Patna: 16 करोड़ के इंजेक्शन से बचेगी अयांश की जान, बिहार विधानसभा में उठा मासूम के इलाज का मामला, SMA से पीड़ित है बच्चा

0
140

गंभीर बीमारी से ग्रसित रोहतास के अयांश के मामले को बिहार सरकार देखगी। विधान परिषद के कार्यकारी सभापति ने कहा कि सरकार ने संज्ञान में लिया है। प्रावधान के अनुसार इसके लिए कुछ करने का प्रयास होगा। इस मामले में बीजेपी के परिषद सदस्य संजय प्रकाश ने सरकार के संज्ञान में लाया।

उन्होंने कहा कि अयांश मस्क्युलर अट्रोफी से पीड़ित है। इसके इलाज की सूई 16 करोड़ रुपए की है। आमलोगों के साथ जनप्रतिनिधियों ने भी अपने स्तर से व्यवस्था करने का प्रयास किया है। सरकार को भी इस परिवार की मदद करनी चाहिए उसके बाद सभापति ने यह नियमन दिया कि सरकार ने संज्ञान में लिया है। इस बीज लोजपा नेता कृष्णा सिंह कल्लू ने भी अयांश की मदद की मांग प्रधनमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से की है।

अयांश को बचाने के लिए चाहिए 16 करोड़ का एक इंजेक्शन

दुर्लभ बीमारी से जंग लड़ रहे दस माह के अयांश सिंह को 16 करोड़ के एक इंजेक्शन की जरूरत है। इतनी बड़ी रकम को लेकर अयांश के परिजन का चैन छिन गया है। 16 करोड़ के इंजेक्शन की व्यवस्था करने को लेकर क्राउडफंडिंग का सहारा लेते हुए लोगों से मदद की अपील की है। सीएम व स्वास्थ्य मंत्री से भी मदद की अपील की है। रूपसपुर थाना क्षेत्र के रूकनपुरा निवासी आलोक सिंह और नेहा सिंह के 10 माह के बेटे अयांश सिंह को दुर्लभ बीमारी है। जिसका नाम है स्पाइनल मस्कुलर एट्रॉफी (एसएमए)। इसके इलाज के लिए इंजेक्शन की कीमत 16 करोड़ रुपए है। इस बीमारी में बच्चे के शरीर का अंग धीरे-धीरे काम करना बंद कर देता है। यह बीमारी लाखों में एक बच्चे को होती है।

मेडिकल एक्सपर्ट की मानें तो इस बीमारी के लक्षण के साथ जन्म लेने वाले बच्चे अधिक से अधिक 2 साल तक जीवित रह पाते हैं। फिर भी इसका इलाज ढंग से हो जाए तो बच्चे को एक नया जीवन मिल सकता है। फिलहाल अयांश का इलाज बेंगलुरू के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेंटल हेल्थ एंड न्यूरो साइंसेज की देखरेख में चल रहा है। अभी वह रुकनपुरा में है। यह बच्चा 10 माह का तो हो गया है। बावजूद अभी कुछ नहीं कर पाता है। मां नेहा सिंह ने बताया कि अयांश जब 2 माह का था, तब इस बीमारी के बारे में पता चला। अभी बच्चे के गर्दन का एक हिस्सा काम करना बंद कर चुका है। नेहा सिंह ने बताया कि अयांश के इलाज के लिए परिवार के सभी लोग पैसे के लिए क्राउडफंडिंग का सहारा ले रहे हैं और लोगों से बच्चे के इलाज के लिए यथाशक्ति जो कुछ भी बन पाता है, सहायता राशि देने की अपील की जा रही है। नेहा सिंह ने बताया कि वह साधारण परिवार से आती हैं। ऐसे में वह लोगों से अपील कर रही हैं कि बच्चे के इलाज के लिए आगे आकर लोग मदद करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.