IND vs ENG Lords Test: स्लेजिंग को लेकर बोले मैन ऑफ द मैच केएल राहुल- हमारा एक टारगेट करो, हम 11 वापस भिड़ेंगे

0
70

विराट कोहली एंड कंपनी ने यह साबित कर दिया है कि वह दुनिया के किसी भी कोने में जाकर जीत दर्ज कर सकते हैं और विरोधी टीम कोई भी हो, यह टीम इंडिया किसी से डरने वाली नहीं है। ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी हों या इंग्लिश खिलाड़ी, विराट की अगुवाई वाली इस टीम को हर लहजे में जवाब देना आता है। लॉर्ड्स टेस्ट में भारत की 151 रनों की शानदार जीत के बाद मैन ऑफ द मैच चुने गए केएल राहुल ने स्लेजिंग को लेकर कहा कि ऐसी छींटाकशी का हम लोगों को फर्क नहीं पड़ता है। भारत और इंग्लैंड के बीच लॉर्ड्स टेस्ट के दौरान कई बार इंग्लैंड और भारत के खिलाड़ी आपस में उलझते नजर आए थे।

मैच के बाद जब राहुल से इस बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा, ‘जब दो टॉप की टीमें भिड़ती हैं, तो आप शानदार स्किल्स के साथ कुछ छींटाकशी की भी उम्मीद करते हैं। हम इस तरह की छींटाकशी पर ज्यादा ध्यान नहीं देते हैं। आप हमारे एक खिलाड़ी को टारगेट करो और हम 11 के 11 वापस उससे भिड़ जाएंगे।’ जेम्स एंडरसन-विराट कोहली, जोस बटलर-जसप्रीत बुमराह मैच के दौरान आपस में कहासुनी करते देखे गए थे। इंग्लैंड की दूसरी पारी के दौरान भारतीय खिलाड़ियों ने भी इंग्लिश खिलाड़ियों को उनकी भाषा में जमकर जवाब दिए। केएल राहुल ने पहली पारी में 129 रनों का योगदान दिया था, जिसके लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया। लॉर्ड्स टेस्ट के दौरान ही फील्डिंग के समय राहुल पर इंग्लिश क्राउड ने शैंपेन की बोतल के ढक्कन फेंके थे।

उस समय भी कप्तान विराट ने राहुल को इशारे से कहा था कि वह ढक्कन वापस उनको फेंक दो। विराट अपने अग्रेसिव खेल के लिए जाने जाते हैं और अब पूरी टीम उसी तरह आक्रामक होकर विरोधी टीम से बिल्कुल भी नहीं दबती है। लॉर्ड्स टेस्ट में भारत टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करने उतरा और 364 रन बनाए। जवाब में इंग्लैंड ने पहली पारी में 391 रन बना डाले। कप्तान जो रूट ने 180 रनों की पारी खेली। पहली पारी में इंग्लैंड को अहम बढ़त मिली। इसके बाद दूसरी पारी में भारत ने 209 रनों तक आठ विकेट गंवा दिए थे, लेकिन इसके बाद जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी ने मिलकर स्कोर 298 रनों तक पहुंचाया। भारत ने आठ विकेट पर 298 रनों पर पारी घोषित कर दी। शमी 56 और बुमराह 34 रन बनाकर नॉटआउट लौटे। इस तरह से भारत ने इंग्लैंड के सामने 272 रनों का टारगेट रखा। इंग्लैंड को आखिरी दिन करीब 60 ओवर खेलने थे, लेकिन पूरी टीम 51.5 ओवर में 120 रनों पर सिमट गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.