जिसे टीम इंडिया हासिल नहीं कर सकी और दूसरी पारी में 192 रन पर सिमट गई।

चेन्नई में भी इंग्लैंड की सबसे बड़ी जीत
इंग्लैंड की रन के लिहाज से चेन्नई में भी अपनी सबसे बड़ी जीत है। इससे पहले उसने 1934 में टीम इंडिया को 202 रन से हराया था। इंग्लिश टीम चेन्नई में खेले गए 1977 के टेस्ट में भारत को 200 रन से भी हरा चुका है। ओवरऑल भारत अपने घर में रन के लिहाज से 342 रन से हार चुका है। उसे 2004 के नागपुर टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया ने हराया था।

इंग्लैंड 36 साल बाद चेन्नई में टेस्ट जीता
मेहमान इंग्लिश टीम 36 साल बाद चेन्नई में कोई टेस्ट जीत सकी है। इससे पहले जनवरी 1985 में भारतीय टीम ने 9 विकेट से हराया था। इसके बाद भारत ने लगातार 3 टेस्ट जीते। चौथे मुकाबले में उसकी हार हुई है। चेपक में भारत और इंग्लैंड के बीच अब तक 10 टेस्ट खेले गए। इसमें भारतीय टीम ने 6 मैच जीते, जबकि 2 टेस्ट हारे हैं। एक मुकाबला ड्रॉ रहा।

सालनतीजा
1934इंग्लैंड 202 रन से जीता
1952भारत पारी और 8 रन से जीता
1973भारत 4 विकेट से जीता
1977इंग्लैंड 200 रन से जीता
1982टेस्ट ड्रॉ
1985इंग्लैंड 9 विकेट से जीता
1993भारत पारी और 22 रन से जीता
2008भारत 6 विकेट से जीता
2016भारत पारी और 75 रन से जीता
2021इंग्लैंड 227 रन से जीता

रूट प्लेयर ऑफ द मैच रहे

  • इंग्लिश कप्तान जो रूट को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया। उन्होंने पहली पारी में 218 रन की पारी खेली। यह उनके करियर का 5वां दोहरा शतक रहा।
  • रूट ने सिक्स लगाकर अपनी 5वीं डबल सेंचुरी पूरी की। वे सिक्स लगाकर 200 रन पूरे करने वाले इंग्लैंड के पहले क्रिकेटर बने।
  • वे भारतीय जमीन पर पिछले 10 साल में दोहरा शतक जमाने वाले पहले विदेशी बल्लेबाज बन गए।
  • इससे पहले नवंबर, 2010 में न्यूजीलैंड के ब्रैंडन मैकुलम ने हैदराबाद टेस्ट में 225 रनों की पारी खेली थी।
  • रूट भारत में सबसे बड़ी पारी खेलने वाले इंग्लिश कैप्टन बने। पिछला रिकॉर्ड एलेस्टेयर कुक के नाम था। कुक ने 2012 में कोलकाता टेस्ट में 190 रन की पारी खेली थी।
  • ओवरऑल इंग्लैंड के कप्तान के तौर पर भारत के खिलाफ सबसे बड़ी पारी ग्राहम गूच ने 1990 में लॉर्ड्स में खेली थी। तब गूच ने 333 रन बनाए थे। दूसरे नंबर पर रूट की पारी आ गई है।
  • रूट 100वें टेस्ट में डबल सेंचुरी लगाने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज हैं। रूट का यह (218 रन) भारत के खिलाफ हाईएस्ट स्कोर भी है। इससे पहले भारत के खिलाफ उनका बेस्ट स्कोर 154 रन नॉटआउट था।

दूसरी पारी में टीम इंडिया की खराब शुरुआत
420 रन के टारगेट का पीछा करने उतरी भारतीय टीम ने 25 रन पर पहला विकेट गंवा दिया था। ओपनर रोहित शर्मा 12 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। इसके बाद टीम ने 117 रन तक 6 विकेट गंवा दिए। चेतेश्वर पुजारा (15 रन), शुभमन गिल (50 रन) और ऋषभ पंत (11 रन) बनाकर पवेलियन लौट गए। जबकि अजिंक्य रहाणे और वॉशिंगटन सुंदर खाता भी नहीं खोल सके।

इसके बाद कप्तान विराट कोहली (72) ने रविचंद्रन अश्विन के साथ 7वें विकेट के लिए 105 बॉल पर 54 रन की पार्टनरशिप कर पारी को संभालने की कोशिश की। हालांकि, अश्विन और फिर कोहली दोनों ही पवेलियन लौट गए।

जैक लीच ने भारत को 4 झटके दिए
स्पिनर जैक लीच ने भारतीय टीम के 4 खिलाड़ियों को पवेलियन भेजा। उन्होंने रविचंद्रन अश्विन (9) को विकेटकीपर जोस बटलर के हाथों कैच आउट कराया। अश्विन ने कोहली के साथ 7वें विकेट के लिए 54 रन की पार्टनरशिप की। लीच ने रोहित शर्मा (12 रन) और चेतेश्वर पुजारा (15 रन) को भी पवेलियन भेजा। शाहबाज नदीम को उन्होंने खाता भी नहीं खोलने दिया।

पारी की पहली बॉल पर विकेट लेने वाले स्पिनर

गेंदबाजदेशखिलाफआउट होने वाले बल्लेबाजजगह, साल
बॉबी पीलइंग्लैंडऑस्ट्रेलियाएलेक बैनरमैनलंदन, 1888
बर्ट वोग्लरसाउथ अफ्रीकाइंग्लैंडटॉम हेवर्डओवल, 1907
रविचंद्रन अश्विनभारतइंग्लैंडरॉरी बर्न्सचेन्नई, 2021

300 विकेट लेने वाले भारत के छठे गेंदबाज बने इशांत
इशांत के टेस्ट करियर में 300 विकेट पूरे हो गए। वे ऐसा करने वाले भारत के छठे गेंदबाज बने। इशांत, कपिल देव और जहीर खान के बाद 300 विकेट लेने वाले भारत के तीसरे तेज गेंदबाज भी हैं।

गेंदबाजविकेटबॉलिंग स्टाइल
अनिल कुंबले619स्पिनर
कपिल देव434तेज गेंदबाज
हरभजन सिंह417स्पिनर
रविचंद्रन अश्विन386स्पिनर
जहीर खान311तेज गेंदबाज
इशांत शर्मा300तेज गेंदबाज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.