केंद्र सरकार ने प्राइवेट अस्पतालों के लिए तय किए वैक्सीन के दाम, रूसी स्पूतनिक-वी से महंगी है देसी कोवैक्सीन

0
83

प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना वैक्सीन की कीमतों को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से मंगलवार को नए दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं. इसके मुताबिक ऑक्सफओर्ड-एस्ट्राजेनिका की कोविशील्ड, भारत बायोटेक की तरफ से तैयार की गई कोवैक्सीन और रूस में बनी स्पूतनिक-V वैक्सीन के लिए प्राइवेट अस्पताल जीएसटी और सर्विस टैक्स मिलाकर भी उस निश्चित रकम से ज्यादा चार्ज नहीं कर सकता है. स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से बताया गया है कि कोविशील्ड के लिए अधिकतम 780 रुपये, कोवैक्सीन के लिए 1410 रुपये और स्पूतनिक वैक्सीन के लिए 1145 रुपये चार्ज किया जा सकता है.

150 रुपये से ज्यादा नहीं हो सकता सर्विस चार्ज

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि कोविड वैक्सीनेशन प्रोग्राम के लिए संशोधित गाइडलाइस 8 जून को जारी गई है. इसमें कहा गया कि सभी वैक्सीन निर्माताओं की तरफ से प्राइवेट अस्पतालों के लिए वैक्सीन की कीमत की घोषणा करनी होगी. अगर इसमें किसी तरह का बदलाव किया जाएगा तो उसे एडवांस में बताना होगा. प्राइवेट अस्पताल अधिकतम 150 रुपये सर्विस चार्ज के तौर पर सिंगल डोज का ले सकते हैं. राज्य सरकारें इन कीमतों पर निगरानी रख सकती हैं.

आगे बताया गया कि कोविशील्ड पर निर्माता कंपनी की तरफ से 600 रुपये का ऐलान किया गया है. इसके साथ ही 30 रुपये जीएसटी और सर्विस चार्ज 150 रुपये जोड़कर कुल इसकी कीमत 780 रुपये बनती है. इसी तरह कोवैक्सीन निर्माता ने 1200 रुपये इसकी कीमत का एलान किया है. 5 प्रतिशत की दर से 60 रुपये जीएसी और 150 रुपये सर्विस चार्ज मिलाकर इसकी कीमत 1410 बनती है. तो वहीं स्पूतनिक-वी के लिए निर्माता ने 948 रुपये कीमत रखी है. 47.40 रुपये जीएसटी और 150 रुपये सर्विस चार्ज मिलाकर कुल कीमत 1145 रुपये बनती है.

कोविशील्ड और कोवैक्सीन की 44 करोड़ खुराक के लिए आर्डर 

केंद्र सरकार ने मंगलवार को कहा कि उसने कोविड-19 रोधी टीकों – कोविशील्ड और कोवैक्सीन की 44 करोड़ खुराक के लिए आर्डर दिया है. एक दिन पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घोषणा की थी कि केंद्र राज्यों के खरीद कोटे को अपने हाथों में ले लेगा तथा 18 साल से अधिक आयु वर्ग के लोगों के लिए राज्यों को टीके मुफ्त उपलब्ध कराए जाएंगे. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि निर्माताओं द्वारा कोविड टीकों की इन 44 करोड़ खुराकों की आपूर्ति अगस्त और दिसंबर के बीच की जाएगी.

एक अधिकारी ने बताया कि राष्ट्रीय कोविड टीकाकरण कार्यक्रम के दिशा-निर्देशों में बदलाव की कल प्रधानमंत्री द्वारा घोषणा किए जाने के बाद केंद्र ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया को कोविशील्ड की 25 करोड़ खुराक तथा भारत बायोटेक को कोवैक्सीन की 19 करोड़ खुराक के लिए आर्डर दिया है. उन्होंने कहा, “इसके अतिरिक्त, दोनों कोविड टीकों की खरीद के लिए 30 प्रतिशत अग्रिम सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक को जारी कर दिए गए हैं.’’

अधिकारी ने कहा कि केंद्र इस साल 16 जनवरी से “सरकार के समग्र दृष्टिकोण” के तहत प्रभावी टीकाकरण अभियान के लिए राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के प्रयासों का समर्थन कर रहा है. केंद्र को मिले विभिन्न ज्ञापनों के के आधार पर, टीकाकरण रणनीति के तीसरे चरण 18 साल से अधिक आयु के सभी वयस्कों के लिए टीकाकरण एक मई से शुरू किया गया था. अधिकारी ने कहा, “अब देश भर में टीकाकरण अभियान को और अधिक व्यापक बनाने के मकसद के बीच, 18 साल से अधिक आयु के सभी नागरिक सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों में कोविड टीके की खुराक मुफ्त में ले सकते हैं.”

Corona Vaccine New Rates: प्राइवेट अस्पताल के लिए कोवैक्सीन, कोविशील्ड और स्पूतनिक वी वैक्सीन की कीमत तय, जानें नई दर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.