बिहार: 6 जिलों में बारिश को लेकर अलर्ट, बारिश के साथ वज्रपात और 30 से 40 की रफ्तार से चलेंगी हवाएं

0
64

मौसम विभाग का राज्य के सभी जिलों को लेकर अलर्ट है लेकिन गुरुवार को 6 जिलों में विशेष अलर्ट जारी किया गया है। इन जिलो में तेज रफ्तार में 30 से 40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने के साथ बारिश और वज्रपात का अलर्ट किया गया है। मौसम विभाग का कहना है कि पटना में भी मौसम बादलों वाला होगा जिससे हवाएं गर्मी में थोड़ा सा राहत देने वाली होंगे। हालांकि पटना में यह स्थिति दिन में बदलती रहेगी।

मानसून के आने से पहले बदल रहा मौसम

बिहार में मानसून के प्रवेश से पहले बारिश का सिस्टम सक्रिय हो गया है। मौसम विभाग ने बिहार के सभी हिस्सों में 13 जून तक बारिश के लिए अलर्ट जारी किया है। इस दौरान तेज हवा के साथ आंधी-तूफान,तीव्र वज्रपात और 6 से 32 एमएम तक बारिश होने का अंदेशा है।

इन जिलों को लेकर विशेष अलर्ट

गुरुवार को राज्य के जिन 6 जिलों को लेकर विशेष अलर्ट जारी किया गया है उसमें मुजफ्फरपुर, मधुबनी, सीतामढ़ी, वैेशाली, पूर्वी चंपारण और पश्चिमी चंपारण शामिल है। मौसम विभाग ने इन जिलों में तेज हवाओं जिसकी रफ्तार 30 से 40 किमी प्रति घंटा होगी के साथ वज्रपात और बारिया का अलर्ट किया है।

मानसून से पहले बारिश का सिस्टम एक्टिव

मौसम विभाग के मुताबिक मानसून बंगाल की खाड़ी से होते हुए 11 जून को ओडिसा, पश्चिम बंगाल में प्रवेश करेगी। जहां पर 13 जून तक झारखंड और फिर 15 जून तक बिहार पहुंचने की संभावना है। इस दौरान बारिश से पहले पटना, नालंदा, नवादा सहित बिहार के सभी हिस्सों में तेज बारिश होने की संभावना है। मौसम विभाग के अनुसार बंगाल की खाड़ी में नमीयुक्त हवा सक्रिय है। जो मानसून की गति प्रदान करने में सहायक है।

ट्रफ रेखा के सक्रिय होने से बदला मौसम

मौसम विभाग का कहना है कि एक ट्रफ रेखा उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड से होते हुए ओडिसा तक जा रही है। एक चक्रवाती हवा बिहार के तटवर्ती क्षेत्र में फैला हुआ है। जिसकी वजह से हल्के के साथ ही मध्यम दर्जे की बारिश की आशंका लगातार बनी हुई है। हालाकि, पटना में दो दिनों से मौसम शुष्क बना हुआ है। हवा में नमी होने के साथ ही तेज धूप की वजह से उमसभरी गर्मी का एहसास हो रहा था। इस दौरान शाम होते-होते हवा की रफ्तार पूर्व होने के साथ ही बारिश का सिस्टम सक्रिय हो रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.