पटना: अलग-अलग तीन शवों के मिलने से इलाके में मचा हड़कंप, दो की शिनाख्त नहीं

0
42

पटना के विभिन्न इलाके में तीन शवों के मिलने से सनसनी फैल गयी। दो शव आलमगंज थाना इलाके में मिले, जबकि तीसरा दीदारगंज थाना क्षेत्र के मारुफमंडी के समीप मिला। रविवार को मिले इनमें से दो शवों की पहचान नहीं हो सकी थी। 

आलमगंज थाना क्षेत्र में दो अलग-अलग स्थानों से दो अधेड़ का शव बरामद किया गया। घटना की जानकारी होते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए एनएमसीएच भेज दिया। मृतकों की पहचान नहीं हो सकी है। सुबह करीब साढ़े सात बजे एनएमसीएच के पूर्वी बाउंड्री के पास शव होने की खबर पर आलमगंज पुलिस पहुंची। आलमगंज के दारोगा प्रदीप कुमार ने बताया कि मृतक की उम्र करीब 50 वर्ष है। पुलिस के अनुसार मृतक के दाहिने पैर के तलवा में जख्म के निशान हैं। उसके मौत के कारणों का पता नहीं चल सका।

इसी थाना क्षेत्र में दिन में तीन बजे गुलजारबाग सरस्वती मार्केट के पास से भी एक अधेड़ का शव बरामद किया गया। पुलिस का मानना है कि वेशभूषा से वह भिखारी प्रतीत होता है। दोनों ही शवों की पहचान और मौत का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मौत का कारण पता चल पाएगा। पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है।

मारुफगंज मंडी में मिला ठेला चालक का शव
मालसलामी थाना क्षेत्र स्थित किराना मंडी मारुफगंज मंडी में रविवार की दोपहर ठेला चालक अशोक कुमार की मौत हो गयी। मालसलामी थानाध्यक्ष प्रमोद कुमार ने बताया कि पचपन वर्षीय अशोक मंडी में ही ठेला चलाने का काम करता था। वह मूलरूप से बख्तियारपुर का रहने वाला था। ऐसा लगता है कि किसी बीमारी की वजह से उसकी मौत हुई है। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को जब्त कर पोस्टमार्टम के लिए एनएमसी भेज दिया है। थानाध्यक्ष ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट से ही मौत के कारणों का पता चल सकेगा। पुलिस घटना की जांच कर रही है।

हार्ट अटैक या इंफेक्शन हो सकती है मौत की वजह
रविवार को सिटी इलाके में तीन अलग-अलग स्थानों पर तीन अधेड़ का शव मिलने से बीमारी को लेकर लोगों के बीच तरह-तरह की चर्चाएं होने लगी। इन दिनों अचानक हो रही मौत के बारे में बताते हुए एनएमसीएच के कोराना सेंटर के नोडल पदाधिकारी डॉ. अजय कुमार सिन्हा ने कहा कि हार्ट अटैक, इंफेक्शन या कमजोरी मौत की वजह हो सकती है। अभी का मौसम भी ऐसा नहीं है कि तापमान में बहुत ज्यादा अंतर है। कोरोना में अचानक से मौत नहीं होती है। कोरोना में गंभीर संक्रमण होने पर मरीज को छटपटाहट होती है उसका दम फूलने लगता है। हार्ट इंफेक्शन या कमजोरी की स्थिति में मरीज अचानक गिर पड़ता है और उसकी मौत हो जाती है। सडेन डेथ की वजह शव की बायोप्यी जांच से पता चलेगी। उन्होंने कहा कि भारत में कोरोना संक्रमण के इस तरह के केस नगण्य मिले हैं। जिनकी अचानक मौत हुई हो। हार्ट या अन्य किसी गंभीर बीमारी से पहले से पीड़ित व्यक्ति को कारेाना संक्रमित होने पर ही स्थिति गंभीर हुई है या उसकी मौत हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.