पटना: ललन सिंह ने भरी हुंकार, कहा- सहयोगियों के आस में नहीं बैठेगी जेडीयू, अपने बलबूते पर लड़ेगी

0
193

जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष शुक्रवार को बिहार पहुंचे. बिहार पहुंचने के बाद शनिवार को उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से उनके आवास में मुलाकात की. वहीं, पार्टी के प्रदेश कार्यालय में पार्टी के अन्य नेता, कार्यकर्ता और पत्रकारों से मुखातिब हुए.

जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनते ही ललन सिंह ने अपने मिशन का एलान कर दिया है। पार्टी को राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा दिलाना है। लिहाजा बीजेपी को खुले मंच से अल्टीमेटम दे दिया है। मणिपुर औऱ उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने हैं। बीजेपी जेडीयू के साथ सीट शेयरिंग करे वर्ना नीतीश मॉडल के नाम पर जदयू अकेले चुनाव लड़ने को तैयार है। ललन सिंह ने साफ कर दिया है कि वे पार्टी को चलाने का तरीका भी बदलेंगे। अब आरसीपी के तर्ज पर नहीं बल्कि नये तरीके से पार्टी काम करेगी।

नीतीश का सपना पूरा करना चाहते हैं ललन 

जेडीयू दफ्तर में आज ललन सिंह ने खुले मंच से बीजेपी को अल्टीमेटम दिया. जेडीयू एनडीए का हिस्सा है. इसलिए उत्तर प्रदेश औऱ मणिपुर के चुनाव में जेडीयू के साथ सीट का बंटवारा करे. वर्ना अकेले दम पर चुनाव लड़ने को तैयार है. ललन सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार का सपना है कि जेडीयू राष्ट्रीय पार्टी बने. राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा हासिल करने के लिए किसी पार्टी को देश के कम से कम चार राज्यों में क्षेत्रीय पार्टी की मान्यता हासिल होनी चाहिये. ललन सिंह के मुताबिक जेडीयू को बिहार के साथ साथ अरूणाचल प्रदेश में भी क्षेत्रीय पार्टी का दर्जा हासिल है. दो औऱ राज्यों में इसे हासिल करना है औऱ पार्टी उसमें लग गयी है.

ललन सिंह ने कहा कि देश भर में लोग नीतीश कुमार के मॉडल को सराहते हैं. तभी अरूणाचल प्रदेश में जेडीयू ने सिर्फ 17 सीटों पर चुनाव लडा था औऱ पार्टी के 7 विधायक चुनाव जीत कर आ गये. जेडीयू के अध्यक्ष ने दावा कि दूसरे राज्यों में भी पार्टी को ऐसी ही सफलता मिलेगी. इसके लिए सारी कोशिश की जायेगी.

पार्टी चलाने का तरीका बदलेंगे ललन सिंह

ललन सिंह ने आज ये भी साफ कर दिया कि वे पार्टी को चलाने का तरीका बदलेंगे. अब पार्टी के प्रदेश पदाधिकारियों को जो जिम्मेवारी दी जायेगी उसमें उन्हें अपने तरीके से काम करने की पूरी छूट होगी. प्रदेश या राष्ट्रीय नेतृत्व सिर्फ उनके काम काज की समीक्षा करेगा. उनके काम में हस्तक्षेप नहीं करेगा. पार्टी के पदाधिकारियों को सम्मान औऱ अधिकार दोनों मिलेगा.

हर जिले के कार्यकर्ताओं से मिलेंगे

ललन सिंह ने कहा कि वे खुद जिलावार पार्टी के कार्यकर्ताओं से मिलेंगे. उन कार्यकर्ताओं-नेताओं को खास तौर पर बुलाया जायेगा जो 1994 में समता पार्टी के जमाने से नीतीश कुमार से जुड़े हुए थे लेकिन बाद में किसी कारणवश पार्टी में सक्रिय नहीं रहे. सारे लोगों की बात सुनेंगे और उन्हें पर्याप्त महत्व दिलायेंगे. ललन सिंह ने कहा कि वे कार्यकर्ताओं को भरोसा दिलायेंगे कि पार्टी औऱ सरकार उनकी ही है. 

नंबर वन पार्टी बनेगी जेडीयू

ललन सिंह ने कहा कि वे बिहार में जेडीयू को नंबर वन पार्टी बनायेंगे. लेकिन नंबर वन का मतलब है कि उस रिकार्ड को तोड देना जो 2010 के चुनाव में जेडीयू ने बनाया था. उन्होंने टारगेट रखा कि जब जेडीयू को 2010 के चुनाव से ज्यादा सीटें आयेंगी तभी ये माना जायेगा कि बिहार में जदयू नंबर वन की पार्टी बन गयी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.