तेजप्रताप का नया आरोप: तेजस्वी के सलाहकार ने मेरी हत्या की साजिश रच दी, जबकि नौकरी बचाने के लिए भागे तेजप्रताप के बॉडीगार्ड

0
108

क्या लालू-राबड़ी परिवार के बड़े लाल तेजप्रताप यादव ने राजद को गर्त में मिलाने की ठान ली है. शनिवार की शाम तेजप्रताप यादव के नये बयान से यही सवाल उठ खड़ा हुआ है. तेजप्रताप यादव ने मीडिया से बात करते हुए आरोप लगाया कि तेजस्वी के सलाहकार संजय यादव ने उनके सुरक्षाकर्मियों को भगा दिया है. तेजप्रताप ने कहा कि उनके बॉडीगार्ड फोन बंद कर भाग खड़े हुए हैं, ऐसे में कभी भी उनकी हत्या हो सकती है. तेजप्रताप ने कहा कि उन्हें रात में दिल्ली निकलना था लेकिन उससे पहले बॉडीगार्ड मोबाइल बंद कर भाग खड़े हुए हैं. हालांकि जानकारी ये मिल रही है कि तेजप्रताप यादव के बॉडीगार्ड अपनी नौकरी बचाने के लिए भाग खड़े हुए हैं. 

तेजप्रताप का सनसनीखेज आरोप 

तेजप्रताप यादव शनिवार की रात अचानक से फिर से मीडिया में प्रकट हुए. इस बार उन्होंने नया आरोप लगाया. तेजप्रताप यादव ने कहा कि उन्हें रात में दिल्ली निकलना था, सड़क मार्ग से. दिल्ली में उन्हें अपनी बहनों से राखी बंधवानी थी औऱ पिता से मुलाकात करनी थी. लेकिन उनके तीनो बॉडीगार्ड भाग खड़े हुए हैं. तेजप्रताप ने कहा कि उन्हें तीन बॉडीगार्ड दिये गये हैं. उनकी सुरक्षा में तैनात पुलिस के बडीगार्ड का नाम बलवीर, सुदर्शन औऱ निरंजन है. तीनों ने अपना मोबाइल स्वीच ऑफ कर लिया है और गायब हो गये हैं. जबकि उन तीनों को उनके साथ दिल्ली जाना था.

तेजप्रताप ने कहा कि ये सारा खेल संजय यादव ने किया है. संजय यादव ने उनके बॉडीगार्ड को फोन करके कहा है कि तेजप्रताप यादव के साथ नहीं जाना है. उसके बाद ही तीनों ने अपना मोबाइल स्वीच ऑफ कर लिया है और गायब हो गये हैं. तेजप्रताप ने कहा कि सारा खेल उनकी हत्या कराने के लिए हो रहा है.

अब तेजप्रताप यादव के आरोपों की हकीकत जानिये

तेजप्रताप यादव को विधायक की हैसियत से बिहार पुलिस के तीन हथियार बंद बॉडीगार्ड मिले हैं. वे बिहार में जहां कहीं भी जायेंगे उनके सुरक्षाकर्मी उनके साथ रहेंगे. लेकिन बिहार से बाहर किसी पुलिसकर्मी को जाने के लिए सरकार की मंजूरी लेनी होती है. सरकार की मंजूरी के बगैर कोई पुलिसकर्मी हथियार लेकर बिहार की सीमा से बाहर नहीं जा सकता. तेजप्रताप यादव ने शनिवार की शाम आनन फानन में प्रोग्राम बनाया कि वे सड़क मार्ग से दिल्ली जायेंगे. फिर तीनों बॉडीगार्ड को अपने साथ चलने को कहा. आनन फानन में सरकार से परमिशन मिल पाना किसी हाल में मुमकिन नहीं था. लेकिन तेजप्रताप यादव अपने बॉडीगार्ड पर दबाव बना रहे थे कि उन्हें दिल्ली चलना ही होगा. लिहाजा नौकरी बचाने के लिए पुलिस के जवानों ने अपना मोबाइल स्वीच ऑफ किया औऱ वहां से निकल गये.

तेजप्रताप यादव जब मीडिया से बात कर रहे थे तो उनसे ये भी पूछा गया कि आखिरकार उन्हें कहां से पता चला कि संजय यादव ने उनके बॉडीगार्ड को कॉल किया था. क्या उनके सुरक्षाकर्मियों ने ये बताया है. तेजप्रताप यादव ने कहा कि अपने सुरक्षाकर्मियों से तो उनकी बात ही नहीं हुई है. फिर किसने ये जानकारी दी ये तेजप्रताप यादव बता नहीं पाये. मीडिया ने तेजप्रताप यादव से ये पूछा कि क्या संजय यादव की इतनी हैसियत है कि वे कहेंगे औऱ पुलिस के जवान उनकी सुरक्षा छोड़ कर भाग जायेंगे. तेजप्रताप ने कहा कि संजय यादव को कहां से ताकत मिल रही है ये सब को मालूम है.

तेजस्वी को डैमेज करना चाहते हैं तेजप्रताप

तेजप्रताप यादव के नये ड्रामे से ये तो साफ हो गया है कि वे किसी तरह तेजस्वी को डैमेज करना चाहते हैं. भले ही वे तेजस्वी का नाम नहीं ले रहे हैं लेकिन हर वह काम कर रहे हैं जिससे तेजस्वी औऱ राजद को नुकसान पहुंचे. तेजप्रताप जान रहे हैं कि संजय यादव तेजस्वी के सबसे करीबी है लिहाजा उन्होंने संजय यादव को टारगेट पर लिया है. वैसे इससे पहले वे ये भी कह रहे थे कि उन्हें जगदानंद सिंह से जान का खतरा है. तेजप्रताप ने आज ये भी कहा कि क्या तेजस्वी यादव संजय यादव को अपने भाई के लिए हटा नहीं सकते. संजय यादव तो पीए है. पीए बड़ा है या भाई?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.