Corona Update: जानें- क्या है सिंगापुर वेरिएंट, जिसकी तीसरी लहर भारत में बच्चों पर डाल सकती है ज्यादा असर

0
77

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को कहा कि सिंगापुर में मिले नए स्ट्रेन से भारत में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर आ सकती है और यह बच्चों को अधिक प्रभावित करेगी। उन्होंने केंद्र सरकार से यह भी अपील की है कि सिंगापुर से विमानों की आवाजाही रोक दी जाए। दिल्ली के मुख्यमंत्री की ओर से यह आशंका जाहिर किए जाने के बाद से अभिभावकों की चिंताएं बढ़नी लाजिमी है, क्योंकि नया स्ट्रेन बच्चों को अधिक प्रभावित कर रहा है। सिंगापुर ने पहले दुनिया को सचेत कर दिया है।

कोरोना महामारी की शुरुआत के बाद से यह संक्रामक वायरस कई बार अपना रूप बदल चुका है। वैसे तो यह वायरस आमतौर पर बुजुर्गों और दूसरी बीमारियों से ग्रस्त लोगों पर कहर बनकर टूटा है, लेकिन सिंगापुर में जो इसका नया स्ट्रेन मिला है वह बच्चों को अधिक प्रभावित कर रहा है। रविवार को ही सिंगापुर ने नए वेरिएंट को लेकर चेतावनी जारी की और स्कूलों को बंद करने का आदेश दिया है।  

सिंगापुर के एजुकेशन मिनिस्टर चन चुन सिंग ने कहा, ”कुछ (वायरस) म्यूटेशन कहीं अधिक आक्रामक हैं और ऐसा लगता है कि ये छोटे बच्चों पर अधिक हमला कर रहे हैं।” हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि जो बच्चे संक्रमित पाए गए हैं, उनमें से कोई गंभीर रूप से बीमार नहीं है और कुछ को हल्के लक्षण हैं।

रविवार को सिंगापुर में सितंबर मध्य के बाद से सबसे अधिक 38 केस मिले, जिनमें से 17 का आपस में कोई संबंध नहीं है। संक्रमितों में 4 बच्चे भी शामिल हैं, जोकि एक ट्यूशन सेंटर में पढ़ते हैं। स्वास्थ्य मंत्री ओंग ये कुंग ने मेडिकल सर्विसेज के डायरेक्टर केनेथ माक का हवाला देते हुए कहा कि B1617 स्ट्रेन बच्चों को अधिक प्रभावित कर रहा है। यह अभी स्पष्ट नहीं है कि कितने बच्चे इससे संक्रमित हो चुके हैं। 

सिंगापुर में पिछले साल 61 हजार लोग संक्रमित हुए थे और 31 लोगों की मौत हुई थी। कई महीनों से ना के बराबर संक्रमित मिल रहे थे। लेकिन यहां अब दूसरी लहर की संभावना व्यक्त की जा रही है। करीब 57 लाख की आबादी वाले एशिया के ट्रेड हब में संक्रमितों की संख्या बढ़ने को लेकर चान ने कहा कि आवाजाही को बाधित करने की आवश्यकता पड़ सकती है।

भारत सरकार की नजर
नीति आयोग के सदस्य डॉ. वीके पॉल ने सिंगापुर स्ट्रेन को लेकर कहा, ”बच्चों में कोरोना संक्रमण को लेकर हम वेरिएंट को लेकर आ रही रिपोर्ट्स का परीक्षण कर रहे हैं। राहत की बात यह है कि उनमें संक्रमण गंभीर नहीं हो रहा है। हम इस पर नजर बनाए हुए हैं।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.