पटना: कॉलेज ऑफ कॉमर्स की नैक मान्यता हुई समाप्त, एक्सटेंशन के लिए यूजीसी को भेजा आवेदन

0
28

 पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय के कॉलेज ऑफ कॉमर्स, आर्ट्स एंड साइंस की नैक मान्यता फरवरी में समाप्त हो गयी. कोरोना महामारी को देखते हुए कॉलेज के द्वारा छह महीने का एक्सटेंशन मांगा गया है. साथ ही कॉलेज एक बार फिर से अच्छा ग्रेड के लिए प्रयास कर रहा है.कॉलेज को पहले से नैक में ‘ए’ ग्रेड (3.1) मान्यता प्राप्त थी, जिसे वापस प्राप्त करने या उससे भी बेहतर ए प्लस प्लस ग्रेड के लिए कॉलेज प्रयासरत है. इससे पहले कॉलेज को दो बार नैक ग्रेडिंग प्राप्त हो चुकी है और यह तीसरा मौका होगा. कॉलेज का आइक्यूएसी (इंटर्नल क्वालिटी एसेसमेंट सेल) इसको लेकर काम कर रही है. कॉलेज को उम्मीद है कि पहले से भी अच्छा ग्रेड कॉलेज को प्राप्त होगा.

शहर के कई अन्य नामी कॉलेज की मान्यता भी समाप्ति पर
सिर्फ कॉलेज ऑफ कॉमर्स ही नहीं, शहर के कई अन्य कॉलेज की मान्यता भी इसी वर्ष या अगले वर्ष तक समाप्त हो रही है. संत जेवियर कॉलेज ऑफ एजुकेशन, आरपीएस कॉलेज, गवर्नमेंट संस्कृत कॉलेज, मिरजा गालिब टीचर ट्रेनिंग कॉलेज समेत पटना आसपास क्षेत्र के कई कॉलेजों की मान्यता भी इस वर्ष समाप्त हो रही है. आरकेडी कॉलेज, टीपीएस कॉलेज की पिछले वर्ष ही मान्यता समाप्त हो गयी है. पीयू में पटना ट्रेनिंग कॉलेज, बीएन कॉलेज, वाणिज्य कॉलेज, आर्ट कॉलेज आदि नैक के लिए प्रयासरत हैं.

इस वर्ष 35 कॉलेजों की समाप्त हो जायेगी मान्यता
राज्य से इस वर्ष सिर्फ 35 कॉलेजों की मान्यता समाप्त हो रही है. अगले वर्ष 59 कॉलेजों की मान्यता समाप्त हो रही है. फिलहाल 263 में सिर्फ 106 कॉलेज को ही नैक की मान्यता प्राप्त है. हालांकि दूसरी ओर नैक को लेकर कॉलेज प्रयासरत भी हैं. अभी हाल में बीएन कॉलेज में नैक टीम का विजिट हुआ है. कई कॉलेजों को अपना एसएसआर अपलोड करना है और वे इसकी तैयारी में हैं.

कॉलेज ऑफ कॉमर्स, आर्ट्स एंड साइंस के प्राचार्य प्रो तपन कुमार शांडिल्य ने कहा कि कोरोना से भी इन कॉलेजों की तैयारियों को झटका लगा है. कुछ कारण से अब तक सेल्फ स्टडी रिपोर्ट अपलोड नहीं हो सका है. कॉलेज जोर-शोर से इसके लिए तैयारी कर रहा है. सभी सात मानकों पर कॉलेज ध्यान दे रहा है, ताकि कॉलेज को पहले से भी बेहतर ग्रेड मिले.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.