पहले से ज्यादा खतरनाक है कोरोना का नया स्ट्रेन, जानिए कोविड के नए लक्षण

0
43

देश में कोरोना का संक्रमण फिर तेजी से अपने पैर पसारता जा रहा है। कोरोना की दूसरी लहर पहले से ज्यादा तेजी से फैल रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश के 18 राज्यों में कोरोना के नए स्ट्रेन की पुष्टि हुई है। लेकिन हैरान करने वाली बात ये है कि अब कोरोना के लक्षण तेजी से बदल रहे है, जो लोगों के लिए खतरनाक हो सकता है। इसलिए जरुरी है कि समय रहते इन लक्षणों को पहचान कर आसानी से इसका इलाज कर सके।

कई बार ऐसे मरीज भी आ रहे हैं जिनमें ये लक्षण नहीं है। लेकिन अगर आपको अपने शरीर में इनमें से एक भी लक्षण दिखे तो तुरंत चैक करवाना जरूरी है क्योंकि कोरोना का नया स्ट्रेन पहले हफ्ते में ही खतरनाक हो जाता है।

कोरोना पहले स्ट्रेन में बुखार, मुंह का स्वाद चला जाना, सांस लेने में समस्या, गले में खराश, सिरदर्द के लक्षण सामने आए थे। लेकिन ब्रिटेन की राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा के मुताबिक नए स्ट्रेन के कुछ लक्षण ये है। इसके अलावा स्वाद और गंध न पता चलना, गले में खराश और सीने में दर्द भी नए स्ट्रेन के लक्षण हो सकते हैं।

कोरोना के नए स्ट्रेन के लक्षण
बुखार

बदलते मौसम के कारण अधिकतर लोगों को बुखार की समस्या का सामना करना पड़ता है। लेकिन आपको बता दें कि यह कोरोना वायरस होने का भी कारण हो सकता है। अगर किसी व्यक्ति को अचानक तेज बुखार आ जाए और वह आसानी से उतरे तो एक बार जरूर डॉक्टर से संपर्क करें।

खांसी
कोरोना वायरस होने का यह एक लक्षण है। कुछ लोगों को सुखी खांसी की भी समस्या हो जाती है।

थकान
कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों को अधिक थकान भी समस्या हो जाती है। लेकिन जरूरी नहीं है कि वह उससे संक्रमित हो। कई बार अधिक काम, तनाव या फिर कमजोरी के कारण ऐसा हो जाता है।

सिरदर्द
कई बार ज्यादा काम, तनाव, धूप आदि के कारण भी सिरदर्द की समस्या हो जाती है। लेकिन आपको बता दें कि यह भी महामारी का ही एक लक्षण है। कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति के माथे और आंखों के ऊपर लगातार तेजी से दर्द बना रहता है।

डायरिया
कई ऐसे मामले सामने आए है जिन्हें डायरिया की समस्या का भी सामना करना पड़ा है। इसलिए अगर कोई डायरिया की समस्या का सामना कर रहा है तो कोरोना वायरस की जांच कराने को जरूर कहे।

मांसपेशियों में दर्द
अगर आपको बिना मेहनत किए मांसपेशियों में अधिक दर्द है तो आपको थोड़ा ध्यान देने की जरुरत है।

त्वचा पर रैशेज
कई मामले ऐसे भी सामने आ रहे है जिसमें स्किन में बिना एलर्जी के रैशेज पड़ रहे हैं।

अंगुलियों का रंग बदलना
कई लोगों को कोरोना वायरस से संक्रमण के कारण अंगुलियों का रंग भी बदल रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.