दिल्ली में हुआ कोरोना का ‘बड़ा’ विस्फोट, 24 घंटे में करीब 2800 नए मामले, 9 और मरीजों की मौत

0
65

दिल्ली में लंबे समय बाद आज एक बार फिर कोरोना (COVID-19) का ‘बड़ा’ विस्फोट देखने को मिला है। गुरुवार को कोरोना के करीब 2800 नए मामले सामने आने से हड़कंप मच गया है। आज 9 और मौतों के साथ ही मृतकों की संख्या 11036 पर पहुंच गई है, जबकि संक्रमित मरीजों का कुल आंकड़ा बढ़कर 6.65 लाख को पार कर गया है। इसके साथ ही अब पॉजिटिविटी रेट भी बढ़कर 3.57 फीसदी पर आ गया है। बुधवार को 1819मरीजों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई थी।

दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग की ओर से गुरुवार को जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार, बीते 24 घंटे में जहां कोरोना के 2790 नए मरीज मिले हैं, वहीं 9 और मरीजों की मौत हुई है। वहीं आज 1121 मरीज कोरोना मुक्त होकर अपने घरों को भी लौट गए, जबकि कल यह संख्या 399 थी। स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि दिल्ली में अब तक संक्रमितों की कुल संख्या 6,65,220 हो गई है। वहीं आज 5698 मरीज होम आइसोलेशन में हैं।

राजधानी में अब कोरोना वायरस संक्रमण के एक्टिव केस भी बढ़कर 10,498 हो गए हैं। वहीं, अब तक कुल 6,43,686 मरीज इस महामारी को मात देकर कोरोना मुक्त हो चुके हैं। इसके साथ ही अब तक मरने वालों की संख्या 11,036 हो गई है।

दिल्ली स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, आज दिल्ली में कुल 78,073 टेस्ट किए गए हैं। इनमें से 47,026 आरटीपीआर/ सीबीएनएएटी / ट्रूनैट टेस्ट और 31,047 रैपिड एंटीजन टेस्ट किए गए। दिल्ली में अब तक कुल 14,653,735 जांचें हुई हैं और प्रति 10 लाख लोगों पर 7,71,249 टेस्ट किए गए हैं। इसके साथ ही अब दिल्ली में आज 174 से अधिक नए कंटेनमेंट जोन बनाए जाने के बाद इनकी संख्या भी बढ़कर 2183 पर पहुंच गई है, जबकि बुधवार को इनकी संख्या 2009 थी।

दिल्ली में एक बार फिर बेकाबू होते कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनजर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को एक इमरजेंसी बैठक बुलाई है। बैठक में स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के साथ ही कई वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहेंगे। बता दें कि पिछले कुछ दिनों से दिल्ली में संक्रमण की दर तीन प्रतिशत के आसपास है, जबकि कई राज्यों में यह 10 प्रतिशत से ज्यादा हो गई है।

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बुधवार को कहा था कि राज्य सरकार ने 33 निजी अस्पतालों में कोविड-19 मरीजों के लिए 220 और आईसीयू बेड्स बढ़ाने के आदेश जारी किए गए हैं। उन्होंने बताया कि इन अस्पतालों में गैर आईसीयू बेड्स की संख्या 838 तक बढ़ाई जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.