कैसा आइसोलेशन? ट्रैवल किया, अफसरों से मिले और गेस्ट हाउस गए अनिल देशमुख, फडणवीस ने सबूत देकर उठाए सवाल

0
34

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ‘वसूली कांड’ को लेकर उद्धव सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा है कि एंटीलिया केस में कई गंभीर बातें सामने आई हैं। अनिल देशमुख के बचाव किए जाने को लेकर फडणवीस ने एनसीपी चीफ शरद पवार पर भी परोक्ष रूप से निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि शरद पवार ने देशमुख के पक्ष में जो प्रमाण दिखाए थे अब उन पर ही सवाल खड़े होने लगे हैं। फडणवीस ने यह भी कहा कि इस पूरे मामले में कई वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के नाम सामने आए हैं। उन्होंने कहा कि वह आज दिल्ली जाकर गृह सचिव से मामले की सीबीआई जांच किए जाने की मांग करेंगे।

पूर्व सीएम ने कहा कि एनसीपी चीफ शरद पवार ने भले ही महाराष्ट्र के गृह मंत्री और अपनी पार्टी के नेता अनिल देशमुख के बचाव में सोमवार को अस्पताल का पर्चा दिखाया था, लेकिन उनके इस ‘प्रमाण’ पर ही सवाल उठने लगे हैं। पहले तो अनिल देशमुख के 15 फरवरी को प्रेस कॉन्फ्रेंस की बात सामने आई थी, लेकिन इस पर खुद होम मिनिस्टर ने सामने आकर कहा था कि मैंने अस्पताल से निकलकर बात की थी। लेकिन विवाद यही नहीं थमा और उनका एयर टिकट वायरल होने लगा, जिसके मुताबिक उन्होंने नागपुर से मुंबई का सफर चार्टर्ड प्लेन से किया था। अब बीजेपी लीडर देवेंद्र फडणवीस ने उन पर गंभीर आरोप लगाए हैं और शरद पवार पर भी निशाना साधा है। देवेंद्र फडणवीस का कहना है कि चार्टर्ड प्लेन से अनिल देशमुख ने नागपुर से मुंबई का सफर 15 फरवरी को किया था। 

इसके अलावा अनिल देशमुख 16 से 27 फरवरी के दौरान होम आइसोलेशन में भी नहीं थे। देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि मेरे पास पेन ड्राइव में पूरा डेटा भी है, जो 3.6 जीबी का है। देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि वह पूरे मामले की सीबीआई से जांच की मांग करेंगे और इस संबंध में दिल्ली जाकर गृह सचिव से मुलाकात करेंगे।

हिंदी न्यूज़   ›   महाराष्ट्र   ›   कैसा आइसोलेशन? ट्रैवल किया, अफसरों से मिले और गेस्ट हाउस गए अनिल देशमुख, फडणवीस ने सबूत देकर उठाए सवाल

कैसा आइसोलेशन? ट्रैवल किया, अफसरों से मिले और गेस्ट हाउस गए अनिल देशमुख, फडणवीस ने सबूत देकर उठाए सवाल

लाइव हिन्दुस्तान टीम,मुंबई | Published By: Priyanka

devendra fadanvis

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ‘वसूली कांड’ को लेकर उद्धव सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा है कि एंटीलिया केस में कई गंभीर बातें सामने आई हैं। अनिल देशमुख के बचाव किए जाने को लेकर फडणवीस ने एनसीपी चीफ शरद पवार पर भी परोक्ष रूप से निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि शरद पवार ने देशमुख के पक्ष में जो प्रमाण दिखाए थे अब उन पर ही सवाल खड़े होने लगे हैं। फडणवीस ने यह भी कहा कि इस पूरे मामले में कई वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के नाम सामने आए हैं। उन्होंने कहा कि वह आज दिल्ली जाकर गृह सचिव से मामले की सीबीआई जांच किए जाने की मांग करेंगे।

पूर्व सीएम ने कहा कि एनसीपी चीफ शरद पवार ने भले ही महाराष्ट्र के गृह मंत्री और अपनी पार्टी के नेता अनिल देशमुख के बचाव में सोमवार को अस्पताल का पर्चा दिखाया था, लेकिन उनके इस ‘प्रमाण’ पर ही सवाल उठने लगे हैं। पहले तो अनिल देशमुख के 15 फरवरी को प्रेस कॉन्फ्रेंस की बात सामने आई थी, लेकिन इस पर खुद होम मिनिस्टर ने सामने आकर कहा था कि मैंने अस्पताल से निकलकर बात की थी। लेकिन विवाद यही नहीं थमा और उनका एयर टिकट वायरल होने लगा, जिसके मुताबिक उन्होंने नागपुर से मुंबई का सफर चार्टर्ड प्लेन से किया था। अब बीजेपी लीडर देवेंद्र फडणवीस ने उन पर गंभीर आरोप लगाए हैं और शरद पवार पर भी निशाना साधा है। देवेंद्र फडणवीस का कहना है कि चार्टर्ड प्लेन से अनिल देशमुख ने नागपुर से मुंबई का सफर 15 फरवरी को किया था। 

इसके अलावा अनिल देशमुख 16 से 27 फरवरी के दौरान होम आइसोलेशन में भी नहीं थे। देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि मेरे पास पेन ड्राइव में पूरा डेटा भी है, जो 3.6 जीबी का है। देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि वह पूरे मामले की सीबीआई से जांच की मांग करेंगे और इस संबंध में दिल्ली जाकर गृह सचिव से मुलाकात करेंगे।

हालांकि, फडणवीस ने शरद पवार पर सीधे तौर पर निशाना नहीं साधा, लेकिन कहा कि एनसीपी की ओर से उन्हें गलत जानकारी दी गई थी और उनके मुंह से गलत बातें करवाई गईं। उन्होंने बताया, ‘पुलिस के पास मौजूद वीआईपी मूवमेंट के रिकॉर्ड के मुताबिक अनिल देशमुख 17 फरवरी को शायदरी गेस्ट हाउस गए थे और 24 फरवरी को मंत्रालय। वह 15 से 27 फरवरी तक होम क्वॉरंटीन में थे और अधिकारियों से मिले, वह आइसोलेशन में नहीं थे। मुझे लगता है पवार साहब को गलत जानकारी दी गई।’

इसके अलावा पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मामले में कुछ और सीनियर पुलिस अधिकारियों का नाम सामने आया है। इसलिए पूरे मामले की जानकारी सीबीआई से ही कराई जानी चाहिए।

ट्रांसफर-पोस्टिंग रैकेट का भी मुद्दा उठाया
महाराष्ट्र विधानसभा में बीजेपी के नेता देवेंद्र फडणवीस ने गृह सचिव से मिलने के लिए समय मांगा है। इस दौरान वह उन्हें आईपीएस-गैर आईपीएस अधिकारियों के ट्रांसफर-पोस्टिंग रैकेट से जुड़ी कुछ कॉल रिकॉर्डिंग्स और दस्तावेज सौपेंगे। 

आरपीआई नेता रामदा आठवले ने भी की सीबीआई जांच की मांग

आरपीआई के नेता रामदास आठवले ने भी सीबीआई जांच की मांग की है। उन्होंने कहा कि शरद पवार को तुरंत ही देशमुख का इस्तीफा लेना चाहिए। उद्धव ठाकरे को इस तरह के होम मिनिस्टर को अपनी कैबिनेट में नहीं रखना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.