पटना: 27 BDO कार्य में लापरवाही बरतने के कारण सस्पेंड, भ्रष्टाचारियों पर भी एक्शन

0
95

बिहार में अनियमितता और भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाते हुए सरकार ने 27 प्रखंड विकास पदाधिकारियों के खिलाफ एक्शन लिया है. कार्य में सुस्ती और लापरवाही बरतने को लेकर इनके खिलाफ कार्रवाई की गई है. गड़बड़ी करने वाले ग्रामीण विकास पदाधिकारियों पर भी एक्शन लिया गया है.

ग्रामीण विकास विभाग की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक 27 बीडीओ के खिलाफ कार्रवाई की गई है. प्रखंड विकास पदाधिकारियों को निलंबन से लेकर निंदन तक की सजा दी गई है. किसी-किसी अधिकारियों के वेतन पर भी रोक लगा दी गई है. विभागीय मंत्री श्रवण कुमार का कहना है कि लापरवाही और भ्रष्टाचार के मामले में जीरो टालरेंस की नीति पर अमल हो रहा है. यह कार्रवाई उन अधिकारियों के लिए चेतावनी भी है, जो अपना ढीला रवैया नहीं छोड़ रहे हैं.

बांका जिले के बौंसी के  प्रखंड विकास पदाधिकारी अमित कुमार को निलंबन की सजा दी गई है. इनके ऊपर मनमौजी कार्यशैली के अलावा मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में गैर हाजिर रहने का आरोप है. भोजपुर जिले के जगदीशपुर के तत्कालीन बीडीओ पर लारवाही का आरोप साबित हुआ है. इन्हें भविष्य के लिए सतर्क किया गया है. साथ ही भोजपुर जिले के ही गड़हनी के तत्कालीन बीडीओ मनोज कुमार को चेतावनी की सजा दी गई है. इनके अलावा उदवंतनगर के तत्कालीन बीडीओ मनीष कुमार श्रीवास्तव पर भी एक्शन लिया गया है. इनके ऊपर आरोप है कि मनीष अपने सीनियर अफसरों के आर्डर को नजरअंदाज करते हैं.

कैमूर जिले के रामगढ़ के तत्कालीन बीडीओ जनार्दन तिवारी पर चुनाव में बाधा डालने का आरोप लगा है. इनके एक वेतन वृद्धि पर रोक लग गई. नालंदा जिले के हिलसा के तत्कालीन बीडीओ डा. अजय कुमार ने लोहिया स्वच्छता अभियान में दिलचस्पी न लेने का आरोप साबित होने के बाद इनके एक वेतन वृद्धि पर रोक लग गई है. दरभंगा के हनुमान नगर के बीडीओ प्रधानमंत्री आवास योजना, लोहिया स्वच्छता अभियान और हर घर नल का जल योजना में लापरवाही का आरोप था. उन्हें चेतावनी दी गई. 

उधर आजमनगर, कटिहार के तत्कालीन बीडीओ पूरण साह को भी यही सजा दी गई है. नावानगर, बक्सर के तत्कालीन बीडीओ अशोक कुमार को सुस्ती के आरोप में निंदन की सजा दी गई है. सुपौल जिला के राघोपुर के बीडीओ सुभाष कुमार पर उप मुखिया एवं उप सरपंच के खिलाफ पेश अविश्वास प्रस्ताव के दौरान गड़बड़ी करने के आरोप में दो वेतन वृद्धि रोक दी गई है. 

साथ ही दरभंगा के बहेड़ी के बीडीओ भगवान झा को बक्सर में तैनाती के दौरान गड़बड़ी के लिए एक वेतन वृद्धि रोकने का आदेश दिया गया है. छौड़ादानों के तत्कालीन बीडीओ अरविन्द कुमार गुप्ता के खिलाफ विभागीय कार्यवाही शुरू की गई है और कटिहार जिले के कोढा के बीडीओ को भी चेतावनी की सजा दी गई है. गौरतलब हो कि 14 जून से 25 जून के बीच इन सभी 27  प्रखंड विकास पदाधिकारियों के खिलाफ एक्शन लिया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.