चौथे टेस्ट का दूसरा दिन: टीम इंडिया को इंग्लैंड पर 89 रन की बढ़त, पंत की तीसरी टेस्ट सेंचुरी

0
77

टीम इंडिया ने इंग्लैंड के खिलाफ चौथे और आखिरी टेस्ट में 89 रन की बढ़त बना ली है। अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेले जा रहे टेस्ट में दूसरे दिन भारत का स्कोर 7 विकेट पर 294 रन रहा। विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने 17 पारी के बाद करियर की तीसरी सेंचुरी लगाई। उन्होंने 118 बॉल पर 101 रन की पारी खेली। फिलहाल, वॉशिंगटन सुंदर (60) और अक्षर पटेल (11) नाबाद हैं। वहीं, इंग्लिश टीम ने पहली पारी में 205 रन बनाए थे। वॉशिंगटन ने करियर की तीसरी टेस्ट फिफ्टी लगाई।

पंत ने 17 पारी के बाद शतक लगाया
पंत ने 118 बॉल पर 101 रन की पारी खेली। यह उनके करियर का तीसरा टेस्ट शतक रहा। एंडरसन की बॉल पर पंत का कैच जो रूट ने लिया। विकेटकीपर बल्लेबाज पंत ने 17 पारी के बाद सेंचुरी लगाई। इससे पहले उन्होंने जनवरी 2019 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में 159 रन की पारी खेली थी। इन दो शतक के बीच वे 2 बार नर्वस 90 (97, 91) का शिकार हुए। एक बार वे 89 रन बनाकर नाबाद रहे थे। इसी सीरीज के पहले मैच की पहली पारी में वे 91 रन पर आउट हुए थे।

पंत-सुंदर की शतकीय साझेदारी से भारत को बड़ी बढ़त

  • टीम इंडिया की पहली पारी में शुरुआत बेहद खराब रही। मैच के पहले दिन ओपनर शुभमन गिल लगातार 5वीं पारी में असफल रहे। पारी के पहले ओवर की तीसरी बॉल पर शुभमन बिना खाता खोले पवेलियन लौट गए। जेम्स एंडरसन ने उन्हें LBW किया।
  • भारतीय टीम ने दूसरे दिन 1 विकेट पर 24 रन से आगे खेलना शुरू किया था। टीम 17 रन ही जोड़ सकी थी कि 2 बड़े विकेट गंवा दिए। पहले चेतेश्वर पुजारा (17) को जैक लीच ने LBW किया। इसके बाद कप्तान विराट कोहली बिना खाता खोले पवेलियन लौट गए। उन्हें तेज गेंदबाज बेन स्टोक्स ने आउट किया।
  • 80 रन पर टीम इंडिया को चौथा झटका लगा। अजिंक्य रहाणे (27 रन) को जेम्स एंडरसन ने कैच आउट कराया। यहां से रोहित ने पंत के साथ 5वें विकेट के लिए 41 रन की पार्टनरशिप कर पारी को संभाला, लेकिन वे आउट हो गए।
  • अश्विन भी ज्यादा देर नहीं टिक सके, लेकिन पंत ने दूसरा छोर संभाले रखा। उन्होंने वॉशिंगटन सुंदर के साथ 7वें विकेट के लिए 158 बॉल पर 113 रन की पार्टनरशिप कर भारतीय टीम को इंग्लैंड पर बड़ी बढ़त दिलाई। यह इस मैच की पहली शतकीय साझेदारी रही।

कोहली 8वीं बार जीरो पर आउट, धोनी की बराबरी की
विराट कोहली बतौर कप्तान 8वीं बार जीरो पर आउट हुए। इस मामले में उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी की बराबरी कर ली। अगली बार शून्य पर आउट होते ही विराट सबसे ज्यादा बार जीरो पर आउट होने वाले भारतीय बल्लेबाज बन जाएंगे। साथ ही वे वर्ल्ड लेवल पर तीसरे नंबर पर पहुंच जाएंगे। न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान स्टीफन फ्लेमिंग (13 बार) टॉप पर काबिज हैं। दूसरे नंबर पर साउथ अफ्रीका के पूर्व कप्तान ग्रीम स्मिथ (10 बार) हैं।

करियर में 2 बार एक सीरीज में खाता नहीं खोल सके कोहली
कोहली टेस्ट करियर में दूसरी बार एक सीरीज में 2 बार शून्य पर आउट हुए। इस सीरीज में मोइन अली भी उन्हें शिकार बना चुके हैं। इससे पहले वे 2014 में इंग्लैंड के खिलाफ ही 2 बार खाता नहीं खोल सके थे। तब इंग्लैंड दौरे पर लियाम प्लंकेट और जेम्स एंडरसन ने उन्हें आउट किया था।

पुजारा को मिला जीवनदान
22वें ओवर की आखिरी बॉल पर चेतेश्वर पुजारा को जीवनदान मिला था। स्पिनर जैक लीच की बॉल पर विकेटकीपर बेन फोक्स ने यह कैच छोड़ा। इस समय पुजारा 16 रन पर खेल रहे थे। वे जीवनदान का फायदा नहीं उठा सके और 17 रन पर आउट हो गए।

28 पारी से शतक नहीं लगा सके पुजारा

  • पुजारा सीरीज में एक ही फिफ्टी लगा सके हैं। उन्होंने पहले मैच की पहली पारी में 73 रन बनाए थे। इसके बाद किसी पारी में उनका बल्ला नहीं चला। पुजारा ने अब तक 6 पारियों (73, 15, 21, 7, 0, 17) में 133 रन बनाए हैं।
  • वे 17 मैच (28 पारी) से कोई शतक नहीं लगा सके। पिछली सेंचुरी उन्होंने जनवरी 2019 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ लगाई थी। तब पुजारा ने सिडनी टेस्ट में 193 रन की पारी खेली थी।

एंडरसन तोड़ सकते हैं कुंबले का रिकॉर्ड
आखिरी टेस्ट में स्पिन ट्रैक पर जेम्स एंडरसन 3 विकेट ले चुके हैं। उन्होंने शुभमन गिल, अजिंक्य रहाणे और ऋषभ पंत को पवेलियन भेजा है। अब उनके टेस्ट में 614 विकेट हो गए हैं। वे अनिल कुंबले के 619 विकेट के रिकॉर्ड को तोड़ने के करीब हैं। साथ ही एंडरसन के तीनों फॉर्मेट (टेस्ट, वनडे, टी-20) में 900+ विकेट हो गए हैं।

सबसे ज्यादा 104 खिलाड़ियों को शून्य पर आउट करने के मामले में जेम्स एंडरसन ने पूर्व ऑस्ट्रेलियाई पेसर ग्लेन मैक्ग्रा की बराबरी कर ली है। उनके बाद दूसरे नंबर पर ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर शेन वॉर्न और श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन हैं। दोनों ने 102 खिलाड़ियों को बिना खाता खोले पवेलियन भेजा। इनके अलावा कोई बॉलर 100 का आंकड़ा नहीं छू सका। 83 शिकार के साथ साउथ अफ्रीका के बॉलर डेल स्टेन तीसरे नंबर पर काबिज हैं।

तीन पार्टनरशिप ने इंग्लैंड को 205 के स्कोर तक पहुंचाया

  • इंग्लैंड टीम ने पहली पारी में 205 रन बनाए। बेन स्टोक्स ने 55 रन, डैन लॉरेंस ने 46, ओली पोप ने 29 और जॉनी बेयरस्टो ने 28 रन बनाए। स्टोक्स ने टेस्ट करियर की 24वीं फिफ्टी लगाई। अक्षर पटेल ने 4 विकेट लिए। उनके अलावा रविचंद्रन अश्विन ने 3 और मोहम्मद सिराज ने 2 विकेट झटके।
  • अक्षर ने जैक क्राउली, डॉम सिबली, डैन लॉरेंस और डॉम बेस को आउट किया। सिराज ने बेयरस्टो और जो रूट को पवेलियन भेजा। वहीं, अश्विन ने ओली पोप, बेन फोक्स और जैक लीच को आउट किया। एक विकेट वॉशिंगटन सुंदर को मिला। उन्होंने उन्होंने बेन स्टोक्स को LBW किया।
  • इंग्लैंड ने 30 रन पर 3 विकेट गंवा दिए थे। ओपनर सिबली और क्राउली के साथ कप्तान जो रूट भी पवेलियन लौट गए थे। इसके बाद जॉनी बेयरस्टो और बेन स्टोक्स ने 48 रन की पार्टनरशिप कर पारी को संभाला। बेयरस्टो के आउट होते ही स्टोक्स ने ओली पोप के साथ 5वें विकेट के लिए 43 रन जोड़े। यहां स्टोक्स पवेलियन लौट गए। तब पोप ने डैम लॉरेंस के साथ छठे विकेट के लिए 45 रन की पार्टनरशिप की। यहां से कोई बड़ी पार्टनरशिप नहीं हुई और इंग्लिश पारी सिमट गई।

सीरीज में टीम इंडिया 2-1 से आगे
इंग्लैंड के खिलाफ 4 टेस्ट की सीरीज में भारतीय टीम 2-1 से आगे है। पहला टेस्ट इंग्लैंड ने 227 रन से जीता था। इसके बाद टीम इंडिया ने दूसरा टेस्ट 317 रन और तीसरा मैच 10 विकेट से जीतकर बढ़त हासिल कर ली।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.