पटना: जिम ट्रेनर के परिजनों का आरोप, विक्रम को डॉक्टर की पत्नी ने दी थी धमकी, कहा- आकर मार देंगे, ऑडियो वायरल

0
78

बिहार की राजधानी पटना के कदमकुआं में जिम ट्रेनर विक्रम सिंह राजपूत को पांच गोलियां मारे जाने के मामले में पुलिस ने गहन जांच शुरू कर दी है। शक के आधार पर पुलिस ने तीन युवकों को हिरासत में लिया है। तीनों से पूछताछ की जा रही है। रविवार को वारदात से पूर्व जिम ट्रेनर को जान से मारने की धमकी देने का ऑडियो सामने आया।

घायल जिम ट्रेनर की पत्नी व परिजनों का दावा है कि ऑडियो में धमकी देने वाली महिला खुशबू सिंह जो फिजियोथेरेपिस्ट डॉ. राजीव कुमार सिंह की पत्नी है। यदि ऑडियो की वायस रिकॉर्डिंग की एफएसल जांच करा दी जाए तो हकीकत सामने आ जाएगी। जख्मी जिम ट्रेनर की पत्नी वर्षा का आरोप है कि ऑडियो में डॉक्टर की पत्नी मेरे पति को फोन पर भद्दी-भद्दी गालियां दी थीं। यही नहीं मेरे पति को धमकाया जा रहा है कि आकर मार देंगे…। हालांकि, वायरल ऑडियो की पुष्टि लाइव हिन्दुस्तान नहीं करता। 

टाउन एएसपी अमित रंजन का कहना है कि ऑडियो कई माह पुराना है। फिर भी सामने आए ऑडियो व जिम ट्रेनर के मोबाइल की जांच की जा रही है। वहीं ट्रेनर की हालत खतरे से बाहर बताई गई है। वह पीएमसीएच में है।

नौ सेकेंड के ऑडियो में गालियों की बौछार

सामने आया ऑडियो करीब नौ सेकेंड का है। इसमें धमकी देते हुए एक महिला भद्दी-भद्दी गालियां दे रही हैं। जख्मी जिम ट्रेनर की मां को भी अपशब्द कहा गया है। वहीं जिम ट्रेनर विक्रम सिंह कहते हैं कि गली में कैमरा लगा है, सब दिख जायेगा कि कितने बजे रात को आयी है। फिर विक्रम की मां कहती है कि रात में आती थी तू। गाड़ी में हमरे बेटवा को ले जाने…। अब मगरमच्छ का आंसू बहा रही है…।  जिम ट्रेनर की पत्नी वर्षा सिंह का कहना है कि बार-बार मिल रही धमकियों से पूरा परिवार परेशान था। धमकी देने वाली महिला अक्सर पटना मार्केट के द जिम सिटी पहुंच जाया करती थी और विक्रम को बदनाम करने की कोशिश करती थी।

ब्लेड से हुआ था हमला

गोलीकांड से पहले भी विक्रम के ऊपर ब्लेड से तीन माह पहले जानलेवा हमला किया गया था। जिम ट्रेनर के परिजनों के मुताबिक ब्लेड से किए गए हमले में कंधे पर गहरे जख्म हुए थे। 

फुटेज में दिखे तीन हमलावर, तस्वीर साफ नहीं

टाउन एएसपी अमित रंजन ने बताया कि घटनास्थल के आसपास लगे आठ से अधिक सीसी कैमरों के फुटेज की जांच की गई है। एक में तीन हमलावर दिखे हैं। तीनों एक ही बाइक पर थे। बाइक चला रहा आरोपित हेलमेट पहने था लेकिन घटनास्थल से दूरी अधिक होने से हमलावरों की तस्वीर स्पष्ट नहीं दिख रही है। यह जरूर पता चला है कि हमले के बाद आरोपित बाइपास की ओर भाग गये। रविवार को पुलिस टीम ने पीएमसीएच में भर्ती जिम ट्रेनर से गहन पूछताछ की।

डॉक्टर दंपती हैं असली गुनहगार, मिले सजा

गोली से जख्मी जिम ट्रेनर विक्रांत की पत्नी वर्षा का आरोप है कि डॉक्टर दंपती ही मेरे पति पर हुए जानलेवा हमले के असली गुनाहगार हैं। पुलिस दबाव में आकर काम कर रही है। डॉक्टर दंपती के साथ शूटरों को कड़ी सजा मिले तभी हमें और मेरे घायल पति को न्याय मिलेगा।

हमले से मेरा व पत्नी का कोई लेना-देना नहीं

फिजियोथेरेपिस्ट डॉ. राजीव कुमार सिंह का कहना है कि जिम ट्रेनर विक्रांत पर हुए हमले से मेरा और मेरी पत्नी का कोई लेना-देना नहीं है। आरोप बेबुनियाद है। एलबम बनाने के लिए जिम ट्रेनर ने 60 हजार रुपये लिए थे। पैसे वापस नहीं करने पर फोन पर बकझक हुई थी। बाद में जिम ट्रेनर ने 40 हजार मुझे व 20 हजार रुपये मेरी पत्नी के अकाउंट में लौटा दिया था। मई के बाद से जिम ट्रेनर से कोई बात नहीं हुई थी। 

ssp पटना ने कहा कि जिम ट्रेनर के परिजनों द्वारा लगाए गए आरोपों के साथ ही पुलिस कई अन्य बिन्दुओं पर जांच कर रही है। वैज्ञानिक जांच का भी सहारा लिया जा रहा है। जो भी गुनाहगार होगा, वह बच नहीं पाएगा। जांच पूरी होने तक डॉक्टर दंपती को पटना में ही रहने को कहा गया है। पुख्ता साक्ष्य मिलने पर असली दोषियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.