किसनगंज: युवक को दो लड़कियों से हुआ प्यार, नई के चक्कर में पुरानी गर्लफ्रेंड को रास्ते से हटाया, घटना की साजिश सुन खड़े हो जाएंगे रोंगहटे

0
68

बिहार में प्रेम-प्रसंग के कई किस्से सुने होंगे। लॉकडाउन के दौरान जो मामला सामने आया है उसे सुनकर आपके रोंगहटे खड़े हो जाएंगे। कोरोना की पहली लहर में लगाए गए लॉकडाउन के चलते एक युवक घर आया था। युवक बाहर रहकर सिलाई का काम करता था। लॉकडाउन के दौरान उसे एक लड़की से प्रेम हो गया। धीरे-धीरे दोनों के बीच नजदकियां गहराईं तो मामला शादी तक पहुंच गया। पांच महीने पहले युवक की दूसरी लड़की के साथ भी नजदकियां बढ़ गई। पहली प्रेमिका को जब इसकी जानकारी हुई तो वह लगातार युवक पर शादी करने का दबाव डालने लगी, लेकिन युवक दूसरी प्रेमिका के साथ शादी करना चाहता था। युवक ने पहली गर्लफ्रेंड को रास्ते से हटाने के लिए दूसरी प्रेमिका के साथ मिलकर योजना बनाई। युवक ने पहली प्रेमी को मिलने के लिए खेत पर बुलाया। यहां उसके साथ दूसरी प्रेमिका भी मौजूद थी। युवक ने पहली प्रेमिका के साथ पहले संबंध बनाए और इसके बाद उसकी हत्या कर दी। मामले की सूचना जब पुलिस के पास पहुंची तो उसने जांच पड़ताल शुरू की। जांच पड़ताल के दौरान पुलिस ने युवक और उसकी प्रेमिका को गिरफ्तार कर लिया।

मामला बिहार के किशनगंज जिले के बहादुरगंज थाना क्षेत्र के बांसबाड़ी गांव का है। यहां की रहने वाली सबीना बेगम के अपहरण की रिपोर्ट थाने में लिखाई गई थी। युवती के अपहरण की रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने उसकी खोजबीन शुरू की थी। एसपी कुमार आशीष द्वारा पुलिस की टीम गठित की गई थी। शक के आधार पर बदमाश बहादुरगंज बांसबारी के राहिल आलम और कोचाधामन अयूब टोला की नजला बेगम को गिरफ्तार किया गया। इनके पास से तीन मोबाइल फोन बरामद किया गया है। पुलिस के मुताबिक 30 मई को बहादुरगंज थाने में युवती के अपहरण का मामला दर्ज करवाया गया था। जांच के क्रम में 31 मई को कोचाधामन थाना के मचकुरी गांव के चौड़ स्थित मकई के खेत में एक लड़की का शव मिला था। जिसकी पहचान गायब नाबालिग युवती सबीना बेगम के रूप में की गई थी। आरोपी राहिल आलम को गिरफ्तार किया गया है। पूछताछ के क्रम में राहिल ने घटना में अपनी संलिप्तता को स्वीकार करते हुए अपने सहयोगी नाजली बेगम के बारे में भी बताया। इसके बाद नाजली को भी पकड़ लिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.