पटना: युवा राजद के विधानसभा घेराव कार्यक्रम को लेकर राजधानी में चप्पे-चप्पे पर मजिस्ट्रेट और पुलिस तैनात

0
35

राजद की ओर से आज यानी 23 मार्च को बिहार विधानसभा घेराव कार्यक्रम को देखते हुए जिला प्रशासन ने शहर के प्रमुख चौक-चौराहों पर मजिस्ट्रेट एवं पुलिस बल की तैनाती की है। खासकर विधानसभा के आसपास के इलाके में विशेष चौकसी बरती जाएगी। 

डीएम डॉ. चंद्रशेखर सिंह के निर्देश पर पटना के जिन प्रमुख जगहों पर मजिस्ट्रेट एवं भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है, उसमें इनकम टैक्स, डाक बंगला, जेपी गोलंबर, रामगुलाम चौक, कारगिल चौक, हड़ताली मोड़, सचिवालय मोड़, आर ब्लॉक, गर्दनीबाग, हार्डिंग रोड आदि शामिल हैं। अधिकांश जगहों पर वज्र वाहन भी तैनात किए गए हैं ताकि किसी प्रकार की स्थिति से निपटा जा सके। अधिकारियों का कहना है कि सभी जगहों पर सुबह 9:00 बजे से ही मजिस्ट्रेट एवं पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। आम लोगों को किसी प्रकार की परेशानी न हो तथा यातायात सुगम तरीके से चले, इसकी पूरी व्यवस्था की गई है।

बता दें कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव के नेतृत्व में युवा राजद का आज बेरोजगारी, कानून व्यवस्था, महंगाई, भ्रष्टाचार, शिक्षा, स्वास्थ्य, संविदाकर्मी, शिक्षक अभ्यर्थियों की नियुक्ति सहित अन्य मुद्दों को लेकर विधानसभा का घेराव कार्यक्रम है। तेजस्वी यादव ने इस घेराव को लेकर सोमवार को ट्वीट कर आह्वान किया कि रुकना नहीं, थमना नहीं, निरंकुश सत्ता के समक्ष झुकना नहीं। उन्होंने कहा कि हम राजद के साथियों संग बेरोजगारी व अन्य मुद्दों के साथ बिहार विशेष सशस्त्र पुलिस विधेक के गठन के विरोध में विधानसभा का घेराव करेंगे।

युवा राजद के प्रदेश प्रवक्ता अरुण कुमार यादव के अनुसार इस घेराव कार्यक्रम में भाग लेने के लिए सुबह 10 बजे से कार्यकर्ताओं का जुटान जेपी गोलंबर, गांधी मैदान पर होगा। पूर्वाह्न 11.30 बजे नेता प्रतिपक्ष के नेतृत्व में विधानसभा घेराव के लिए मार्च शुरू होगा। उन्होंने इस घेराव कार्यक्रम में हजारों लोगों की भागीदारी का दावा किया है। युवा राजद प्रवक्ता ने आरोप लगाया कि सरकार के इशारे पर पार्टीजनों द्वारा लगाए गए पोस्टर-बैनर हटवा दिए गए हैं। युवा राजद के प्रदेश अध्यक्ष मो. कारी सोहैब ने विधानसभा घेराव कार्यक्रम के ऐतिहासिक होने की बात कही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.