‘बिहार में हर 24 घंटे में 16 बलात्कार’, तेजस्वी ने नीतीश की सरकार को बताया राक्षस राज, कहा… बहन-बेटी सुरक्षित नहीं

0
37

बिहार के वैशाली में 14 साल की मासूम लड़की की हत्या के बाद पूरे राज्य में आक्रोश का माहौल है. प्रिया (काल्पनिक नाम) के साथ बलात्कार कर हत्या की आशंका जाहिर की गई. जिसके बाद बवाल मच गया है. प्रिया को इंसाफ दिलाने के लिए लोग सड़क पर उतरकर प्रदर्शन कर रहे हैं. पीड़िता के घर विपक्षी दलों ने नेताओं के पहुंचने का सिलसिया लगातार जारी है. इसी बीच बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने नीतीश सरकार पर बड़ा निशाना साधते हुए उनके शासनकाल को ‘राक्षस राज’ बता दिया है. बिहार में महिलाओं और लड़कियों के साथ बलात्कार की घटना को लेकर तेजस्वी यादव ने जो आंकड़ा पेश किया है, वो काफी भयावह और डरावना है.

रविवार को सुबह 10 बजाकर 28 मिनट पर बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर बताया कि “बिहार में हर महीने 500 से अधिक बलात्कार हो रहे हैं.” यानी की तेजस्वी के मुताबिक “बिहार में रोज औसतन 16 लड़कियों और महिलाओं के साथ बलात्कार की घटनाएं हो रही हैं.” उन्होंने कहा कि तीसरे नंबर की पार्टी जेडीयू के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में चल रही एनडीए सरकार में नाबालिग बच्चियों, बहनों और महिलाओं के साथ लगातार बर्बर अपराध बढ़ते जा रहे है और सरकार मौन है.”

मुख्य विपक्षी दल के नेता ने आगे कहा कि “बिहार में कोई बहन-बेटी सुरक्षित नहीं है. 16 वर्षीय एनडीए सरकार के डबल इंजनधारी ट्रबलकारी कुकृत्यों के कारण यहाँ राक्षस राज स्थापित हो चुका है. प्रतिदिन एक से एक बढ़कर रुह कंपकपाने वाली जघन्य घटनाएँ सुनने को मिलती है.अपराधियों को सरकार खुलेआम बचाती है.”

तेजस्वी ने कहा कि “नीतीश सरकार बलात्कारियों की संरक्षक है. प्रतिदिन सैकड़ों माताओं-बहनों की अस्मत लूट जाती है लेकिन कहीं कोई कारवाई नहीं. अपराधियों में कहीं कोई खौफ़ नहीं. माननीय गृहमंत्री सह मुख्यमंत्री, बिहार के नेतृत्व में पुलिस शराबबंदी के नाम पर अपनी लूट में मस्त और व्यस्त है.”

गौरतलब हो कि पिछले साल दिसंबर महीने में राष्ट्रीय अपराध अभिलेख ब्यूरो (एनसीआरबी) की तर्ज पर राज्य अपराध अभिलेख ब्यूरो (एससीआरबी) द्वारा तैयार क्राइम इन बिहार-2019 के रिपोर्ट के मुताबिक साल 2019 में सूबे में बलात्कार की 730 घटनाएं सामने आईं. इससे पहले साल 2018 में 651 मामले सामने आए थे.

पिछले साल की अगर बात करें तो बिहार में जनवरी से सितंबर यानि कि सिर्फ 9 महीने में 1106 बलात्कार की घटनाएं हुईं. स्टेट क्राइम रिपोर्ट ब्यूरो (SCRB) के आंकड़ों के मुताबिक बिहार में पिछले साल एक महीने में 122 और हर रोज औसतन 4 लड़कियों और महिलाओं के साथ बलात्कार की घटनाएं हुईं. रिपोर्ट के मुताबिक विगत वर्षों में सूबे के दरभंगा, सुपौल, अररिया, किशनगंज, खगड़िया, पूर्णिया, कटिहार, भागलपुर, शेखपुरा, नवादा, गया, अरवल, जहानाबाद और पटना में बलात्कार से जुड़ी घटनाएं ज्यादा थीं. लेकिन अब तेजस्वी यादव का कहना है कि पूरे बिहार में राक्षस राज है. लिहाजा प्रदेशभर में माताओं, बहनों और बेटियों की इज्जत लूटी जा रही है.

तेजस्वी यादव ने वैशाली के करनौती बही में किशोरी की हत्या के मुद्दे पर नितीश सरकार को कटघरे में खड़ा करने की कोशिश की है. गौरतलब हो कि मंगलवार को ही किशोरी अपने घर से कोचिंग के लिए निकली थी. उसके परिजनों ने अपने स्तर पर खोजबीन के दौरान ही बुधवार को चंवर से शव बरामद किया. घटना की सूचना पर पहुंची महनार थाना की पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल हाजीपुर भेज दिया. 

इस घटना के संबंध में महनार थानाध्यक्ष मनोज कुमार सिंह ने कहा कि सुप्रिया के शव पर नाक के पास खून का निशान पाया गया है. उन्होंने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का खुलासा हो सकेगा. वहीं दूसरी ओर स्थानीय लोगों के अनुसार प्रिया के शरीर पर मारपीट और जख्म के निशान हैं. जिससे किसी अन्य घटना की अनहोनी की आशंका व्यक्त की जा रही है. घटना के बाद से परिवार में मातम है. सुप्रिया दो भाइयों के बीच इकलौती बहन थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.