तार-तार हुआ लोकतंत्र: सदन में विधायकों की बेशर्मी, हाथापाई और गालीगलौज

0
793

शराब मामले के आरोपी मंत्री रामसूरत राय़ को बचाने के लिए आज विधानसभा में सत्तारूढ़ विधायकों ने लोकतंत्र को निर्वस्त्र कर दिया. सत्तारूढ बीजेपी के विधायक वेल में उतर कर मारपीट से लेकर गालीगलौज पर उतर आये. दिलचस्प बात ये कि बीजेपी के विधायकों ने बेवजह हंगामा किया. दरअसल विधानसभा में आज सुबह से ही आरजेडी विधायकों ने मंत्री रामसूरत राय का मामला उठाया था. तेजस्वी यादव ने राजभवन मार्च किया था. बौखलाहट में बीजेपी विधायकों ने लोकतंत्र को तार-तार कर दिया.

बेवजह बीजेपी विधायकों का हंगामा
दरअसल विधानसभा में आज दूसरे हाफ में स्वास्थ्य विभाग के बजट पर चर्चा हो रही थी. स्वास्थ्य विभाग के बजट पर तेजस्वी यादव भाषण देने के लिए खड़े हुए थे. अपने भाषण के दौरान तेजस्वी यादव ने शराब शब्द का जिक्र किया. तेजस्वी ने तब किसी मंत्री या सरकार का नाम भी नहीं लिया था. लेकिन जैसे ही उन्होंने शराब शब्द का नाम लिया वैसे ही बीजेपी के विधायक उठ खड़े हुए. सत्ताधारी विधायकों ने फिर जो तमाशा किया उसने लोकतंत्र का चीरहरण कर लिया.

गालीगलौज से लेकर मारपीट तक
तेजस्वी यादव के भाषण के दौरान ही बीजेपी के जनक सिंह, संजय सरावगी जैसे कई विधायकों ने भारी हंगामा कर दिया. बीजेपी विधायकों की ओर से कहा जा रहा था कि वे बुखार छुड़ा देंगे. ताबड़तोड़ अपशब्दों का प्रयोग किया जा रहा था. बीजेपी विधायकों के तेवर को देख कर विपक्ष पहले तो हैरान हुआ फिर राजद के विधायक भी वेल में आ गये. उन्होंने भी नारेबाजी करनी शुरू कर दी.

तब तक बीजेपी विधायकों का जत्था भी वेल में कूद पड़ा था. दोनों ओर से गालीगलौज होने लगी. हाथापाई भी हो रही थी. एक दूसरे पर घूंसे चलाये जा रहे थे. पूरा सदन शोर शराबे में डूबा था. परेशान विधानसभा अध्यक्ष ने पहले तो विधायकों को शांत करने की कोशिश की. लेकिन स्थिति संभलते नहीं देख सदन की कार्यवाही साढ़े तीन बजे तक के लिए स्थगित कर दी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.