गोपालगंज: पिछले तीन दिनों में ऑक्सीजन लेवल कम होने से 3 मरीजों की मौत, कई औऱ कोरोना संक्रमित पाये गये

0
66

कोरोना के जिस तीसरे लहर की बात कही जा रही थी क्या उसने बिहार में दस्तक दे दी है। गोपालगंज से ऐसे ही संकेत मिल रहे हैं। बिहार के गोपालगंज जिले में पिछले तीन दिनों में कोरोना के तीन संदिग्ध मरीजों की मौत हो गयी है। तीनों का ऑक्सीजन लेवल कम था। वहीं तीन और लोग कोविड संक्रमित पाये गये हैं। जांच में कोरोना संक्रमित मरीजों की पुष्टि होने के बाद जिला प्रशासन उनकी निगरानी कर रहा है। वहीं कोविड को लेकर इलाज की सारी तैयारी होने का भी दावा किया जा रहा है।

क्या आ गयी तीसरी लहर?

गौरतलब है कि एक्सपर्ट पहले से ही ये आशंका जता रहे थे कि कोरोना की तीसरी लहर सितंबर के आखिर में आ सकती है. गोपालगंज में इसके संकेत मिलने लगे हैं. जिले में पिछले तीन दिनों में कोविड के तीन संदिग्ध मरीजों की मौत हो गयी है. तीनों का ऑक्सीजन लेवल कम था. मौत के बाद लोग दहशत में हैं.

स्थानीय लोग बता रहे हैं कि जिले में पिछले तीन दिनों में तीन ऐसे लोगों की मौत हुई है जिन्हें कोरोना के लक्षण थे. मंगलवार को हथुआ के एक मरीज को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जिसका ऑक्सीजन लेवल काफी कम था. इलाज के दौरान ही उसकी मौत हो गयी. एक दिन पहले दो और लोगों की मौत हुई थी. 

सदर अस्पताल में गोपालगंज के माझागढ़ औऱ सदर ब्लॉक के रहने वाले दो लोगों को भर्ती कराया गया था. दोनों मरीजों का ऑक्सीजन लेवल काफी कम था. इलाज के एक दौरान एक महिला की मौत गोपालगंज सदर अस्पताल में ही हो गयी. वहीं, दूसरे मरीज की स्थिति बिगड़ते देख उसे पडोसी राज्य उत्तर प्रदेश के गोरखपुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में रेफर कर दिया गया था. गोरखपुर ले जाते वक्त ही रास्ते में मरीज की मौत हो गयी.

कोरोना के तीन मरीज मिले

उधर कोविड की जांच के दौरान जिले में तीन मरीजों की पहचान हुई है. उनकी हालत गंभीर नहीं होने के कारण होम आइसोलेशन में रहने को कहा गया है. स्वास्थ्य विभाग की टीम उनकी मॉनिटरिंग कर रही है. उधर जिलाधिकारी नवल किशोर चौधरी ने कहा है कि जिले में कोविड के इलाज के लिए तमाम इंतजाम कर लिये गये हैं. डीएम ने लोगों से सावधानी बरतने को कहा है. उन्होंने कहा है कि कोविड से बचाव के लिए जो भी सलाह दी जा रही है लोग उसका पालन जरूर करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.