Ranchi: ग्राउंड लेवल पर RJD को मजबूत करने में जुटे तेजस्वी, 21-22 सितंबर को जिलाध्यक्षों को दी जाएगी स्पेशल ट्रेनिंग

0
58

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव के छोटे बेटे और बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव राष्ट्रीय जनता दल को जमीनी स्तर पर मजबूत करने में जुटे हुए हैं. दो दिवसीय दौरे पर झारखंड गए तेजस्वी यादव ग्राउंड लेवल पर बिहार और झारखंड में आरजेडी को मजबूत करना चाहते हैं. इसके लिए पार्टी के जिला पदाधिकारियों को स्पेशल ट्रेनिंग दी जाने वाली है.

पटना में 21 और 22 सितंबर को राजद के प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जा रहा है. इसकी तैयारी लगभग पूरी कर ली गई है. राष्ट्रीय जनता दल के प्रदेश प्रवक्ता सह प्रशिक्षण शिविर मीडिया कमेटी के चेयरमैन मृत्युंजय तिवारी ने बताया कि प्रशिक्षण शिविर का आयोजन नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के पोलो रोड स्थित सरकारी आवास पर किया गया है. सभी के ठहरने और भोजन की व्यवस्था की गई है. 21 सितंबर मंगलवार को सुबह 9 बजे से रजिस्ट्रेशन का कार्य प्रारंभ हो जाएगा.

आरजेडी के दो दिवसीय प्रशिक्षण शिविर में दक्षिण बिहार के सभी जिला अध्यक्ष, प्रधान महासचिव और प्रखंड अध्यक्ष शामिल होंगे. इसके बाद बिहार के बाकि के अन्य जिलों के जिला अध्यक्ष, प्रधान महासचिव और प्रखंड अध्यक्ष को प्रशिक्षित किया जाएगा. गौरतलब हो कि आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष राजद जगदानंद सिंह ने इसकी घोषणा की थी कि  उत्तर और दक्षिण बिहार के लिए अलग-अलग प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जायेगा.

गौरतलब हो कि पिछले साल बिहार विधानसभा चुनाव में आरजेडी गठबंधन को एनडीए गठबंधन से मात्र 12 हजार वोट कम मिले. जिसके कारण महागठबंधन सत्ता से दूर रहा. अब बिहार में तारापुर और कुसेस्वर स्थान में उप चुनाव होने वाला है, जिसपर तेजस्वी यादव की नजर टिकी हुई है. तेजस्वी चाहते हैं कि चुनाव को लेकर अभी से ही चुनाव प्रचार में जुट जाना है. राजद के वरिष्ठ नेता इन क्षेत्रों का भर्मण कर जनसम्पर्क बढ़ाएं. 

तेजस्वी का मानना है कि पिछले चुनाव में राजद के प्रत्याशी बहुत कम वोटों से हारे थे. इस बार मेहनत करेंगे तो उनकी जीत निश्चित है. इसके लिए आरजेडी के कार्यकर्ता अपने सम्पर्क को बढ़ाएं और बूथ स्तर तक पार्टी को मजबूत करें. ताकि आगे चुनाव में राजद का दबदबा हो और पार्टी सत्ता में आये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.