आरा: घूसखोर BEO गिरफ्तार, 80 हजार रुपये रिश्वत लेते हुए विजिलेंस की टीम ने रंगेहाथ दबोचा

0
68

आरा में विजिलेंस की टीम ने एक बड़ी कार्रवाई की है. निगरानी विभाग की टीम ने एक घूसखोर बीईओ को रिश्वत लेते हुए रंगेहाथ दबोचा है. गिरफ्तार बीईओ से पूछताछ कर आगे की कार्रवाई की जा रही है.मामला भोजपुर जिले के पीरो थाना इलाके का है. पीरो के प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी अभय कुमार को निगरानी की टीम ने गिरफ्तार किया है. बताया जा रहा है कि प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी अभय कुमार को 80 हजार घूस लेते हुए रंगेहाथ दबोचा गया है. विजिलेंस की टीम की ओर से मिली जानकारी के अनुसार एक शख्स ने शिकायत की थी कि बीईओ की ओर से बार-बार उससे रिश्वत की मांग की जा रही है.

मामले की जानकारी मिलने के बाद विजिलेंस की टीम ने फौरन कार्रवाई शुरू की. निगरानी के अधिकारियों ने जाल बिछाया और सोमवार को पीरो के प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी अभय कुमार को 80 हजार घूस लेते हुए रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया. बताया जा रहा है कि विजिलेंस की टीम किसी गुप्त स्थान पर गिरफ्तार बीईओ अभय कुमार से पूछताछ कर रही है.

गिरफ्तार बीईओ से निगरानी की टीम आरा के किसी गुप्त स्थान पर पूछताछ कर आगे की कार्रवाई में जुटी थी. शिकायतकर्ता प्रधानाध्यापक ने बताया कि कुछ दिनों पूर्व बीईओ ने उनके विरुद्ध वित्तीय अनियमितता का आरोप लगाकर उनके वेतन स्थगन का पत्र वरीय अधिकारियों को लिखा था. वित्तीय अनियमितता के आरोप से मुक्ति के लिए उन्होंने बीईओ से गुहार लगाई थी. इस एवज में बीईओ की ओर से उनसे बतौर रिश्वत 80 हजार रुपये की मांग की गई.

इस पर प्रधानाध्यापक ने इस मामले की जानकारी निगरानी को दी. इसके बाद विजिलेंस की टीम ने अपने स्तर से फौरन कार्रवाई शुरू कर दी. निगरानी के अधिकारियों ने तीन दिनों पूर्व से पीरो में जाल बिछाया. सोमवार की दोपहर बाद करीब ढाई बजे बीईओ अभय कुमार बीआरसी से निकलकर बीडीओ से मिलने जा रहे थे. बीईओ के बीआरसी के गेट पर पहुंचते ही प्रधानाध्यापक उनके पास पहुंचकर उन्हें रुपये देने लगे.

बीईओ ने उनसे नाम बताते हुए कहा कि एक शिक्षक को रुपये दे दीजिएगा. लेकिन, प्रधानाध्यापक ने जबरन बीईओ की जेब में वहीं पर रुपये डाल दिये. बीईओ की जेब में रुपये डालने के साथ ही निगरानी की टीम ने बीईओ को दबोच लिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.