बिहार पंचायत चुनाव : मुखिया को 36 तो जिपं सदस्य के लिए 20 चुनाव चिन्ह, जानें किसको क्या मिलेगा सिंबल

0
179

पंचायत चुनाव को लेकर प्रशासनिक स्तर पर तैयारियां शुरू हो गई है। जिले में दस चरणों में पंचायत चुनाव कराया जाएगा। एक सप्ताह के अंदर जिले में ईवीएम भी उपलब्ध हो जाएगा। इसके बाद एफएलसी का कार्य शुरू करा दिया जाएगा। एफएलसी के बाद ही चुनाव प्रक्रिया में इसका उपयोग किया जाना है। आयोग की ओर से एक गाइडलाइन जिला में भेजा गया है। इसी के तहत सामाजिक दूरी, स्वच्छता व अन्य नियमों का अनुसरण करते हुए मुक्कमल तैयारी करने को कहा गया है। चुनाव में खड़े होने वाले प्रत्याशियों के लिए भी चुनाव चिह्न का निर्धारण कर दिया गया है। मुखिया पद के प्रत्याशी मोर, गाजर, बाल्टी और कुंआ के सहारे चुनावी मैदान में रहेंगे। तो जिला परिषद सदस्य पतंग, लेडी पर्स, लेटर बॉक्स सहित अन्य चुनाव चिन्ह के सहारे चुनाव लड़ेंगे। आयोग की ओर से मुखिया सहित सभी छह पदों के लिए चुनाव चिन्ह का निर्धारण कर दिया है।

मुखिया पद के लिए 36 चुनाव चिन्ह तय
ग्राम पंचायत के मुखिया पद के लिए चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों के लिए मोतियों की माला, ढोलक, कलम और दावात, टेंपु, पुल,बैगन, ब्रश, चिमनी, कैमरा, मोमबत्तियां, काठगाड़ी, ब्लैक बोर्ड, गाजर, बाल्टी, मोर, हंसिया, जग, केतली, कुंआ, सेव, डीजल पंप, टॉफी, छड़ी, मोबाईल, सीटी, चुड़यिां, टोकरी, जंजीर, टेलीविजन, ऊंट, किताब, तोता, वायुयान, उगता हुआ सूरज, खजूर का पेड़ व पपीता चुनाव चिन्ह के रुप में निर्धारित किया गया है।
जिला परिषद सदस्य के लिए 20 चिन्ह निर्धारित
पंचायत चुनाव में जिला परिषद सदस्य पद के चुनाव के लिए 20 चुनाव चिन्ह निर्धारित किए गए है। इनमें पतंग, लेडी पर्स, लेटर बॉक्स, ताला और चाबी, मक्का, प्रेशर कुकर, रेल का इंजन, आरी, अंगुर का गुच्छा, सिलाई की मशीन, स्लेट, मछली, वैन, मेज, टेबुल लैंप, गैस का चूल्हा, कांच का गिलास, हारमोनियम, टोप तथा जलता हुआ दीया इनमें शामिल हैं।

पंच पद के प्रत्याशी कबुतर व चापाकल
पंचायत चुनाव में ग्राम कचहरी के पंच पद के प्रत्याशियों के लिए 10 चुनाव चिन्ह निर्धारित किए गए है। पंच पद के प्रत्याशी गुड़यिा,चापाकल, कुर्सी, टार्च, ट्रैक्टर, सीढी, तराजू, डमरू, कबुतर व बल्ला चुनाव चिन्ह पर चुनाव लड़ेंगे।

सरपंच पद के प्रत्याशी के लिए 21 चिन्ह
वहीं, सरपंच पद के प्रत्याशियों के लिए 21 चुनाव चिन्ह तय किए गए है। इनमें स्टोव, मोटरसाईिकल, नल, बल्व, चौका-बेलन, जोड़ा बैल, स्टूल,बगुला, लडडू, हल, टमटम, बांसुरी, टाईपराइटर, माचिस, छाता, भोजन की थाली, खल-मूसल, पानी का जहाज, ट्रक, चरखा व खूरपी शामिल हैं।
पंसस के लिए नारियल व चारपाई
पंचायत समिति सदस्य पद के चुनाव को लेकर नारियल, चारपाई, कप और प्लेट, कंघा, बरगद का पेड़, डोली, फ्राक, कुदाल, गैस सिलेंडर व जीप का चिन्ह तय किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.