बजट सत्र; RJD MLC ने कॉलेज के डीन को बताया चरित्रहीन, सभापति से कहा-12-1 बजे रात को महिला प्रोफेसरों से बतियाते हैं

0
67

गुरूवार को बिहार विधान परिषद में पशु विज्ञान विश्वविद्यालय का मामला जोरशोर के साथ उठा. राजद के एमएलसी ने वीसी पर अनियमितता का आरोप लगाया. सदन में RJD MLC सुनील सिंह ने वेटनरी कॉलेज के डीन पर चरित्रहीन होने का आरोप लगाते हुए कहा कि वह आधीरात को 12-1 बजे महिला प्रोफेसरों से देर तक बतियाते हैं. इस मामले में सभापति अवधेश नारायण सिंह ने मंत्री मुकेश सहनी से एक सप्‍ताह में रिपोर्ट मांगा है.

गुरूवार को बिहार विधान परिषद में राजद एमएलसी सुनील कुमार सिंह संजय गांधी गव्य संस्थान के डीन प्रोफेसर डॉ बलबीर सिंह बेनीवाल पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि बीएस बेनीवाल की नियुक्ति गलत तरीके से की गई है. बीएस बेनीवाल देर रात 12-1 बजे महिला प्रोफेसरों से बात करते हैं. सुनील कुमार सिंह ने कहा कि डॉ. बेनीवाल पर पूर्व के कार्य स्थलों में चरित्र हनन और भ्रष्टाचार के कई आरोप हैं. सुनील सिंह ने भरे सदन में इस आरोप से संबंधित प्रमाण भी देने को कहा. जब सुनील सिंह यह आरोप लगा रहे थे तब इसबात पर सभापति अवधेश नारायण सिंह ने कहा कि कौन है, जो रात में महिला प्रोफेसरों से बात करता है? इस पर सुनील कुमार सिंह ने सबके सामने डॉ बीएस बेनीवाल का नाम सार्वजनिक कर दिया.

विधान परिषद में ध्यानाकर्षण के दौरान आरजेडी एमएलसी सुनील सिंह ने पशु एवं मत्स्य विभाग से जुड़े कई अन्य सवाल भी किये. सुनील सिंह ने कहा कि तत्कालीन मंत्री ने 2019 में बिहार पशु विज्ञान विश्वविद्यालय के कुलपति पर लगाए अराजकता और भ्रष्टाचार के आरोप की जांच के लिए निदेशक पशुपालन को प्राधिकृत किया था और एक सप्ताह में जांच प्रतिवेदन देने का निर्देश दिया था, लेकिन अभी तक जांच प्रक्रिया लंबित है.

इस मामले में कुलपति द्वारा बिना सरकार की पूर्व अनुमति के लगभग 14 करोड़ का अंडर ग्राउंड केबुल का कार्य और एनाटॉमी विभाग में 86 लाख रुपये की मशीन खरीदारी वित्तीय नियमों का पालन न करते हुए की गई है. कुलपति द्वारा पूर्व कुलसचिव डॉ. पीके कपूर और संजय गांधी गव्य संस्थान के अधिष्ठाता डॉ. बीएस बेनीवाल की नियुक्ति गलत तरीके से की गई है.

विधान परिषद में ध्यानाकर्षण के दौरान राजद के अन्य सदस्यों रामचंद्र पूर्वे, रामबली सिंह और मो  फारूक ने भी कॉलेज के कुलपति के द्वारा की गई अनियमितता की जांच करने करने की मांग की. नेताओं के प्रश्न के जवाब में मंत्री मुकेश सहनी ने कहा कि कानूनी सलाह प्राप्त की जा रही है. महाधिवक्ता ने परामर्श दिया है कि आरोप की जांच कुलाधिपति से कराई जा सकती है. 

मंत्री मुकेश सहनी यह भी कहा कि एक सप्ताह के अंदर जांच कराकर उसे राज्यपाल के पास भेजा जाएगा. इस मामले में विधान परिषद सभापति अवधेश नारायण सिंह ने निर्देश दिया कि जांच कराकर 23 तारीख को सदन में मंत्री इसका उत्तर दें. जिनके नाम गड़बड़ी करने में सामने आ रहे हैं उन लोगों पर प्राथमिकी भी दर्ज करें.

मंत्री मुकेश सहनी ने सदन में यह भी कहा कि संजय गांधी गव्य संस्थान के डीन प्रोफेसर डॉ बलबीर सिंह बेनीवाल पर गंभीर आरोपों की भी जांच की जाएगी. पदाधिकारी द्वारा महिला प्रोफेसरों से रात में बात करने के मामले की जांच करा उचित कार्रवाई की जाएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.