Chapra: BJP सांसद की तरफ से दी गई एम्बुलेंस से हो रही थी शराब की डिलीवरी, फिर विवादों में आए राजीव प्रताप रूडी

0
46

बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूडी कोरोना का हाल में अपने कोटे से दिए गए एंबुलेंस को लेकर खूब सुर्खियों में आए थे। दरअसल पूर्व सांसद और जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष पप्पू यादव ने राजीव प्रताप रूडी के एमपी फंड से खरीदी गई एंबुलेंस को लेकर जो खुलासा किया था। इसके बाद रूडी को बचाव में खुद सामने आना पड़ा था। कोरोना की दूसरी लहर के दौरान रूडी के कोटे से चल रही एंबुलेंस पर बालू धोने वाले वीडियो सामने आया था।  लेकिन अब एक बार फिर राजीव प्रताप रूडी के एंबुलेंस को लेकर बड़ी खबर सामने आ रही है।

सारण से बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूडी के एमपी फंड से खरीदी गई एंबुलेंस पर शराब की डिलीवरी की जा रही थी। ताजा मामला छपरा से सामने आया है यहां पुलिस ने एक एंबुलेंस से शराब बरामद की गयी है। जो राजीव प्रताप रूडी के सौजन्य से पंचायत एंबुलेंस सेवा को दी गई थी। पुलिस ने इस एंबुलेंस से 280 लीटर देसी शराब जब्त किया है। शराब जब्त होने के बाद एंबुलेंस के ड्राइवर ने बताया है कि मुखिया की तरफ से एंबुलेंस चलाया जा रहा था। पुलिस अब शराब तस्करी के मामले मुखिया की भूमिका की छानबीन में जुट गई है।

दरअसल यह पूरा मामला भगवान बाजार थाना इलाके का है। पुलिस को सूचना मिली कि एक एंबुलेंस के जरिए शराब एक जगह से दूसरी जगह ले जाई जा रही है। पुलिस ने सांसद के सौजन्य से पंचायत सेवा के लिए दिए गए एंबुलेंस को श्यामचक इलाके में पकड़ा उसकी  तलाशी ली गई तो एंबुलेंस में चादर के नीचे छुपा कर रखी गई देसी शराब बरामद हुई।

पुलिस ने तत्काल एंबुलेंस के ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया है। एंबुलेंस को थाने लाया गया है। ड्राइवर से पूछताछ में मालूम पड़ा है कि सांसद कोटे से दी गई एंबुलेंस से डोरीगंज थाना इलाके के कोटवा रामपट्टी पंचायत के मुखिया जयप्रकाश सिंह की तरफ से संचालित किया जा रहा था। इस खेल में मुखिया के अलावा और कौन-कौन लोग शामिल हैं इसका खुलासा पुलिस आगे कर सकती है। लेकिन फिलहाल बड़ी खबर गया है कि राजीव प्रताप रूडी के कोटे से दी गई एंबुलेंस एक बार फिर बिहार में सुर्खियों के अंदर है।

मामला सामने आने के बाद सारण के सांसद राजीव प्रताप रूडी ने इस मामले में अपनी सफाई दी है। राजीव प्रताप रूडी ने मीडिया को बताया कि इस एम्बुलेंस को छपरा सदर के गरखा विधानसभा स्थित कोटवापट्टी रामपुर पंचायत के लिए 2018-19 में खरीदी गयी थी। 20 अप्रैल 2020 को कोटवापट्टी रामपुर पंचायत को इसे सौंपा गया था।

 दियारा क्षेत्र के 22 हजार आबादी के लिए इस एम्बुलेंस को दिया गया था। इस पंचायत के मुखिया जयप्रकाश सिंह, एम्बुलेंस का ड्राइवर राकेश राय, पंचायत सचिव अरविंद कुमार प्रसाद और इसके संरक्षक प्रखंड चिकित्सा पदाधिकारी हैं जिनकी एक समिति है जो एम्बुलेंस का संचालन करती है। गिरफ्तार एंबुलेंस चालक चकिया गांव निवासी राकेश राय ने पुलिस को बताया है कि नगर थाना क्षेत्र के तेलपा से देसी शराब लोड कर डिलीवरी देने के लिए सिवान जा रहा था। सांसद ने खुद भी इसकी शिकायत डीएम से की है।  

रूडी ने बताया कि उन्हें जानकारी मिली कि इस एम्बुलेंस का दुरुपयोग किया जा रहा था। इस एम्बुलेंस से अवैध कार्य किये जा रहे थे। पुलिस ने कार्रवाई की और इस एम्बुलेंस को पकड़ा। इसके लिए मैं पुलिस की पूरी टीम को बधाई देता हूं। रूडी ने कहा कि इसके लिए पूरी जिम्मेदारी समिति की है। जिस पर कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.