दिखने लगा भारत बंद का असर : मंत्री संजय झा का काफिला बंद में फंसा, दरभंगा में ट्रेन रोकी गई

0
83

तीनों कृषि कानून के विरोध में संयुक्त किसान मोर्चा के भारत बंद और महागठबंधन की तरफ से आज बुलाए गए बिहार बंद का असर सुबह से ही दिखने लगा है. राज्य के अलग-अलग इलाकों से आ रही खबरों के मुताबिक बंद समर्थक के सुबह से ही सड़क पर नजर आ रहे हैं. बंद समर्थकों ने सड़क और रेल दोनों यातायात को अपने निशाने पर लिया है.

वैशाली में आरजेडी समर्थकों ने सुबह सवेरे NH-22 को जाम कर दिया, जिससे यातायात बाधित हो गया. बंद की वजह से नीतीश कैबिनेट के मंत्री संजय कुमार झा का काफिला भी जाम में फंस गया है. उधर दरभंगा में बंद समर्थकों ने ट्रेन यातायात को बाधित किया है. भाकपा माले के कार्यकर्ताओं ने लहरिया सराय स्टेशन पर जानकी एक्सप्रेस को रोका है.

आरजेडी विधायक मुकेश रोशन सुबह सवेरे हाजीपुर में सड़क पर अपने समर्थकों के साथ उतरे हुए नजर आए हैं, जबकि जहानाबाद में भी आरजेडी कार्यकर्ता बड़ी संख्या में सड़क पर उतरकर बंद को सफल बनाने में जुटे हुए हैं. जहानाबाद में पटना गया मुख्य सड़क को बंद समर्थकों ने जाम कर दिया है nh-83 और एनएच 110 को ठप कर दिया गया है.

वहीं देश के कई हिस्सों में भारत बंद का असर देखने को मिल रहा है, लेकिन सबसे ज्यादा प्रभाव दिल्ली के आसपास के इलाकों और हरियाणा-पंजाब में ही दिखा है। किसान संगठनों ने चुनावी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेश पुडुचेरी में बंद से अलग रखा है। संयुक्त किसान मोर्चा के अनुसार, देशव्यापी बंद सुबह 6 बजे शुरू हुआ और यह शाम 6 बजे तक लागू रहेगा।दिल्ली, हरियाणा से लेकर पंजाब तक किसान आंदोलनकारियों ने 31 स्थानों पर रेलवे ट्रैक्स को जाम कर दिया है। इसके चलते दिल्ली, अंबाला और फिरोजपुर रेलवे मंडल में ट्रेनों का संचालन प्रभावित है। रेलवे ने भारत बंद को देखते हुए 4 शताब्दी ट्रेनों का संचालन रद्द कर दिया है।अंबाला में भी किसानों ने रेल ट्रैक जाम कर दिया है। इसके चलते करनाल रेलवे स्टेशन पर बड़ी संख्या में यात्री फंस गए हैं। दिल्ली की एक महिला यात्री ने कहा कि वह वैष्णोदेवी दर्शन के लिए जा रही थीं, लेकिन अब ट्रेन रुकने की वजह से फंस गई हैं। उन्होंने कहा कि भारत बंद की स्थिति में सरकार को आज ट्रेनों का संचालन ही नहीं करना चाहिए था।

इसके अलावा कई शहरों में किसानों ने जिलों को जोड़ने वाली सड़कों को बंद कर दिया है। लोगों को छोटे लिंक रोड्स के जरिए सफर करना पड़ रहा है। फतेहाबाद-चंडीगढ़ मार्ग भी किसानों ने रोक दिया है।

संयुक्त किसान मोर्चा के भारत बंद का हरियाणा में काफी असर दिख रहा है। सूबे के छोटे कस्बों में भी बंद प्रभावी नजर आ रहा है। राज्य की सब्जी मंडियों, बाजार और सड़कें खाली दिखाई दिए। किसान सब्जियां बेचने के लिए मंडी नहीं पहुंचे और खरीददारों को वापस लौटना पड़ा। एक खरीददार ने बताया कि वह कुरुक्षेत्र की लडवा सब्जी मंडी गए थे, लेकिन वहां कुछ नहीं मिल सका। सब कुछ बंद है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.