ट्रेन में अंडरवियर पहन घूमने वाले जेडीयू विधायक पर दिल्ली में FIR दर्ज, यात्रियों का आरोप- शराब के नशे में धुत मुंह पर फेंका गंदा पानी

0
86

गोपालपुर के विधायक नरेन्द्र कुमार नीरज उर्फ गोपाल मंडल एक नए विवाद में फंस गए हैं। वह दो सितंबर को राजेन्द्रनगर से नई दिल्ली जानेवाली तेजस राजधानी एक्सप्रेस में अंडरवियर और बनियान में घूमते देखे गए। इस बात को लेकर सहयात्रियों से उनकी झड़प भी हो गई थी। उसी ट्रेन में यात्रा कर रहे प्रह्लाद पासवान, निवासी जगतपुर, थाना हुलासगंज, जिला जहानाबाद ने इस बारे में नई दिल्ली जीआरपी थाना में एफआईआर दर्ज करायी है। दिल्ली जीआरपी ने विधायक के खिलाफ दर्ज किए गए केस को बक्सर (बिहार) ट्रांसफर कर दिया है।

एफआईआर के लिए लिए दिए आवेदन में प्रह्लाद ने कहा है कि वह सीट संख्या 22 पर सफर कर रहे थे। उसी कोच में विधायक गोपाल मंडल अन्य तीन लोग कुणाल सिंह, दिलीप कुमार व विजय मंडल के साथ सफर कर रहे थे। ट्रेन जब बिहिया स्टेशन पार कर रही थी तो विधायक बाथरूम जा रहे थे। वह अंडरवियर और बनियान पहने थे। मैंने कहा इस ट्रेन में महिलाएं भी यात्रा कर रही हैं। कम-से-कम गमछा लपेट लें। इतना सुनते ही वह आग बबूला हो गए। अपने साथियों के साथ ट्रेन में बैठे लोगों के सामने मुझसे गाली-गलौज करने लगे। उन्होंने यह भी आरोप लगाया है कि उनका दो भर सोने की चेन और दोनों हाथ से अंगूठी छीन ली। मुंह पर गंदा पानी डाल दिया। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि विधायक सहित उनके साथ के सभी लोग शराब के नशे में थे। बाद में ट्रेन में चल रहे अन्य यात्रियों ने हस्तक्षेप कर झगड़ा शांत कराया। पुलिस ने इस मामले में अभद्रता और गोल्ड स्नेचिंग का केस दर्ज कर लिया है। सफेद बनियान पहने ट्रेन के डिब्बे में घूमते हुए विधायक की तस्वीरें इंटरनेट पर खूब शेयर की जा रही हैं।

विधायक ने दी सफाई दी, कहा-पेट खराब हो गया था

जदयू विधायक गोपाल मंडल ने इस घटना पर अपनी सफाई देते हुए कहा है तेजस राजधानी ट्रेन में अंत:वस्त्रों में घूमते हुए, यात्रियों के साथ उनकी कहासुनी इसलिये हुई थी, क्योंकि वह पेट खराब होने की वजह से शौचालय जाने की जल्दी में थे। उन्होंने कहा कि वह ट्रेन में चढ़ने के तुरंत बाद शौचालय जाने की जल्दी में थे। आनन-फानन में अपना कुर्ता-पायजामा उतार दिया व तौलिये को कमर में लपेटने की बजाय कंधे पर डाल दिया। विधायक ने कहा कि उन्होंने केवल अंडरवियर पहना था, क्योंकि यात्रा के दौरान पेट खराब हो गया था। तौलिया अपनी कमर पर लपेटने का समय नहीं था। विधायक ने कहा कि एक यात्री ने उन्हें रोका और पूछा कि वह नग्न क्यों घूम रहे हैं। इसपर उन्होंने कहा कि वह शौचालय से बाहर आए हैं। उस व्यक्ति से उनका परिचय पूछने पर कहा कि- मैं जनता हूं। इसपर मैंने उनसे पूछा कि एक विधायक के साथ ऐसा व्यवहार कौन करता है? विधायक ने कहा कि घटना के समय ट्रेन के डिब्बे में कोई महिला नहीं थी। जब पुलिस उनसे बात करने आई तो उन्होंने कहा कि वह इस बात के लिये शर्मिंदा हैं कि उन्होंने यात्री का हाथ पकड़कर उसे धक्का दे दिया। इसके बाद यात्री से माफी भी मांगी।

जेडीयू विधायक के बहाने विपक्ष ने सीएम नीतीश को घेरा

इस मामले को लेकर लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के सांसद चिराग पासवान ने पटना में कहा कि मैं पूरे घटनाक्रम से वाकिफ नहीं हूं, लेकिन मैं इतना जरूर कहना चाहूंगा कि इस प्रकार की घटनाएं बिहार की छवि खराब करने के लिये जिम्मेदार होती हैं। उम्मीद करता हूं कि मुख्यमंत्री, जनप्रतिनिधियों को सार्वजनिक आचार सिखाएंगे। वहीं, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) विधायक व मुख्य प्रवक्ता भाई वीरेन्द्र ने भी पासवान की बात से सहमति जतायी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री  को इस तरह के गलत व्यवहार पर ध्यान देना चाहिये। कई कारणों से राज्य का नाम बदनाम होता रहता है।

पूर्व मध्य रेल के जनसम्पर्क अधिकारी ने बताया कि यात्रियों ने विधायक के व्यवहार के बारे में शिकायत की। आरपीएफ और टीटीई ने दोनों पक्षों को समझा-बुझाकर मामला शांत कराया।

पटना के रेल SP ने कहा कि नई दिल्ली जीआरपी में एफआईआर दर्ज होने के बारे में कोई सूचना प्राप्त नहीं हुई है। लिखित आवेदन या एफआईआर दर्ज होने के संबंध में पत्र प्राप्त होने के बाद आगे की कार्रवाई होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.