Patna: ललन सिंह को पोस्टर से आउट करने वाले अभय कुशवाहा बोले.. ललन बाबू और उपेन्द्र कुशवाहा मेरे नेता नहीं, केवल नीतीश-आरसीपी हैं नेता

0
109

जेडीयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह के स्वागत में पोस्टर लगाकर ललन सिंह को आउट करने वाले अभय कुशवाहा ने अब एक कदम आगे बढ़ते हुए आक्रामक तरीके से अपनी बात रखी है। अभय कुशवाहा ने जेडीयू कार्यालय के बाहर रविवार को पोस्टर लगवाए थे। आरसीपी सिंह के स्वागत वाले इन पोस्टरों में ललन सिंह की तस्वीर नहीं थी, साथ ही साथ जेडीयू संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा को भी पोस्टर में जगह नहीं दी गई थी। पोस्टर को लेकर विवाद शुरू हुआ तो बाद में पार्टी कार्यालय पर लगे इस विवादित पोस्टर को हटा लिया गया लेकिन युवा जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष अभय कुशवाहा अब भी इसे गलत नहीं मान रहे।

अभय कुशवाहा ने कहा है कि जिस पोस्टर को लेकर इतना विवाद खड़ा किया गया हाय तौबा मचाई गई उसमें ऐसा कुछ भी नहीं था। आरसीपी सिंह के स्वागत के लिए पोस्टर लगाई गई थी। हमारे नेता नीतीश कुमार और आरसीपी सिंह की उसमें तस्वीर थी। राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह की तस्वीर भूलवश नहीं लगी। अगर उनकी तस्वीर पोस्टर में नहीं थी तो इसमें हाय तौबा मचाने जैसी कोई बात नहीं थी। अभय कुशवाहा ने कहा कि पिछले दिनों जब राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह पटना आ रहे थे तो पूर्व अध्यक्ष सह केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह और हमारे प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा की तस्वीर पोस्टरों से गायब थी। कुशवाहा ने कहा कि पहले नेतृत्व को उन लोगों से जवाब मांगा चाहिए जिन्होंने आरएसपी सिंह और उमेश कुशवाहा की तस्वीर पोस्टर से हटाई। उपेंद्र कुशवाहा की तस्वीर पोस्टर से गायब रहने की बाबत जब अभय कुशवाहा से पूछा गया तो उन्होंने सीधा एलान कर दिया कि उपेंद्र कुशवाहा उनके नेता नहीं है। कुशवाहा ने कहा कि उनके नेता केवल नीतीश कुमार और आरसीपी सिंह है बाकी लोग पार्टी में पदाधिकारी हैं। पार्टी में पद मिलता और जाता रहता है, इससे कोई नेता नहीं बन जाता।

अभय कुशवाहा ने कहा कि अगर वाकई पोस्टर लगाने को लेकर इतनी गाइडलाइन है तो पार्टी को एक प्रोटोकोल वाला गाइडलाइन जारी करना चाहिए। किसकी तस्वीर पोस्टर में रहेगी या नहीं रहेगी यह पार्टी तय कर दे। अभय कुशवाहा ने कहा कि उनकी नजर में केवल दो ही नेता हैं, नीतीश कुमार और आरसीपी सिंह बाकी लोग अपनी राजनीति चमकाने के लिए चाहे जो कुछ भी करें इससे कोई नेता नहीं बन सकता। अभय कुशवाहा ने कहा कि हम आरसीपी सिंह के स्वागत के लिए जोर-शोर से लगे हुए हैं। आरसीपी सिंह अगर बिहार का दौरा करेंगे तो इसमें कोई हर्ज नहीं है। आरसीपी सिंह अगर पटना में रहेंगे तो यहां भी पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं से मिलेंगे। संगठन में आरसीपी सिंह की ताकत कितनी बड़ी है यह बात सबको मालूम है। अभय कुशवाहा ने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष की तस्वीर नहीं रहने पर वह भूल जाहिर कर चुके हैं लेकिन जिन लोगों ने ललन सिंह के स्वागत में आरसीपी सिंह और उमेश कुशवाहा की तस्वीर नहीं लगाई उस पर पार्टी क्या कहेगी? अभय कुशवाहा ने कहा कि जो लोग पार्टी के बहाने अपनी राजनीति चमकाने में लगे हैं उनका मकसद पूरा नहीं होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.