कहीं लॉकडाउन तो कहीं ट्रैवल बैन, जानें- कोरोना की दूसरी लहर का कहां क्या असर

0
149

कोरोना वायरस एक बार फिर से महाराष्ट्र, केरल समेत कई राज्यों में सिर उठाने लगा है। फरवरी में लगातार तेजी से मामले बढ़ने की वजह से महाराष्ट्र में कई जगहों पर एक बार फिर से कड़े प्रतिबंध लागू किए गए हैं। अमरावती में एक सप्ताह का लॉकडाउन लगा है, जबकि अन्य जिलों में भी प्रतिबंध लागू हैं। मंगलवार को महाराष्ट्र में 926 कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए, जो किसी भी अन्य राज्य के मुकाबले ज्यादा था। अकोला शहर में 121 नए केस सामने आए, जबकि यवतमाल में 165 केस मिले हैं। बुलढाना में 161 नए केस मिले हैं। महाराष्ट्र में फरवरी में कोरोना केसों में तेजी से इजाफा हुआ है। अकेले अमरावती में ही 9,069 कोविड-19 केस सामने आए हैं। इनमें भी 4,728 केस 17 फरवरी के बाद ही सामने आए हैं। 

कोरोना के केस सबसे ज्यादा विदर्भ में देखने को मिल रहे हैं। इसके चलते सूबे के अन्य इलाकों में स्थित जिलों ने ट्रैवल बैन लगा दिए हैं और सीमाओं पर प्रतिबंध लागू किए हैं। विदर्भ के इलाके से आने वाले लोगों की जांच की जा रही है। अमरावती और अकोला विदर्भ क्षेत्र में ही आते हैं। विदर्भ में कुल 11 जिले हैं, जिनमें से 5 अमरावती डिविजन के तहत आते हैं, जबकि नागपुर डिविजन में 6 जिले हैं। इसके अलावा परभणी जिला प्रशासन ने विदर्भ के 11 जिलों के लोगों के आवागमन पर रोक लगाई है। इसके अलावा साईं बाबा मंदिर को भी एहतियात के तौर पर बंद कर दिया गया है।

कोरोना से बचाव के लिए हरिद्वार के कुंभ मेले में भी खास तैयारियां की जा रही हैं। मेले की ड्यूटी में तैनात सभी अफसरों और कर्मचारियों का वैक्सीनेशन किया जाएगा।

वाशिम में कोविड-19 के नियमों के उल्लंघन पर 10,000 लोगों के खिलाफ केस दर्ज। एसपी वसंत परदेसी ने बताया कि ये लोग नियमों के खिलाफ पोहरा देवी मंदिर में जुटे थे। इन सभी के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

विदर्भ के 11 जिलों के लोगों पर परभणी जिले में लगा ट्रैवल बैन। साईं बाबा मंदिर को भी किया गया बंद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.