पटना: तेजस्वी का एलान-मानसून सत्र की बैठकों में शामिल नहीं होगा विपक्ष, विधायकों की पिटाई का मामला

0
90

बिहार विधानसभा के मानसून सत्र की आगामी बैठकों में विपक्ष शामिल नहीं होगा. नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने यह बड़ा ऐलान कर दिया है. तेजस्वी यादव ने आज विधानसभा में विधायकों की पिटाई के मसले पर अपनी बात रखते हुए सदन में विशेष चर्चा की मांग रखी थी. लेकिन विधानसभा अध्यक्ष ने इसे अस्वीकार कर दिया.

इसके बाद तेजस्वी यादव ने नाराजगी जताई थी. लंच के पहले और फिर उसके बाद विपक्ष ने विधानसभा में हंगामा भी किया. विधानसभा की कार्यवाही जब लंच के बाद दोबारा शुरू हुई तो विपक्षी विधायक वेल में आ गए और उन्होंने जोरदार हंगामा करते हुए वाक आउट कर दिया.

तेजस्वी यादव ने मानसून सत्र को लेकर बड़ा ऐलान कर दिया है. नेता प्रतिपक्ष ने कहा है कि कल से मानसून सत्र की बैठकों में महागठबंधन के विधायक शामिल नहीं होंगे. बिहार विधानसभा के इतिहास में ऐसा पहली बार होगा. जब पूरे सत्र के लिए विपक्ष ने वाक आउट की घोषणा कर दी हो.

तेजस्वी यादव ने कहा कि उन्होंने आज जो प्रस्ताव सदन में रखा था.  उस प्रस्ताव को अस्वीकार किया गया. हम चाहते हैं कि विधायकों की पिटाई के मसले पर सदन में चर्चा हो चर्चा होने से यह बात भी साफ होगी कि पूरे मामले में किसकी गलती थी लेकिन सरकार बहुत से भाग रही है. 

तेजस्वी ने आरोप लगाया कि विधानसभा के अध्यक्ष सरकार की कठपुतली बन कर रह गए हैं. सरकार के इशारे पर उन्होंने सदन में विधायकों की पिटाई के मुद्दे पर चर्चा नहीं होने दी. तेजस्वी ने कहा कि उस सदन का क्या मतलब, जहां पढ़ाई, कमाई, दवाई और महंगाई जैसे मुद्दों पर चर्चा ना हो.

तेजस्वी यादव ने कहा कि वैसे सदन में जाने का क्या मतलब जिसे कुछ लोग अपनी जागीर समझ कर बैठे हैं. हमने फैसला किया है कि मानसून सत्र की कार्यवाही में आगे महागठबंधन का कोई भी सदस्य शामिल नहीं होगा. तेजस्वी ने कहा कि अगर सदन में चर्चा होती है तो हम जाएंगे या फिर कार्य मंत्रणा समिति की बैठक होगी तो उसमें शामिल होंगे.

हालांकि तेजस्वी ने कहा कि विधानसभा परिसर में विपक्ष के लोग आएंगे. लेकिन सदन की बैठकों में शामिल नहीं होंगे. नेता प्रतिपक्ष ने आरोप लगाया कि सरकार ने अधिकारियों का मन बढ़ा कर रखा हुआ है. 

यह पूछे जाने पर कि क्या विपक्ष के बायकाट से जनता का नुकसान नहीं होगा. तेजस्वी ने कहा कि जब जनता के सवाल ही सदन में नहीं उठ पाएंगे. तो कार्यवाही में शामिल होने से क्या होने वाला है. सदन में लोकतंत्र की हत्या की गई और अब इस मामले पर सरकार चर्चा से भी भाग रही है. तेजस्वी ने कहा कि स्पीकर को सत्ता पक्ष ने हाईजैक कर लिया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.