नारायण राणे को बड़ी राहत: पहले न्यायिक हिरासत, फिर मिली जमानत, उद्धव ठाकरे पर किया था कमेंट

0
109

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर टिप्पणी को लेकर केंद्रीय मंत्री नारायण राणे को देर रात जमानत मिल गई। उन्हें गिरफ्तार करने के बाद रायगढ़ के महाड में मजिस्ट्रेट कोर्ट में पेश किया गया था। जज ने उन्हें न्यायिक हिरासत में भेजे जाने का आदेश दिया था। इसके बाद राणे के वकीलों ने तुरंत जमानत अर्जी दाखिल कर दी। नारायण राणे के वकीलों ने उनके स्वास्थ्य का हवाला देते हुए जमानत की अपील की थी, जिसे कोर्ट ने स्वीकार कर लिया। कोर्ट ने उन्हें 15000 रुपए के निजी मुचलके पर रिहा कर दिया। वहीं कोर्ट ने उन्हें 31 अगस्त और 13 सितंबर को पूछताछ के लिए पुलिस थाने को पहुंचने कहा है। साथ ही कोर्ट ने उन्हें ताकीद की है कि वह भविष्य में फिर इस तरह का अपराध न दोहराएं। नारायण राणे के वकील संग्राम देसाई ने इस बारे में जानकारी दी।

#UPDATE | Mahad Magistrate Court has granted bail to Union Minister Narayan Rane on furnishing a personal bond of Rs 15,000 in connection with his alleged statement against Maharashtra Chief Minister Uddhav Thackeray pic.twitter.com/OlwbVlQc3Y— ANI (@ANI) August 24, 2021

सुनवाई के दौरान पत्नी और बेटा भी थे मौजूद
दिन में गिरफ्तारी के बाद नारायण राणे को रिमांड के लिए महाड मजिस्ट्रेट कोर्ट में ले जाया गया था। यहां पर मजिस्ट्रेट बाबासाहेब शेख पाटिल की बेंच में राणे की पेशी हुई। मामले की सुनवाई के दौरान नारायण राणे के बेटे विधायक नितेश राणे और नारायण राणे की पत्नी नीलिमा भी कोर्ट में मौजूद थीं। कोर्ट ने पहले उन्हें न्यायिक हिरासत में भेजने का आदेश दिया था। लेकिन नारायण राणे के वकील ने तुरंत जमानत की अर्जी दाखिल कर दी। इसके बाद कोर्ट की ओर से उन्हें जमानत दे दी गई। इससे पूर्व प्रोटोकॉल के अनुसार राज्यसभा सभापति कार्यालय को नारायण राणे की गिरफ्तारी की आधिकारिक सूचना दे दी गई थी।

Maharashtra | While granting bail (to Union Minister Narayan Rane) the court has put certain conditions–He shall be present at the police station for inquiry on Aug 31 & Sept 13 and shall not commit a similar kind of offense in the future: Narayan Rane’s Advocate Sangram Desai pic.twitter.com/oz3A0TOBIF— ANI (@ANI) August 24, 2021

इस बयान को लेकर है विवाद
केंद्रीय मंत्री राणे ने रायगढ़ जिले में सोमवार को जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान कथित तौर पर कहा, ‘यह शर्मनाक है कि मुख्यमंत्री को यह नहीं पता कि आजादी को कितने साल हो गए हैं। भाषण के दौरान वह पीछे मुड़ कर इस बारे में पूछते नजर आए थे। अगर मैं वहां होता तो उन्हें एक जोरदार थप्पड़ मारता।’ राणे ने दावा किया कि 15 अगस्त को जनता को संबोधित करते समय ठाकरे यह भूल गए थे कि आजादी को कितने साल पूरे हो गए हैं। उन्होंने कहा कि भाषण के बीच में वह अपने सहयोगियों से पूछ रहे थे कि स्वतंत्रता दिवस को कितने साल हुए हैं। गौरतलब है कि उनके खिलाफ अलग-अलग थानों में चार एफआईआर हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.