Patna: मुकेश सहनी ने योगी आदित्यनाथ को चेताया- मुझे यूपी में घुसने से रोका तो हम भी आपको बिहार आने से रोक देंगे

0
78

उत्तर प्रदेश में सियासी जनाधार बढ़ाने की जुगत में लगे मुकेश सहनी ने वहां के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को चेताया है. मुकेश सहनी ने कहा है कि जिस तरह से उन्हें उत्तर प्रदेश में घुसने से रोका गया उसी तरह से वे भी यूपी के नेताओं को बिहार में घुसने से रोक सकते हैं. लेकिन हम नीतीश जी की सरकार को बदनाम नहीं करना चाहते इसलिए ऐसा नहीं कर रहे हैं. मुकेश सहनी ने दावा किया कि उत्तर प्रदेश में उनकी सरकार बनने जा रही है.

डर गये योगी आदित्यनाथ
मुकेश सहनी ने कहा योगी आदित्यनाथ एक व्यक्ति से डर गये. उन्हें एक व्यक्ति से लॉ एंड आर्डर बिगड़ने का खतरा हो गया. योगी आदित्यनाथ कैसी सरकार चला रहे हैं तो उन्हें इतना डर लगता है. कैसी सरकार के मुखिया हैं वे. मुकेश सहनी ने कहा कि वे उत्तर प्रदेश के 18 मंडल में फूलन देवी की प्रतिमा लगाने गये थे. उससे समाज जितना यूनाइटेड होता उससे ज्यादा यूनाइटेड योगी आदित्यनाथ ने कर दिया. पूरे देश में फूलन देवी को मानने वाले लोग यूनाइटेड हो गये हैं.

मुकेश सहनी ने कहा कि 2008 में उत्तर प्रदेश में किसी की मूर्ति लगाने पर रोक लगा दिया गया था. लेकिन हम निजी जमीन पर मूर्ति लगा रहे थे. अगर मूर्ति लगाने में बाधा थी तो हमने सिर्फ माल्यार्पण करने की अनुमति मांगी थी लेकिन उसकी भी अनुमति नहीं दी गयी.

उत्तर प्रदेश में सरकार बनायेंगे
मुकेश सहनी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में निषाद समाज की आबादी 16 प्रतिशत है. इसमें पिछडी जातियों का भी वोट जुड़ेगा. वहां की सरकार को लग रहा है कि ये वोट मुकेशृ सहनी को जा रहा है. इसलिए योगी आदित्यनाथ को डर लगा. मुकेश सहनी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में 2022 में होने वाले चुनाव में उनके कई विधायक जीतेंगे. आने वाले दिनों में उत्तर प्रदेश में वीआईपी पार्टी की सरकार बनेगी.

दरअसल उत्तर प्रदेश में अपना सियासी आधार बढ़ाने की कवायद में लगे मुकेश सहनी को रविवार को योगी सरकार ने करारा झटका दिया था. मुकेश सहनी की निगाहें उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव पर लगी है. उन्होंने उत्तर प्रदेश में फूलन देवी की प्रतिमा स्थापित करने का एलान किया था. रविवार को प्रतिमा का अनावरण करना था. इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए मुकेश सहनी रविवार को वाराणसी पहुंचे तो उन्हें एयरपोर्ट से बाहर निकलने की भी इजाजत यूपी पुलिस ने नहीं दी. मुकेश सहनी को एयरपोर्ट के लाउंज में ही रोक लिया गया और फिर वहीं से वापस भेज दिया गया. उत्तर प्रदेश प्रशासन ने प्रतिमा स्थापित करने की इजाजत नहीं दी. वहां बने चबूतरे को तोड़ दिया औऱ रोड पर लगाये गये बैनर-पोस्टर को फाड़ दिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.