बिहार में JDU अध्यक्ष बदलने की तैयारी, नीतीश कुमार के भरोसेमंद को मिल सकती है कुर्सी!

0
47

बिहार की राजनीति में इस सवाल की चर्चा जोरों पर है कि जेडीयू में क्या कुछ बड़ा होने वाला है? जेडीयू की 31 जुलाई को दिल्ली में राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक होनी है. माना जा रहा है इस बैठक नए अध्यक्ष के नाम पर मुहर भी लग सकती है. बिहार में बीजेपी के साथ मिलकर सरकार चला रहे जनता दल (युनाइटेड) के अध्यक्ष आरसीपी सिंह को केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होने के बाद उनकी अध्यक्ष की कुर्सी खतरे में पड़ती नजर आ रही है.

आरसीपी सिंह के केंद्रीय मंत्रिमंडल में स्थान मिलने के बाद से ही पार्टी के अंदर घमासान मचा हुआ है. रविवार को जेडीयू के नवमनोनीत प्रदेश पदाधिकरियों की बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और आरसीपी सिंह ने जरूर भाग लिया, लेकिन कई वरिष्ठ नेता बैठक से दूरी भी बना ली. आरसीपी सिंह ने एक बयान में कहा, “पार्टी तय करेगी तो मैं अध्यक्ष की जिम्मेदारी किसी मजबूत साथी को देने में पीछे नहीं हटूंगा. संगठन है तभी पार्टी है, तभी मैं मंत्री और हमारे नेता मुख्यमंत्री हैं.”

उपेंद्र कुशवाहा के नाम की चर्चा जोरों पर
इधर, जेडीयू के अगले अध्यक्ष को लेकर उपेंद्र कुशवाहा के नाम की चर्चा जोरों पर है. राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (आरएलएसपी) के जेडीयू में विलय के बाद कुशवाहा का पार्टी में प्रभाव बढ़ता जा रहा है. सूत्रों का कहना है कि इससे आरसीपी सिंह का खेमा नाराज है.

पार्टी की 31 जुलाई को दिल्ली में राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक होने वाली है. सभी की नजर अब उस बैठक पर टिक गई है. इस बैठक में पार्टी के सभी 75 सदस्यों को शामिल होने की संभावना है. कहा जा रहा है कि इस दिन पार्टी के नए अध्यक्ष के नाम की घोषणा कर दी जाएगी. जेडीयू के एक नेता भी कहते हैं कि “पार्टी का अध्यक्ष वहीं होगा, जो नीतीश कुमार के भरोसे का होगा और संगठन को बढ़ाने और मजबूत करने का अनुभव होगा. ऐसे में कुशवाहा का नाम सबसे आगे माना जा रहा है. कुशवाहा न केवल मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के भरोसे के व्यक्ति माने जाते है, उन्हें संगठन चलाने का भी अनुभव है.”

कहा जा रहा है कि कुशवाहा को पार्टी का अध्यक्ष बनाकर नीतीश जातीय समीकरण भी दुरूस्त करना चाहेंगे. वैसे, मुंगेर के सांसद ललन सिंह को भी जेडीयू का अध्यक्ष बनाकर नीतीश एक खास वर्ग को खुश करने की जुगत लगा सकते हैं. ललन सिंह भी नीतीश के काफी करीबी माने जाते है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.