जनार्दन सिंह सिग्रीवाल की सांसद निधि से 89 लाख निकालने के मामले में मिली कामयाबी, झारखंड से एक गिरफ्तार

0
43

झारखंड के साहिबगंज जिले से बिहार और झारखंड की पुलिस ने संयुक्त छापेमारी कर अतुल शक्ति नाम के एक साइबर अपराधी को गिरफ्तार किया है. उसके पास से सात सिम कार्ड सहित कई क्लोन चेक का फोटो जब्त किया गया है. करीब आठ माह पूर्व बिहार के महाराजगंज से बीजेपी सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल के सांसद निधि के खाते से फर्जी तरीके से 89 लाख रुपये की निकासी की गई थी उसी मामले में यह गिरफ्तारी की गई है.

यह निकासी बीजेपी सांसद के बैंक ऑफ बड़ौदा के खाते से हुई थी. इस मामले को लेकर बिहार पुलिस साहिबगंज पहुंची और स्थानीय थाने के सहयोग से मिलकर साहिबगंज स्टेशन से ही उसे गिरफ्तार कर लिया. वह कोलकाता से ट्रेन से लौटकर साहिबगंज स्टेशन पहुंचा ही था. बिहार पुलिस न्यायलय से ट्रांजिट रिमांड में लेकर आरोपित को अपने साथ पटना ले आई.

क्या है मामला

बिहार के महाराजगंज से बीजेपी सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल के सांसद निधि के खाते से चार नवंबर 2020 को दो ट्रांजेक्शन के माध्यम से साइबर अपराधियों ने 89 लख रुपये की निकासी कर ली और महाराष्ट्र के बैक में जमा करा दिया था. 25 नवंबर 2020 को छपरा के तत्कालीन जिलाधिकारी सुब्रत सेन के निर्देश पर नगर थाना छपरा में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी. बाद में पता चलने पर सांसद ने इसकी शिकायत गृह मंत्रालय, वित्त मंत्रालय और लोकसभा अध्यक्ष से भी की थी.

इधर, छपरा पुलिस और महाराष्ट्र पुलिस हरकत में आई. बताया यह भी जाता है कि साहिबगंज में निवास करने वाला आरोपी अतुल बिहार के अरवल जिला का रहने वाला है. ये वर्तमान में सौरभ गांगुली काली पार्क, कोलकाता में रहता था. अतुल ने बीआईटी मेसरा, रांची से पढ़ाई की थी. कोलकाता में भी अतुल पर आठ लाख ठगी करने का आरोप लग चुका है. 89 लाख की ठगी के मामले में अतुल शक्ति सहित पांच लोगों के शामिल होने का आरोप लगा है.

बैंक प्रबंधन पर सवाल

बताया जाता है कि महाराजगंज के सांसद ने इतनी बड़ी राशि की निकासी को लेकर बैंक प्रबंधन पर सवाल खड़ा किया था. इस मामले को लेकर केंद्रीय गृह सचिव ने बिहार के मुख्य सचिव से तीन दिनों के अंदर पूरी रिपोर्ट देने का आदेश जारी किया था. छपरा स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा की मुख्य शाखा में सांसद क्षेत्रीय विकास कोष के खाते से चार नवंबर 2020 को हुए दो ट्रांजेक्शन 42 लाख और 47 लख की निकासी की गई थी जो जिला योजना पदाधिकारी के बाद ही पास के बाद ही संभव होना चाहिए था.

चेक की क्लोनिंग कर महाराष्ट्र के अहमदानगर जिले के बैंक ऑफ बड़ौदा शाखा में रुपया खाताधारी संदीप मांगीलाल कोठारी के खाते में ट्रांसफर साइबर अपराधियों में किया. जिला योजना पदाधिकारी को इतनी बड़ी राशि के निकासी की भनक मिलते ही खाते को होल्ड कर दिया. इस मामले की जांच चल रही थी लेकिन इसकी भनक सांसद को नहीं थी. इसकी भनक सांसद को तब लगी जब एक संवेदक अपनी एक योजना का भुगतान लेने बैंक पहुंचा. उसने तत्काल इसकी जानकारी सांसद को दी. सांसद ने इसकी जानकारी केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला के अलावा बैंक ऑफ बड़ौदा के सीएमडी को दी. इधर, मंत्रालय द्वारा इस शिकायत के बाद बिहार के मुख्य सचिव को तलब किया जिसर पुलिस हरकत में आई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.