ठेला पर मिठाई बेचने वाले की बेटी सोनाली बनी साइंस की स्टेट टॉपर, बिना कोचिंग-ट्यूशन के कैसे हुई सफल?

0
33

मेहनत किसी की भी बेकार नहीं जाती और न ही शिक्षा का अलख सिर्फ दौलतमंदों के घर में जलता है बल्कि जो मेहनत करता है, कामयाबी उसी के कदम चूमती है। इस बात को इंटरमीडिएट के आए रिजल्ट ने एक बार फिर साबित कर दिया। इंटर परीक्षा के रिजल्ट में साइंस में स्टेट टॉपर बनीं सोनाली कुमारी की कहानी काफी प्रेरणादायक है। सोनाली के पिता चुन्नू लाल बिहारशरीफ शहर के रामचन्द्र बस स्टैंड में ठेला पर झिल्ली (एक तरह की मिठाई) बेचते हैं। 

सोनाली की सफलता में एक खास राज छुपा है। सोनाली की यह सफलता इसलिए भी काफी मायने रखती है, क्योंकि उसने कभी कोचिंग या ट्यूशन का सहारा नहीं लिया। सोनाली ने इंटर में 471 अंक (94.2 प्रतिशत)  लाकर ज़िले का नाम रोशन किया है। सोनाली अब यूपीएससी की तैयारी करेगी और आईएएस बनकर समाज की सेवा करना चाहती है। तीन भाई-बहनों में दूसरे नम्बर पर रहने वाली सोनाली मैट्रिक परीक्षा में ज़िले में चौथे स्थान पर रही थी।

साइंस टॉपर सोनाली ने बताया कि पहली से लेकर मैट्रिक तक उनकी पढ़ाई स्कूल और घर में हुई है। सरकारी स्कूलों में नामांकन भले करवा लिया था। मगर वे हमेशा घर पर रहकर ही तैयारी करती रही। उसने बताया कि उसकी बड़ी बहन सुरभि कुमारी शहर के नालन्दा कॉलेज में बीएससी पार्ट वन की छात्रा है, जबकि मां गृहिणी हैं।

बता देंकि बिहार बोर्ड ने शुक्रवार को इंटर परीक्षा का रिजल्ट जारी कर दिया। विद्यार्थी onlinebseb.in व biharboardonline.bihar.gov.in के अलावा livehindustan.com पर अपना रिजल्ट चेक कर सकते हैं। कुल पास प्रतिशत 78.04 फीसदी रहा। आर्ट्स में 77.97 फीसदी, कॉमर्स में 91.48 फीसदी और विज्ञान में 76.28 फीसदी स्टूडेंट्स पास हुए। आर्ट्स में मधु भारती और कैलाश कुमार ने 463 अंकों के साथ संयुक्त रूप से टॉप किया।  कॉमर्स में सुगंधा कुमारी ने 471 अंकों और साइंस में सोनाली कुमारी ने 471 अंकों के साथ टॉप किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.