किन्नौर हादसा: अब भी फंसे हैं 100 से ज्यादा पर्यटक और स्थानीय लोग, बारिश से और बढ़ेगी मुश्किल

0
119

हिमाचल प्रदेश के किन्नौर में बारिश के बाद हुए भूस्खलन की वजह से अभी भी लगभग 100-120 लोग फंसे हुए हैं। किन्नौर भूस्खलन की घटना के बारे में बताते हुए हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सोमवार को कहा कि लगभग 100-120 लोग अभी भी फंसे हुए हैं, जिनमें पर्यटक और स्थानीय लोग शामिल हैं। हम उन्हें बचाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं। जिले में भारी बारिश की चेतावनी के बाद प्रशासन हाई अलर्ट पर है।

बता दें कि किन्नौर जिले में बस्तेरी के निकट रविवार को पर्यटकों को लेकर जा रहे एक वाहन पर भूस्खलन के बाद भारी चट्टान गिरने से उसमें सवार नौ लोगों की मौत हो गई। पुलिस ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सांगला-छितकुल मार्ग पर बस्तेरी के निकट हाल में हुई भारी बारिश की वजह से अपराह्न एक बजकर 25 मिनट पर भूस्खलन की कई घटनाएं हुईं और इसकी वजह से एक पुल ढह गया और कुछ गाड़ियों को भी नुकसान पहुंचा है। 

पुल ढहने का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल

बस्तेरी में पुल ढहने का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। वीडियो में चट्टानों को नीचे की तरफ गिरते देखा जा सकता है, जिससे पुल ढह गया। पुलिस ने बताया कि वाहन पर भारी चट्टानों के गिरने की वजह से उसमें सवार 11 लोगों में से नौ की मौत हो गई और दो घायल हो गए। यात्री छितकुल से सांगला जा रहे थे।

यह रही मृतकों की पहचान

मृतकों की पहचान राजस्थान के माया देवी बियानी (55) उनके बेटे अनुराग बियानी (31) और बेटी रिचा बियानी (25), महाराष्ट्र की प्रतीक्षा सुनील पाटिल (27), जयपुर की दीपा शर्मा (34), छत्तीसगढ़ के अमोघ बापट (27), सतीश कटाकबर (34), पश्चिम बंगाल के चालक उमराब सिंह (42) और कुमार उल्हास वेदपाठक के तौर पर हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.