कल से शुरू होने वाले वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशप फाइनल में टीम इंडिया 2 स्पिनर और 3 तेज गेंदबाजों के साथ उतर सकती है, न्यूजीलैंड का भरोसा तेज गेंदबाजों पर

0
56

भारत और न्यूजीलैंड के बीच वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशप का फाइनल मुकाबला 18 जून से साउथैम्पटन के द एजिस बाउल स्टेडियम में खेला जाना है। तमाम एक्सपर्ट्स और फैंस की नजरें इस बात पर लगी हैं कि दोनों टीमों की प्लेइंग-11 क्या हो सकती है। तो चलिए भारत और न्यूजीलैंड की स्ट्रेंथ और साउथैम्पटन के कंडीशंस के आधार पर यह अनुमान लगाने की कोशिश करते हैं इस मैच में किन खिलाड़ियों को मौका मिल सकता है।

साहा और उमेश को मौका मिलने की उम्मीद बेहद कम
भारत ने फाइनल के लिए जिन 15 नामों की घोषणा की है उनमें दो खिलाड़ियों को मौका मिलने की उम्मीद काफी कम है। ये खिलाड़ी विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा और तेज गेंदबाज उमेश यादव हैं। साहा के अंतिम 15 में चयन के पीछे मुख्य वजय यह हो सकती है कि अगर मैच के दौरान ऋषभ पंत चोटिल हों तो वे विकेटकीपंग कर सकें। क्रिकेट में अब सब्स्टी्यूट विकेटकीपर की इजाजत है।

उमेश आउटफील्ड के बेहतर फील्डर हैं। उनका इस्तेमाल सबस्टीट्यूट फील्डर के तौर पर किया जा सकता है। साथ ही ये दोनों कनकशन रिप्लेसमेंट की जरूरत पड़ने पर भी काम आ सकते हैं।

7 बैट्समैन की स्थिति में ही खेल पाएंगे विहारी
हनुमा विहारी के खेलने की उम्मीद भी कम है। हालांकि, पिच पर काफी हरियाली रही और लंबे समय तक आसमान में बादल छाए रहने का अनुमान रहा तो भारत 7 बल्लेबाज और 4 गेंदबाज की रणनीति अपना सकता है। इस स्थिति में ही विराही को मौका मिलेगा। अभी तक जो खबरें सामने आई हैं उस लिहाज से बिहारी भी प्लेइंग-11 से बाहर ही रहेंगे।

6-2-3 कॉम्बिनेशन के आसार सबसे ज्यादा
फाइनल में भारतीय टीम के जिस संभावित कॉम्बिनेशन की सबसे ज्यादा चर्चा हो रही है वह 6-2-3 है। यानी 6 बल्लेबाज (पंत सहित), 2 स्पिनर और 3 फास्ट बॉलर। यानी विहारी, साहा और उमेश के अलावा जो 12 खिलाड़ी बचते हैं उन्हीं में से प्लेइंग-11 का चयन मुमकिन है।

ईशांत, शमी और सिराज में किन्हीं दो को मिल सकता है मौका
टीम इंडिया के फाइनल सिलेक्शन में सारा पेंच तेज गेंदबाजों के चुनाव को लेकर फंसता दिख रहा है। जसप्रीत बुमराह ने पिछले कुछ सालों में जैसा प्रदर्शन किया है उससे उनका चयन लगभग तय है। ईशांत शर्मा, मोहम्मद शमी और मोहम्मद सिराज में से किन्हीं दो तेज गेंदबाजों को मौका मिल सकता है। कुछ विशेषज्ञों का मानन है कि ईशांत और सिराज में से किसी एक का चयन होता तो कुछ मानते हैं कि सिराज और शमी में से कोई खेल सकता है।

न्यूजीलैंड के टॉप-6 खिलाड़ी भी लगभग तय
भारत की ही तरह न्यूजीलैंड के भी टॉप-6 खिलाड़ी लगभग तय हैं। टॉम लाथम और डेवॉन कोनवे ओपनिंग करेंगे। इसके बाद कप्तान केन विलियम्सन, रॉस टेलर और हेनरी निकोल्स का नंबर आएगा। नंबर 6 पर विकेटकीपर बीजे वाटलिंग (फिट रहें तो) खेलेंगे।

नंबर-7 को लेकर उलझन में न्यूजीलैंड
न्यूजीलैंड का खेमा मैच से पहले इस बात को लेकर उलझन में बताया जा रहा है कि नंबर-7 पर किसे उतारा जाए। अगर कीवी टीम बैटिंग को मजबूती देना चाहेगी तो इस नंबर पर ऑलराउंडर कोलिन डि ग्रैंडहोम खेलेंगे। अगर कीवी टीम स्पेशलिस्ट चार फास्ट बॉलर्स के साथ उतरती है तो इस नंबर पर काइल जेमिसन को बल्लेबाजी करनी पड़ सकती है।

ग्रैंडहोम खेले तो पटेल और वैगनर में किसी एक को मौका
अगर कीवी ग्रैंडहोम को शामिल करती है तो इस स्थिति में लेफ्ट आर्म स्पिनर अयाज पटेल और लेफ्ट आर्म पेसर नील वैगनर में से किसी एक को ही मौका मिल पाएगा। अयाज पटेल को बाहर रखने की स्थिति में कीवी आक्रमण के वन डाइमेंशनल हो जाने का खतरा है।

जेमिसन, साउदी और बोल्ट का खेलना लगभग तय
न्यूजीलैंड की ओर से तीन तीन स्पेशलिस्ट फास्ट बॉलर्स का खेलना तय माना जा रहा है, उनमें काइल जेमिसन, टिम साउदी और ट्रेंट बोल्ट शामिल हैं। जेमिसन ने करियर के शुरुआती दो टेस्ट भारत के ही खिलाफ खेले थे और उनमें काफी अच्छा परफॉर्म किया था। साउदी और बोल्ट कीवी टीम के सबसे बड़े हथियार माने जा रहे हैं लिहाजा फिट रहने की स्थिति में उनका खेलना तय माना जा रहा है।

दोनों टीम की संभावित प्लेइंग-11
भारत: विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, शुभमन गिल, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, ऋषभ पंत, रवींद्र जडेजा, रविचंद्रन अश्विन, ईशांत शर्मा, मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह।
न्यूजीलैंड: केन विलियम्सन (कप्तान), टॉम लाथम, डेवॉन कोनवे, रॉस टेलर, हेनरी निकोल्स, बीजे वाटलिंग, कोलिन डि ग्रैंडहोम, काइल जेमिसन, टिम साउदी, अयाज पटेल और ट्रेंट बोल्ट।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.