पटना: पूर्व मंत्री के दामाद के घर पर मिला नोटों का खजाना, गिनते-गिनते थके हाथ तो मंगानी पड़ी मशीन

0
59

बिहार में मकान के अंदर जो मिला उसे देखकर सभी की आंखे फटी की फटी रह गईं। नोटों से भरा बैग और आभूषणों ने चका चौंध कर दिया। रुपये इतने थे कि गिनते-गिनते हाथ थक गए लेकिन रुपये थे कि उनकी गिनती बढ़ती ही जा रही थी। इसके बाद उन्हें गिनने के लिए मशीन तक मंगानी पड़ गई। यह मामला क्षेत्र में काफी चर्चा का विषय बना हुआ है। दरअसल बिहार राज्य पुल निर्माण निगम के कार्यपालक अभियंता रविंद्र कुमार के ठिकाने पर शुक्रवार को निगरानी अन्वेषण ब्यूरो ने छापेमारी की थी। आय से अधिक संपत्ति मामले में पुनाईचक स्थित उनके आवास की तलाशी में करोड़ों की संपत्ति मिली। घर से 1.43 करोड़ नगद के अलावा लाखों के सोने-चांदी के जेवरात भी मिले थे। बैंक खातों में 53 लाख रुपये जमा हैं, जबकि 20 लाख की फिक्स डिपॉजिट (एफडी) के कागजात भी अधिकारियों के हाथ लगे। रविंद्र कुमार बिहार के एक पूर्व मंत्री के रिश्ते में दामाद लगते हैं।

हाजीपुर से एक माह पहले हुआ था तबादला

पुल निर्माण निगम में आने से महीने भर पहले इंजीनियर रविंद्र कुमार वैशाली पथ प्रमंडल, हाजीपुर में कार्यपालक अभियंता के पद पर पदस्थापित थे। पद का दुरुपयोग कर काफी संपत्ति बनाने की बात सामने आने के बाद निगरानी अन्वेषण ब्यूरो ने इनकी जायदाद की जांच शुरू की। इस दौरान आय से 1,47,86,835 रुपये अधिक संपत्ति का मामला सामने आया। निगरानी अन्वेषण ब्यूरो ने इसे आधार बनाते हुए रविंद्र कुमार के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने का मामला 11 अगस्त को दर्ज किया था। 

पुनाईचक में है आलीशान मकान

रविंद्र कुमार का पटना के पुनाईचक स्थित मोहनपुर मोहल्ले में रजिया निवास के नाम से अपना मकान है। शुक्रवार को डीएसपी सर्वेश कुमार सिंह के नेतृत्व में निगरानी अन्वेषण ब्यूरो की टीम ने वहां छापेमारी की। तीन मंजिला मकान की तलाशी शाम तक चली। इस दौरान 1.43 करोड़ रुपये, 1.5 किलोग्राम सोने के आभूषण, 4 किलोग्राम चांदी और 15 बैंक खाते मिले। पति-पत्नी और बच्चों के नाम के बैंक खातों में करीब 53 लाख रुपये जमा हैं। इसके अलावा पति-पत्नी के नाम से 20 लाख के फिक्स डिपॉजिट के कागजात भी हाथ लगे। अब तक की तलाशी में 2.83 करोड़ रुपये से अधिक की चल संपत्ति से संबंधित कागजात बरामद हुए हैं।

जमीन के आठ दस्तावेज मिले

इंजीनियर रविंद्र कुमार और उनकी पत्नी के नाम पर जमीन के आठ दस्तावेज मिले हैं। दस्तावेज के आधार पर जमीन की कीमत 1,23,03,948 रुपये है। हालांकि इसका बाजार मूल्य इससे कहीं ज्यादा होने की संभावना है। निगरानी के मुताबिक वार्षिक संपत्ति विवरणी में रविंद्र कुमार द्वारा कई निवेशों का उल्लेख नहीं किया गया है। अनुसंधान के दौरान और अधिक संपत्ति मिलने की संभावना है।   

सुबह 9.30 बजे शुरू हुई तलाशी

इंजीनियर रविंद्र कुमार के पुनाईचक स्थित आवास की तलाशी निगरानी अन्वेषण ब्यूरो की टीम ने शुक्रवार सुबह 9.30 बजे से शुरू की। तीन मंजिला मकान के एक-एक कमरे को खंगाला गया। इस दौरान जब नगदी और जेवरात मिलने शुरू हुए तो टीम के सदस्य भी हैरत में पड़ गए। तलाशी का काम शाम तक चलता रहा। बरामद कैश और जेवरात की सूची बनाने में ही अधिकारियों को कई घंटे का वक्त लगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.