पटना: अघोषित आपात काल और संविधान दमनकारी नीति चला रही है केन्द्र सरकार: राजद

0
32

आज राष्ट्रीय जनता दल के प्रदेश कार्यालय में 74 के छात्र आन्दोलन की
47वीं वर्षगाठ के अवसर पर एक संकल्प सभा और विचार गोष्ठी का आयोजन किया
गया जिसमें इस बात का संकल्प लिया गया कि देश में आज लोकतंत्र पर गंभीर
खतरा उपस्थित हो गया है। आज ऐसी सरकार दिल्ली की गद्दी पर बैठी है जिसका
यकीन न तो लोकतंत्र में है और न ही संविधान में। सरकार की नीतियों की
अलोचना को देशद्रोह करार दिया जा रहा है। लंबे समय से देश के किसान
आन्दोलन कर रहे हैं। कृषि को काॅरपोरेट सेक्टर के हाथों में सौंपने वाला
कानून बना दिया गया है। बिहार में भी केन्द्र सरकार की अनुकरण करने वाली
सरकार गद्दी पर बैठी है, भ्रष्टाचार यहां चरम पर है, बेरोजगारी, महंगाई
और गरीबी से जनता त्रस्त है।
इस पृष्ठभूमि में आज 18 मार्च के ऐतिहासिक दिवस पर हम संकल्प लेते हैं कि
लोकतंत्र तथा संविधान विरोधी सरकार जिसकी गलत नीतियों के चलते देश का
अवाम महंगाई, बेरोजगारी, गरीबी से कराह रहा है, किसान बेचैन है। ऐसी
सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए हम जनता को गोलबंद कर जनआन्दोलन की शुरूआत
करेंगे। इस विचार गोष्ठी की अध्यक्षता राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय
उपाध्यक्ष श्री शिवानंद तिवारी ने की जबकि संचालन प्रदेश प्रवक्ता
चितरंजन गगन ने की। वहीं स्वागत राष्ट्रीय जनता दल के प्रधान महासचिव
आलोक कुमार मेहता एवं धन्यवाद ज्ञापन प्रदेश महासचिव भाई अरूण कुमार ने
किया तथा संकल्प को पढ़ने का काम बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष
अशोक कुमार गुप्ता ने किया।
अपने अध्यक्षीय संबोधन में श्विानंद तिवारी ने कहा कि भारतीय
संविधान में बाबा साहब ने जो बातें कही थी कि जिस दल और समाज में भक्ति आ
जायेगा उसका बर्बाद होना तय है और आज भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाली
केन्द्र सरकार मोदी भक्ति में लीन है, जिस कारण लोग महंगाई, बेरोजगारी,
भ्रष्टाचार, समाज में महिलाओं पर हो रहे अत्याचार तथा हर स्तर पर नीति और
सिद्धांतों को त्याग कर भक्ति में लीन रहने वाले लोग देश का नुकसान कर
रहे हैं, जिसका खामियाजा आने वाले समय में सभी लोगों को भोगना होगा।
महात्मा गांधी के हत्या के बाद सरदार पटेल ने आरएसएस पर प्रतिबंध लगाया
था लेकिन आज उसी आरएसएस की विचारधारा पर केन्द्र और अन्य राज्यों में
सरकारें चल रही है जिसके कारण देश को काफी नुकसान हो रहा है। जे0 पी0
आन्दोलन पर जिन लोगों को भरोसा था उनलोगों ने इमरजेंसी का विरोध इसलिए
किया कि उससे देश और समाज को बचाया जा सके। लेकिन आज देश में अघोषित
आपातकाल लगाकर सभी वर्गों का और सभी क्षेत्रों में काम करने वाले लोगों
का अधिकार छीना जा रहा है। इसके खिलाफ फिर से जे0 पी0 जैसे आन्दोलन को
खड़ा करने के लिए हमसभी को सार्थक प्रयास करना होगा।
पूर्व स्वास्थ्य मंत्री और छात्र राजद के राष्ट्रीय संरक्षक तेज प्रताप
यादव ने कहा कि छात्र आन्दोलन की शुरूआत हमारे पिता लालू प्रसाद जी
ने की थी और उन्होंने उस आन्दोलन से समाज को संघर्ष और समझौता नहीं करने
की सीख दी थी। साथ हीं उस समय महंगाई, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार के मुद्दूे
पर जनआन्दोलन खड़ा किया जिस कारण लोकनायक जयप्रकाश ने लालू प्रसाद को
नेतृत्व देने का काम किया। आज फिर से बिहार में समाजिक न्याय की
विचारधारा से प्रभावित लोगों को एकजुट होकर जे0 पी0 की तरह महंगाई,
भ्रष्टाचार, लूट, हत्या, महिलाओं पर अत्याचार, शराब के आड़ में चल रही
माफियागिरी के खिलाफ मजबूती से लड़ने का संकल्प लेना होगा और इसके लिए
छात्र और युवाओं को आगे आकर संघर्ष और आन्दोलन का नेतृत्व संभालना होगा
क्योंकि डबल इंजन की सरकार पूरी तरह से फेल हो चुकी है।
राष्ट्रीय प्रधान महासचिवअब्दुलबारी सिद्दिकी ने जे0 पी0 आन्दोलन
के सेनानियों को याद करते हुए कहा कि उनके बलिदान और योगदान के कारण ही
देश में लोकतंत्र की पुर्नस्थापना हुई और उन्होंने जे0 पी0 आन्दोलन के
स्मृति को याद करते हुए कहा कि उन्होंने हमेशा ईमानदारी और शिष्टाचार की
राजनीति को तरजीह दी। साथ हीं समाजिक सद्भाव पर जोर दिया। उन्होंने कभी
भी समाज में धर्म और जाति के नाम पर राजनीति करने वालों को बढ़ावा नहीं
दिया जिस कारण जे0 पी0 आन्दोलन से निकले हुए नेता समाज के सभी वर्गों का
हमेशा ख्याल करते रहे हैं और देश की संविधान में निहित व्यवस्था में सभी
वर्गों को साथ लेकर चलने का संकल्प लेने की आवश्यकता है। इन्होंने युवाओं
और छात्रों से कहा कि जे0 पी0 की प्रासंगिकता तभी साकार हो सकती है जब हम
उनके बताये मार्गों पर दो कदम भी आगे चलने के प्रति संकल्पित हो।
राष्ट्रीय महासचिव श्याम रजक ने कहा कि आज देश में भ्रष्टाचार,
बेरोजगारी, महंगाई, शैक्षणिक अनियमितता के कारण हाहाकार की स्थिति है।
जिन छात्र और नौजवानों ने अपने प्राणों की आहूति देकर आन्दोलन को परवान
चढ़ाया उनके लिए हमसभी को आज एकजुट होकर आन्दोलन की पृष्ठभूमि को आगे
बढ़ाना होगा और राजनीतिक कुव्यवस्था के खिलाफ दृढ़संकल्प होकर आगे बढ़ना
होगा। इन्होंने जे0 पी0 आन्दोलन के सेनानियों को याद करते हुए उनके प्रति
श्रद्धांजलि अर्पित की।
पूर्व केन्द्रीय कांति सिंह ने कहा कि जे0 पी0 आन्दोलन की
प्रासंगिकता तभी सार्थक होगी जब समाज महिलाओं को मान-सम्मान देने का
कार्य करेगा।
इस अवसर पर पूर्व मंत्री अशोक कुमार सिंह, शिवचन्द्र राम, प्रदेश
उपाध्यक्ष सलीम परवेज, पूर्व सांसद राजनीति प्रसाद, विधायक रणविजय साहू,
सुदय यादव, मंजू अग्रवाल, दिलीप यादव, रामाशीष यादव, प्रदेश महासचिव
फैयाज आलम कमाल, धर्मेन्द्र पटेल, मुजफ्फर हुसैन राही, ददन सिंह, एजाज
अहमद, मो0 कारी सोहैब, आकाश यादव, पूर्व विधायक आजाद गांधी, चन्देश्वर
प्रसाद सिंह, निराला यादव, डाॅ0 पे्रम कुमार गुप्ता, निर्भय अम्बेदकर,
सरदार रंजीत सिंह, प्रमोद कुमार राम, डाॅ0 कुमार राहुल सिंह, संजय यादव,
प्रो0 सेवा यादव, सारिका पासवान, मधु मंजरी, अनिल कुमार साधु, बिनोद
श्रीवास्तव, सुबोध राय, अरविन्द कुमार सहनी सहित अन्य उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.