पटना: पुलिसकर्मियों का ड्यूटी के दौरान फुल यूनिफॉर्म में रहना अनिवार्य, कोताही बरतने पर होगी कार्रवाई

0
87

बिहार पुलिस मुख्यालय की ओर से पुलिस जवानों और पदाधिकारियों के लिए नया आदेश जारी किया गया है. मुख्यालय के कार्मिक और कल्याण प्रभाग की ओर से जारी आदेश के अनुसार ड्यूटी ऑवर के दौरान सभी पुलिस जवानों और पदाधिकारियों के लिए फुल यूनिफॉर्म में रहना अनिवार्य किया गया है. इस आदेश की अवहेलना करने वालों पर विभागीय कार्रवाई करने की चेतावनी भी दी गयी है. 

अनुशासनिक गतिविधियों का विशेष महत्व

बिहार पुलिस के डीजीपी एसके सिंघल की ओर से शुक्रवार को जारी पत्र में कहा गया है कि पुलिस सेवा एक विशिष्ट प्रकार की सेवा है, जिसमें कर्मियों की शारीरिक और मानसिक क्षमता, पेशेवर दक्षता जैसे आंतरिक गुणों के साथ-साथ उनके बाह्य अनुशासनिक गतिविधियों का भी विशेष रूप से महत्व होता है.

पुलिस सेवा की विशिष्टता का एक महत्वपूर्ण आयाम उनका अलग परिधान और वर्दी है. वर्दी न केवल पुलिस सेवा से जुड़े कार्मिकों को अलग पहचान प्रदान करती है, बल्कि यह सम्पूर्ण सेवा के मान-सम्मान और गौरव का भी प्रतीक है. साफ-सुथरी और समुचित तरीके से धारण की हुई वर्दी में पुलिसकर्मी आमजनों के बीच एक सकारात्मक छवि प्रस्तुत करते हैं और अनुशासन के प्रति प्रतिबद्धता को भी उजागर करते हैं. साथ ही यह बेहतर पुलिसिंग में भी एक महत्वपूर्ण आयाम की तरह काम करता है.

पुलिस की छवि होती है धुमिल

आम तौर पर पुलिस पदाधिकारी/कर्मी वर्दी की सही तरीके से रख-रखाव और पहनावे के प्रति गंभीर होते हैं. लेकिन कभी-कभी इसके प्रति उन्हें कोताही बरतते हुए देखा जाता है. उनकी इस हरकत से ना केवल वर्दी के प्रति असम्मान का भाव प्रदर्शित होता है, बल्कि समुचित ढंग से वर्दी धारण नहीं करने के कारण आमजनों के बीच पुलिस की छवि भी धूमिल होती है.

ऐसे में राज्य पुलिस के सभी पदाधिकारी और कर्मी ड्यूटी ऑवर के दौरान प्रावधानों और मापदण्डों के अनुसार वर्दी धारण करना सुनिश्चित करेंगे. वर्दी साफ-सुथरी और सही स्थिति में होनी चाहिए. जिन कार्यालयों में वर्दी धारण करने की अनिवार्यता नहीं है, वहां भी परिधान मर्यादित और कार्यालय के अनुरूप होने चाहिए. आदेश का पालन हो वरीय पदाधिकारी इस बात का विशेष ध्यान रखेंगे. वहीं, कोताही बरतने वाले पदाधिकारी/कर्मियों के विरुद्ध अनुशासनिक कार्रवाई करेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.