Patna: JDU का वर्चुअल सम्मेलन आज, RCP करेंगे नेतृत्व लेकिन उपेंद्र कुशवाहा को पूछा तक नहीं

0
54

बिहार में कोरोना की दूसरी लहर थमने के बाद आज पहली बार जनता दल यूनाइटेड की तरफ से किसी सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है। जेडीयू की तरफ से आज 11 बजे से वर्चुअल सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह और प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा समेत लगभग 1000 पदाधिकारी इस वर्चुअल सम्मेलन में जुड़ेंगे। इस सम्मेलन में पार्टी के सभी क्षेत्रीय संगठन प्रभारी, प्रकोष्ठ के प्रभारी, प्रदेश अध्यक्ष, सभी प्रदेश प्रवक्ता, जिला अध्यक्ष, मुख्य जिला प्रवक्ता, लोकसभा प्रभारी, विधानसभा प्रभारी और सभी प्रखंड अध्यक्षों को जोड़ा जाएगा। लेकिन बड़ी बात यह है कि पार्टी के संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष बनाए गए उपेंद्र कुशवाहा को इस वर्चुअल सम्मेलन के लिए पूछा तक नहीं गया है। दूसरी लहर कमजोर पड़ने के बाद आरसीपी सिंह पिछले दिनों राजनीतिक तौर पर सक्रिय हुए। उन्होंने लगातार पार्टी मुख्यालय में बैठकें की हैं लेकिन किसी भी बैठक में उपेंद्र कुशवाहा मौजूद नहीं रहे हैं। आरसीपी सिंह और उपेंद्र कुशवाहा के बीच दूरी की खबरें कोई नई नहीं हिंम कुशवाहा ने भले ही अपनी पार्टी का जेडीयू में विलय कर दिया हो लेकिन इसके बावजूद आरसीपी सिंह उन्हें ज्यादा तरजीह देते नजर नहीं आए हैं। यह अलग बात है कि नीतीश कुमार ने कुशवाहा को पार्टी के संसदीय बोर्ड का अध्यक्ष बना दिया है।

पिछले दिनों जेडीयू में शामिल होने वाले उपेंद्र कुशवाहा के समर्थकों ने सोशल मीडिया पर यह जानकारी साझा करना शुरू की थी कि उपेंद्र कुशवाहा जल्द ही जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष बन जाएंगे। आरसीपी सिंह के केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होने के बाद नीतीश कुमार कुशवाहा को बड़ी जिम्मेदारी देने जा रहे हैं। एक तरफ कुशवाहा के समर्थक यह महसूस कर रहे हैं कि पार्टी में उन्हें तवज्जो नहीं दी जा रही तो वही आरसीपी सिंह उपेंद्र कुशवाहा से संगठन या अन्य मुद्दों पर चर्चा तक नहीं करते हैं। नीतीश कुमार भले ही लव-कुश की जोड़ी के बदौलत पार्टी का जनाधार मजबूत करना चाहते हो लेकिन फिलहाल आरसीपी उपेंद्र कुशवाहा के साथ कंफर्टेबल नजर नहीं आते।

जेडीयू के वर्चुअल सम्मेलन में आज कोरोना वायरस को लेकर चर्चा होनी है। आरसीपी सिंह के इस वर्चुअल सम्मेलन में डॉक्टरों का पैनल भी मौजूद रहेगा। डॉक्टर यह बताएंगे कि कोरोना से बचाव के लिए जागरुकता किस तरह लायी जा सकती है और कोरोना वैक्सीन लेना कितना जरूरी है। आरसीपी सिंह इस वर्चुअल सम्मेलन के जरिए नीतीश कुमार की तरफ से तय की गई नीतियों के मुताबिक पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं को घर-घर जाकर काम करने का टास्क देने वाले हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.